Friday, December 4, 2020

​पाकिस्तान में सेना के खिलाफ सिंध पुलिस का विद्रोह

Must read

IPS अफसर पर बम से हमला, छापेमारी टीम पर अपराधियों ने की बमबाजी, कई पुलिसकर्मी जख्मी

वक्त एक बड़ी खबर भागलपुर जिले से सामने आ रही है, जहां आईपीएस अफसर और अन्य पुलिसकर्मियों के ऊपर बम से जानलेवा हमला किया...

किसान आंदोलन: सिंघु बॉर्डर बवाल पर दिल्ली पुलिस ने दंगा समेत कई धाराओं में किया केस दर्ज

नई दिल्ली : कृषि कानूनों (Farm Bill) के खिलाफ आंदोलन कर रहे किसान 5वें दिन भी सिंघु बॉर्डर (Singhu Border) पर जमे हुए है।...

CM नीतीश पर अमर्यादित टिप्पणी से नाराज JDU कार्यकर्ताओं ने तेजस्वी का पूतला फूंका

मुज़फ़्फ़रपुर ; विधानसभा में  नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव द्वारा मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के ऊपर अभद्र टिप्पणी करने को लेकर पूरे बिहार में जगह जगह...

UP MLC Election : मतगणना जारी, देर शाम तक आ सकते हैं नतीजे…

झांसी : इलाहाबाद-झांसी खंड स्नातक चुनाव के लिए गुरुवार की सुबह 8 बजे से मतगणना जारी है। कड़ी सुरक्षा के बीच बुन्देलखण्ड महाविद्यालय के...

नई दिल्ली। कराची में मंगलवार की देर शाम सिंध पुलिस ने पाकिस्तानी सेना और आईएसआई के खिलाफ विद्रोह कर दिया। पाकिस्तानी ​​सेना की फायरिंग में सिंध पुलिस के 10 पुलिस अधिकारी मारे गए। पाकिस्तान सेना और सिंध पुलिस के बीच क्रॉस फायरिंग में बड़ी संख्या में पाकिस्तान सेना के जवानों की भी मौत होने की खबर है। सेना के सिंध पुलिस पर गोलियां चलाने के बाद कराची में उग्र भीड़ ने ​​पाकिस्तान सेना प्रमुख के भाई ​के शॉपिंग मॉल में आग लगा दी और लूटपाट की। पाक सेना ने पाक मीडिया पर नियंत्रण कर लिया है​​। पाकिस्तान सेना की समीक्षा के बिना कोई भी खबर प्रसारित नहीं की जा सकती।​ पाकिस्तानी रेंजर्स को पूरे सिंध में हाई अलर्ट कर दिया गया है​। ​

​पाकिस्तान में एक महत्वपूर्ण घटनाक्रम में सिंध पुलिस ने बगावत कर दी है। कराची की ​सड़कों ​पर आर्मी और सिंध पुलिस ​में गोलाबारी चल रही है। कराची प्रदर्शन में उपजे हालात के बाद सुरक्षा बलों को बांट दिया ​गया ​है। आर्मी रेंजर्स सिंध पुलिस के अफस​रों को अरेस्ट करना चाहते थे​​। ​इसी वजह से आधी रात तक ​भारी बवाल मचा हुआ है​​। ​पाकिस्तानी ​​सेना की फायरिंग में सिंध पुलिस के 10 पुलिस अधिकारी मारे गए हैं। पाक सेना और सिंध पुलिस के बीच क्रॉस फायरिंग में बड़ी संख्या में पाक सेना के जवानों की भी मौत होने की खबर है।

​​दरअसल यह मामला तब भड़का जब विपक्षी पाकिस्तान मुस्लिम लीग (नवाज) की उपाध्यक्ष और पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की पुत्री मरियम नवाज़ ने रविवार को कराची में सरकार के खिलाफ एक बड़ी रैली को संबोधित किया था। ​16 अक्टूबर को हुई इस रैली में मरि​यम ने सार्वजनिक रूप से प्रधानमंत्री इमरान खान को कायर, मनोनीत और कठपुतली कहा था। इस रैली का आयोजन पाकिस्तान डेमोक्रेटिक मूवमेंट की ओर से किया गया था। ​​

