Tuesday, December 1, 2020

कुर्सी, कंप्यूटर और क्या क्या नही चुरा ले गए इस बड़े प्रदेश के पूर्व विधानसभा अध्यक्ष

Must read

Uttar Pradesh : भ्रष्टाचार पर योगी सरकार ने चलाया दोहरा प्रहार, तैनात किए दो हाईटेक चौकीदार

PWD टेंडरों के आवंटन में भ्रष्‍टाचार रोकेगा योगी का प्रहरी प्रहरी साफ्टवेयर के जरिये तय होगी टेंडर आवंटन की पूरी प्रक्रिया कृषि भूमि...

किसान क्यों चाहते हैं MSP पर लिखित गारंटी? जानिए क्या है विरोध का बड़ा कारण…

नई दिल्ली : केंद्र सरकार द्वारा लाए गए तीन नए कृषि कानूनों (Farm Bill) के खिलाफ किसानों का आंदोलन (Farmer Protest) आज छठे दिन...

जनता को अपने नजदीकी Covid test सेन्टर की जानकारी देने को ऐप करें विकसित : CM योगी

लखनऊ : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ  ने कहा है कि कोरोना से बचाव और नियंत्रण के लिए निरंतर सतर्कता और सावधानी बरतना आवश्यक है। उन्होंने...

बिहार: दूल्हा-दुल्हन की कार रोक अपराधियों ने कि लूट, शादी में मिले सामान और आभूषण लेकर भागे अपराधी

शादी के बाद विदाई हुई और दूल्हा-दुल्हन के साथ-साथ सभी बाराती बस से जा रहे थे, लेकिन इस बीच 20-25 की संख्या में आए...

सभी नेताओं का सत्ता की कुर्सी को लेकर प्यार होना लाजमी है | लेकिन अगर कोई उस सरकारी कुर्सी को अपने घर ही ले जाए तो आप क्या कहेंगे | आंध्र प्रदेश में हाल में पूर्व विधानसभा अध्यक्ष के घर से चोरों ने कंप्यूटर और कई सामान चोरी किए बाद में जब चोरों को लगा कि वह पकड़े जाएंगे तो उन्होंने कंप्यूटर को सड़क के किनारे फेंक दिया | सीसीटीवी में कैद हुई इस घटना के बाद चोरों को पकड़ लिया गया | मामले की जांच की गई तो पता चला कि चोरी के सामान के साथ ही पूर्व स्पीकर ने विधानसभा से टेबल, डिजाइनर कुर्सियां, सोफे, एसी और कुछ कंप्यूटर तक अपने घर पर रख लिए |

इस मामले का खुलासा होने के बाद वाईएसआर कांग्रेस ने राव पर सरकारी संपत्ति चुराने का आरोप लगाया है | बताया जाता है कि चोरों ने पूर्व स्पीकर के सत्तनापल्ली के निजी कार्यालय से दो सरकारी कंप्यूटर चुरा लिए थे | सत्तनापल्ली टाउन पुलिस स्टेशन के इंस्पेक्टर सरथ बाबू के अनुसार चोरी की सूचना के बाद जब हमने जांच शुरू की तो ऑफिस में काम करने वाला पूर्व कर्मचारी राव के घर के पास कंप्यूटर फेंकता हुआ दिखाई दिया, बाद में उसने आत्मसमर्पण कर दिया |

मामला सामने आने के बाद राव ने दावा किया कि उन्होंने फर्नीचर, इलेक्ट्रॉनिक गैजेट्स को चोरी होने से बचाने के लिए अपने कार्यालय में रख लिया था | उन्होंने कहा कि आंध्र प्रदेश और तेलंगाना जब अगल हुए तब कार्यालय हैदाराबाद से अमरावती में स्थानांतरित किया गया था | उस समय सामान को टूटने से बचाने के लिए मैंने मेज, कुर्सी, एसी और कई कंप्यूटर अपने कार्यालय में रखवा दिए थे, जिससे उन्हें चोरी होने से बचाया जा सके |

- Advertisement -

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest article

उत्तर प्रदेश में 43 आईपीएस अधिकारियों के हुए तबादले, 2015 बैच पर मेहरबान हुए योगी 

उत्तर प्रदेश में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने फिर से कानून व्यवस्था को चुस्त-दुरुस्त करने के लिए अपने कई बड़े अधिकारियों का फेरबदल किया है।...

किसान क्यों चाहते हैं MSP पर लिखित गारंटी? जानिए क्या है विरोध का बड़ा कारण…

नई दिल्ली : केंद्र सरकार द्वारा लाए गए तीन नए कृषि कानूनों (Farm Bill) के खिलाफ किसानों का आंदोलन (Farmer Protest) आज छठे दिन...

NDA के CM कैंडिडेट ‘नीतीश’ को जेल भेजने की बात करने वाली लोजपा NDA का ‘नमक’,मोदी कैबिनेट में जगह मिलने की उम्मीद पाले बैठे...

ये राजनीति है यहाँ सब जायज है नरेंद्र मोदी के चिराग मुरीद है कारण शायद बीजेपी पर कोई रहम आ जाये और मंत्री मंडल...

सुप्रीम कोर्ट कि सुनवाई में पेश हुआ “शर्टलेस व्यक्ति” कोर्ट ने सुनाई खरी-खरी…

सुप्रीम कोर्ट में एक मामले की सुनवाई के दौरान जज के सामने एक शख्स बिना शर्ट पहने आ गया। इस पर अदालत ने उस...

सीना चीर लूंगा तो अखिलेश जी की मूर्ति निकलेगी- नए नवेले कार्यकर्ता

समाजवादी पार्टी में इस वक्त कई सारे नए नवेले कार्यकर्ता आ रहे हैं यह कार्यकर्ता दूसरी पार्टियों से अब समाजवादी पार्टी की तरफ रुख...