Saturday, April 17, 2021

पलानीस्वामी ने की किसानों के लिए ये बड़ी घोषणा, जानिए क्या?

Must read

राजस्थान में वीकेंड कर्फ्यू का ऐलान, शुक्रवार शाम 6 से सोमवार सुबह 5 बजे तक सब बंद

जयपुर. राजस्थान में कोरोना की दूसरी लहर के कहर को देखते हुए गहलोत सरकार  लगातार कड़े फैसले ले रही है. कोरोना के बढ़ते मामलों...

एमडीएस विश्वविद्यालय में परीक्षाओं के आवेदन की प्रक्रिया शुरु करने की तैयारी

अजमेर,  राजस्थान में अजमेर के महर्षि दयानंद सरस्वती विश्वविद्यालय कोरोना संक्रमण के बढ़ते कहर के बीच महाविद्यालयों की परीक्षाओं के लिए आवेदन की प्रक्रिया...

कुलदीप सेंगर की बीवी का टिकट काट BJP ने पूर्व MLC की पत्नी का करवाया नामांकन

उन्नाव. उत्तर प्रदेश के उन्नाव में त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव (Panchayat Election) में नामांकन (Nomination) प्रक्रिया गुरुवार को समाप्त हो गई. बता दें कि यहां उन्नाव...

सहारनपुर में पूर्व विधायक समेत 157 कोरोना पॉजिटिव

सहारनपुर  उत्तर प्रदेश के सहारनपुर में आज भारतीय जनता पार्टी के नेता व पूर्व विधायक राजीव गुम्बर सहित 157 कोराना पॉजिटिव हो गये है। मुख्य...

सेलम,  तमिलनाडु के मुख्यमंत्री ई. के. पलानीस्वामी ने आगामी विधानसभा चुनावों के मद्देनजर अपनी घोषणाओं का सिलसिला जारी रखते हुए शुक्रवार को किसानों को एक अप्रैल से कृषि पंपसेट के लिए 24 घंटे तीन चरणों में मुफ्त घोषित बिजली उपलब्ध कराने की घोषणा की।

पलानीस्वामी ने यहां 565 करोड़ रुपये की लागत वाली मेट्टूर सरप्लस जल योजना का उद्घाटन करने के बाद कहा कि किसानों के लिए तीन चरण बिजली की आपूर्ति बहुत महत्वपूर्ण है और घोषणा की कि एक अप्रैल से किसानों को 24 घंटे मुफ्त बिजली की आपूर्ति होगी। उन्होंने कहा कि अन्नाद्रमुक सरकार किसानों की जरूरतें पूरी करने के लिए प्रतिबद्ध है और उनके लिए विभिन्न कल्याणकारी योजनाएं शुरू की गयी हैं।

ये भी पढ़ें-बस्ती मे अनुपस्थित पाये गये कर्मचारी, तो मिलेगी ये सजा

उन्होंने कहा कि अन्ना द्रमुक सरकार ने कावेरी विवाद को निपटाकर इतिहास रचा है और उनकी सरकार ने ही डेल्टा क्षेत्र को संरक्षित कृषि क्षेत्र घोषित किया है। अन्ना द्रमुक सरकार ने अपने पांच साल के कार्यकाल के दौरान दो बार कृषि ऋण माफ किया।

पलानीस्वामी ने याद दिलाया कि पूर्व मुख्यमंत्री जे. जयललिता ने 2016 के चुनाव घोषणा पत्र के दौरान कृषि ऋणों को माफ करने का वादा किया था और उनके पद ग्रहण करने के तुरंत बाद ऋण माफी योजना लागू कर दी गयी। उन्हाेंने कहा कि किसानों की ओर से ऋण माफी के अनुरोधों को देखते हुए सहकारी बैंकों का 12,110 करोड़ रुपये का फसली ऋण माफ कर दिया गया जिससे लगभग 16.44 लाख किसान लाभान्वित हुए हैं।

- Advertisement -

More articles

Latest article

आईपीएल टी-20 क्रिकेट मैच पर सट्टा लगाते तीन गिरफ्तार

सिरसा,  हरियाणा की सिरसा सीआईए पुलिस ने राजस्थान रॉयल्स और दिल्ली कैपिटल के बीच आईपीएल टी-20 क्रिकेट मैच पर सट्टा लगाने के आरोप में...

नायडू ने के. सुब्बा राव के निधन पर शोक व्यक्त किया

नयी दिल्ली  उपराष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू ने प्रसिद्ध रेडियोलॉजिस्ट डॉ. के. सुब्बा राव के निधन पर गहरा दुख व्यक्त किया है। नायडू ने शुक्रवार को...

UP में कहर अब 24 घंटे में 27,426 कोरोना के नए मामले, 103 की मौत

लखनऊ. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में एक बार फिर कोरोना अपने पैर पसार रहा है. हालात अब बद से बदतर होते दिख रहे हैं. मरीजों...

तृणमूल नेता भूइंया, मित्रा को ईडी ने किया समन

कोलकाता,  पश्चिम बंगाल में अलग-अलग चिट फंड घोटालों के मनी ट्रेल्स की जांच कर रहे प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस नेता मानस...

जानिए कैसी है इस वक्त अखिलेश यादव की तबीयत।

  सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव अभी हाल ही में कोरोना संक्रमित हुए हैं, इस वक्त अखिलेश यादव होम आइसोलेशन में है और डॉक्टरों की सलाह...