उन्होंने सोमवार को आरोप लगाया कि रविवार की ​रात में ​कराची में उनके होटल के कमरे का दरवाजा तोड़कर उनके पति कैप्टन (सेवानिवृत्त) मुहम्मद सफदर को गिरफ्तार करके मंगलवार को जेल भेज दिया​ गया​​​।​ ​पाकिस्तान सरकार विरोधी रैली करने पर पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज की उपाध्यक्ष मरियम नवाज और पार्टी के दो हजार से अधिक कार्यकर्ताओं के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। ​​इसी के विरोध में मंगलवार की देर शाम आम जनता भी सड़क पर उतर आई और कई जगह आगजनी और तोड़फोड़ की​। ​हालांकि इस बीच पाकिस्तानी सेना की मीडिया विंग इंटर-सर्विसेज पब्लिक रिलेशंस (आईएसपीआर) ने बयान जारी किया है कि पाकिस्तानी सेना प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा ने आनन-फानन में नवाज शरीफ के दामाद कैप्टन सफदर की गिरफ्तारी की जांच के आदेश दे दिए हैं।

​होटल में ​18/19 अक्टूबर की रात को हुई घटना ने सिंध पुलिस के सभी रैंकों के भीतर भारी नाराज़गी और आक्रोश पैदा कर दिया। नतीजतन आईजी सिंध ने छुट्टी पर जाने का फैसला किया और बाद में सभी रैंकों ने फैसला किया कि वे सिंध पुलिस के साथ हुए अपमान के विरोध में छुट्टी के लिए आवेदन करेंगे। सिंध पुलिस के आक्रोश को दबाने के लिए सेना प्रमुख जनरल जावेद बाजवा ने तुरंत मामले की जांच के आदेश दिए। इसके बावजूद सभी पुलिस अधिकारी और कर्मचारी छुट्टी पर चले गए।​ सिंध ​पुलिस ​के शीर्ष अधिकारियों ​और पुलिस कर्मियों के छुट्टी ​पर जाने के बाद कराची ​में अराजकता की स्थिति पैदा हो गई और कई आभूषण दुकानों से चोरी ​होने और विभिन्न बैंकों में आम नागरिकों की भीड़ बढ़ने के बारे में भी खबरें​ हैं​।​

​इस पर ​पाकिस्तान सेना के प्रमुख बाजवा ने ​​आईजी सिंध​ ​को फोन करके ​​छुट्टियों को रद्द करने का दबाव बनाते हुए विरोध प्रदर्शन बंद करवाने की धमकी देकर कहा कि सभी अधिकारियों को वापस ड्यूटी पर आने के लिए कहें। इस बीच सिंध पुलिस का समर्थन करने और पुलिस के नेतृत्व के साथ एकजुटता दिखाने के लिए पीपीपी के अध्यक्ष बिलावल भुट्टो जरदारी और सिंध के मुख्यमंत्री आईजी हाउस पहुंचे। इसके बाद आईजी सिंध ने अपनी खुद की छुट्टी टालने का फैसला किया है और अपने अधिकारियों को जांच पूरी होने तक राष्ट्रीय हित में दस दिनों के लिए अपनी छुट्टी के आवेदन लंबित रखने का आदेश दिया है।

- Advertisement -

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest article

महाराष्ट्र : बीजेपी को घर में मिली मात

महाराष्ट्र में बीजेपी को बड़ी हार मिली है। महाराष्ट्र में विधान परिषद चुनावों में बीजेपी को यह हार महा विकास आघाडी ने दी है।...

मोदी के बनारस पर अखिलेश की नज़र

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की संसदीय क्षेत्र वाराणसी पर समाजवादी पार्टी पार्टी की अक्सर नजर बनी रहती है। चलिए आपको लेकर चलते हैं 2014 के...

MLC Election update : 11 सीटों में से 6 सीटों पर आया परिणाम, राज्य चुनाव आयोग ने जारी किया रिजल्ट

उत्तर प्रदेश विधान परिषद की 11 सीट पर मतगणना अपडेट, 6 सीटों पर आया परिणाम, राज्य चुनाव आयोग ने जारी किया रिजल्ट.    

11 विधान परिषद की सीटों पर 199 प्रत्‍याशियों ने आजमाया अपना भाग्य

खंड स्नातक (Graduate Constituency) की 5 और खंड शिक्षक (Teachers Constituency) निर्वाचन क्षेत्र की 6 सीटों के लिए मतगणना जारी है। (1. )Gorakhpur शिक्षक स्नातक...

काले चावल की खेती से किसानों को होगा बड़ा फायदा, जानिए काले चावल के फ़ायदे

भारत एक ऐसा देश है जहां पर चावल की खेती बड़ी मात्रा में की जाती है। इसी के साथ भारत चावलों का निर्यात सबसे...