वैभव गहलोत ने जीता, राजस्थान क्रिकेट एसोसिएशन का चुनाव, ये रहे नतीजे

0
54

राजस्थान क्रिकेट एसोसिएशन के चुनावों के परिणाम घोषित कर दिए गए हैं। शुक्रवार दोपहर मतदान प्रक्रिया पूरी होने के बाद नतीजों की घोषणा हुई। अध्यक्ष पद के लिए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (CM Ashok Gehlot) के बेटे वैभव गहलोत (Vaibhav Gehlot) ये चुनाव जीत गए हैं। इंटरनेशनल खिलाड़ी गगन खोड़ा अपना वोट नहीं डाल सके और इस तरह से कुल 32 वोटों में से 31 वोट ही डाले जा सके। वैभव को इनमें से 25 वोट मिले हैं। वहीँ उपाध्यक्ष पद पर बीजेपी के अमीन पठान ने जीत दर्ज की |

चुनाव जीतने के बाद वैभव गहलोत ने कहा, ‘वह क्रिकेट की बेहतरी के लिए काम करेंगे और मौजूदा अध्यक्ष सीपी जोशी के मार्गदर्शन में आगे बढ़ेंगे |’ बता दें कि 31 में से उन्हें 25 वोट मिले हैं। वहीँ डूडी गुट के अध्यक्ष पद के प्रत्याशी रामप्रकाश चौधरी को 6 वोट मिले। संघ के सभी पदों पर जोशी गुट के प्रत्याशी विजयी रहे हैं। वैभव गहलोत ने विधानसभा अध्यक्ष सीपी जोशी को राजस्थान क्रिकेट एसोसिएशन का संरक्षक बनाया है | इसके बाद सीपी जोशी ने कहा ‘हमने क्रिकेट के भलाई के लिए कुछ कठोर फैसले लिये हैं, जिसकी वजह से कुछ लोगों को नाराजगी हुई है, मगर हम लोगों को समझा लेंगे | राजस्थान में क्रिकेट को फिर से शुरू करना और अपना क्रिकेट स्टेडियम बनाना हमारी पहली प्राथमिकता है |’

रामप्रकाश चौधरी के सामने थे वैभव

वहीँ डूडी गुट ने चुनाव घोषणा के बाद निर्वाचन प्रक्रिया पर सवाल उठाते हुए सरकारी मशीनरी के दुरुपयोग का आरोप लगाया है। साथ ही डूडी गुट के प्रत्याशियों ने जोशी गुट के पक्ष में वोट करने के लिए जिला संघ के पदाधिकारियों यानी वोटरों पर दबाव बनाए जाने का भी आरोप लगाया है। इसपर सीपी जोशी ने कहा, ‘इसमें मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का कोई दखल नहीं रहा है | हम नए संदर्भ में नए तरीके से क्रिकेट को आगे बढ़ाएंगे | किसी भी नेता से हमारी कोई नाराजगी नहीं है | चुनाव में कुल 36 वोट थे, जिसमें से 25 वोट वैभव गहलोत को मिले हैं |’ जोधपुर जिला संघ के सचिव रामप्रकाश चौधरी ने डूडी गुट की ओर से वैभव के सामने चुनाव लड़ा था।

6 पदों के लिए कुल 13 उम्मीदवार

शुक्रवार सुबह 8:30 बजे से एजीएम बुलाई गई। एकेडमी के लाउंज में आयोजित इस बैठक में जिला संघों से प्रतिनिधि मौजूद रहे। शुक्रवार दोपहर बाद नतीजों के आधार पर नई कार्यकारिणी की घोषणा की जाएगी। इस चुनावी मुकाबले में अध्यक्ष समेत 6 पदों के लिए कुल 13 उम्मीदवार मैदान में थे। आरसीए चुनाव में हंगामे की आशंका चलते एसएमएस स्टेडियम में मेन गेट से लेकर अंदर तक, चप्पे-चप्पे पर पुलिसकर्मी तैनात हैं। स्टेडियम के भीतर भी खास बैरिकेडिंग की गई। जोशी और डूडी गुटों में तनाव की आशंका के चलते सुरक्षा व्यवस्था को बढ़ाया गया है।

जीत के लिए गहलोत का रास्ता साफ़

गौरतलब है कि रामेश्वर डूडी को अयोग्य करार किए जाने के बाद वैभव गहलोत की एक तरफा जीत तय बताई जा रही थी। साथ ही पूरे पैनल के जीतने की भी संभावना जताई जा रही थी और आखिर जोशी गुट के सभी प्रत्याशियों ने जीत दर्ज की है। वहीँ डूडी गुट के किसी प्रत्याशी को जीत नहीं मिली है। दरअसल रामेश्वर डूडी गुट के 3 जिले नागौर, अलवर और श्रीगंगानगर को अयोग्य घोषित कर दिया गया है। क्योंकि यहां पर ललित मोदी और उनसे जुड़े हुए लोग जिला संघों में थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here