Monday, January 18, 2021

रियो वर्ल्ड कप में गोल्ड जीतने वाली यशस्विनी ने अपनी तैयारियों को लेकर यूँ चौंकाया

Must read

SC ने जताई निराशा, किसानों की बातचीत पर नहीं कोई समाधान !

कृषि कानून के खिलाफ लगभग हो रहे डेढ़ महीने से प्रदर्शन पर अब सुप्रीम कोर्ट ने भी निराशा जाहिर कर दी है। केंद्र सरकार...

पूरा उत्तर भारत घने कोहरे की चादर में लिपटा ,शीतलहर का प्रकोप जारी

चंडीगढ, पश्चिमोत्तर क्षेत्र में बर्फीली हवाओं और घने काेहरे का कहर जारी रहने से आम जनजीवन बुरी तरह प्रभावित रहा तथा सड़क ,रेल और...

Birthday Special : 76 के हुए जावेद अख्तर, ताश खेलने वाली पहली पत्नी से की शादी

17 जनवरी को जावेद अख्तर 76 वर्ष के हो गएl स्क्रिप्ट राइटर और गीतकार जावेद अख्तर से जुड़े कुछ दिलचस्प तथ्य हम आपके लिए...

जानिये Supreme court ने क्यों लगाई कृषि कानून लागू होने पर रोक

नई  दिल्ली, Supreme court ने मंगलवार को कहा कि, कोई ताकत उसे नए कृषि कानूनों पर जारी गतिरोध को समाप्त करने के लिए समिति का...

हाल ही में ब्राज़ील के रियो वर्ल्डकप में स्वर्ण पदक(Gold Medal) जीतने वाली निशानेबाज़ यशस्विनी सिंह देसवाल(Yashaswini Singh Deswal) ने आने वाले समय में अपनी कुछ चीज़ो में सुधार की बात कही है। उन्होंने माना कि उन्हें अगले साल ओलिंपिक खेलों में सफलता हासिल करने के लिए अपनी कुछ कमियों को ठीक करना होगा। उन्होंने रियो वर्ल्डकप में महिलाओं की 10 मीटर एयर पिस्टल में गोल्ड मेडल जीतकर भारत को नौंवा ओलिंपिक कोटा दिलाया है।

यशस्विनी ने आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान कहा, ‘मेडल जीतकर और कोटा हासिल करके काफी खुश हूं। मेरी कड़ी मेहतन का अंत में नतीजा मिला। मेरे लिए यह पदक आश्वस्त करता है कि मैं सही दिशा में आगे बढ़ रही हूं। यह मेडल मुझे सही समय पर मिला, मुझे इसकी जरूरत थी।’ उन्होंने कहा, ‘मेडल जीतने के बाद अब मेरी असली यात्रा शुरू हो गई है और यह ओलिंपिक कोटा जीतने जितनी ही अहम होगी। प्रतिस्पर्धा कैसी भी हो, हर शॉट महत्वपूर्ण है और मुझे सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करना होगा।’ इसके आगे उन्होंने कहा कि, ‘तकनीकी रूप से मुझे कोई बड़ा सांमजस्य नहीं बिठाना होगा लेकिन मुझे हर टूर्नामेंट में अपनी शाट टाइमिंग सुधारनी होगी।’

रियो में गोल्ड जीतने वाली दूसरी भारतीय महिला

बता दें कि 22 वर्षीय यशस्विनी सिंह देसवाल ने रियो वर्ल्डकप में स्वर्ण पदक जीत कर अगले साल टोक्यो में होने वाले ओलिंपिक(Olympic 2020 Tokyo) में नौंवा कोटा अपने नाम कर लिया है। पूर्व जूनियर वर्ल्ड चैंपियन ने सत्र के चौथे आईएसएसएफ(ISSF) वर्ल्ड कप के फाइनल में 236.7 अंक जुटाये और शीर्ष निशानेबाज ओलिना कोस्टेविच को पछाड़ दिया। यशस्विनी रियो डी जेनेरियो(Rio de Janeiro) में गोल्ड मेडल जीतने वाली दूसरी भारतीय महिला निशानेबाज थी। इससे पहले इलावेनिल वालारिवान, अपूर्वी और अंजलि भागवत भी ये कारनामा कर चुकी हैं।

- Advertisement -

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest article

अखिलेश यादव ने कहाँ, भाजपा राज में लूट की अनन्त कथायें

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव ने कहा है कि भाजपा षडयंत्रकारी जातिवादी पार्टी है। उसका काम नफरत फैलाना...

मुजफ्फरनगर का सरकारी अस्पताल बन गया शराबियों का अड्डा

उत्तर प्रदेश के सरकारी अस्पताल पर पिछले दिनों एक विवादित बयान आम आदमी पार्टी के विधायक सोमनाथ भारती का आया था। जिसके बाद से सियासी...

Britain के PM बोरिस जॉनसन ने प्रधानमंत्री मोदी को दिया G-7 का न्यौता

इस वर्ष ब्रिटेन के कार्नवाल में G-7 शिखर सम्मेलन होने वाला है। इस दौरान जलवायु परिवर्तन को लेकर विशेष रूप से बात होगी। ब्रिटेन के...

राजस्थान बस हादसे पर PM मोदी ने जताया दुख

नयी दिल्ली : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राजस्थान के जालौर जिले में बस हादसे में छह लोगों की मौत पर दुख व्यक्त किया है। श्री...

अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए BJP के राजेन्द्र भांबू ने दिया 1 करोड़

झुंझुनूं : श्रीराम जन्मभूमि मंदिर निर्माण निधि संग्रहण अभियान के तहत झुंझुनूं जिला भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के जिला उपाध्यक्ष राजेंद्र भांबू ने एक...