मथुरा घूमने जा रहे हैं! प्यास लगी है!! रुकिए, पहले इसे पढ़िए!!!

0
94

देश में पानी की कमी अब एक बहुत बड़ा मुद्दा बनता जा रहा है | चेन्नई में पानी की कमी से हालत खराब हो रहे हैं | पीएम मोदी भी लगातार पानी का मुद्दा उठा रहे हैं ऐसे में मथुरा में पानी होने के बावजूद भी प्रशासन की गलती से लोगो ने मजबूरन दूषित पानी पी लिया और बीमार हो गए | गोवर्धन थाना इलाके के आन्यौर गांव में 3 दिन में दूषित पानी पीने से लोगों के बीमार होने का आंकड़ा करीब 458 पर पहुंच चुका है | इलाके में पानी की कमी के कारण लोग दूषित पानी पीने को मजबूर हैं | 458 बीमार लोगो में से 17 लोगों की हालत गंभीर बताई जा रही है छह लोगों का गांव में ही लगे कैंप में इलाज किया जा रहा है | तो 11 लोगों का सीएससी गोवर्धन में इलाज जारी है |

गांव में पानी की टंकी की पुरानी लाइन, नालियों में लीक हो रही थी जिससे नालियों में से पाइप लाइन में गंदा पानी आ रहा था और जिसे ग्रामीण पीने के इस्तेमाल में ले रहे थे | 3 दिनों से लगातार ग्रामीणों के पेट में दर्द उल्टी और सर दर्द की शिकायत लेकर डॉक्टरों के पास जा रहे थे | जब अचानक गांव में अधिकतर लोगों को यही समस्या हुई तो स्वास्थ्य विभाग को जानकारी दी लेकिन 1 दिन तक तो स्वास्थ्य विभाग पूरे मामले को टालता रहा | लेकिन जब देखा के बीमार होने वाले व्यक्तियों का आंकड़ा बढ़ता जा रहा है तो स्वास्थ्य विभाग की टीम गांव पहुंची और बीमार लोगों की जांच में जुट गई | बताया जा रहा है अब तक स्वास्थ्य विभाग की टीम 458 लोगों का परीक्षण कर चुकी है जिनको उल्टी दस्त और पेट में दर्द सिर में दर्द की शिकायत थी जिसमें से 11 लोगों की हालत गंभीर थी जिन्हें स्थानीय स्तर और सीएससी पर इलाज उपलब्ध कराया जा रहा है |

लेकिन सबसे बड़ा सवाल यह है कि इतनी पुरानी पाइप लाइन हो गई लेकिन किसी को उसकी स्थिति के बारे में कोई अनुमान नहीं था | बताया जा रहा है कि कई जगह पानी की लाइन नाली से होकर गुजर रही थी और जो कई जगह से लीक हो रही थी जिसे पॉलीथिन के द्वारा बांध दिया गया …लेकिन नाली का पानी मिक्स होने से इस तरह की घटना सामने आई |

स्वास्थ्य विभाग और प्रशासन हरकत में आया हीं पूरे मामले को गंभीरता से लेते हुए लोगों के उपचार में जुट गया ..

घटना की जानकारी होते ही ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने स्वास्थ्य विभाग सहित संबंधित अधिकारियों को लोगों के बेहतर इलाज के दिशा निर्देश दिए.. और जो पानी की लाइन थी उसे सील करा दिया | गांव में टैंकरों से पानी भिजवाने के दिशा निर्देश दिए गए |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here