Wednesday, April 14, 2021

प्रियंका गांधी के बाद सुब्रमण्यम स्वामी भी! अर्थव्यवस्था पर उठाए सवाल

Must read

इंडिया को बहुत मिस कर रही है सोनम कपूर

मुंबई,  बॉलीवुड अभिनेत्री सोनम कपूर इन दिनों अपने देश इंडिया (भारत) को बेहद मिस कर रही है। सोनम कपूर इस समय लंदन में हैं और...

कोरोना अपडेट, भारत दुनिया का तीसरा सबसे प्रभावित देश

देश में कोरोना का कहर लगातार जारी है. हर दिन हज़ारों की संख्या में नए मामले सामने आते दिख रहे हैं. कोरोना महामारी की...

‘नल से हर घर को जल’ देने की वार्षिक योजना तैयार

नयी दिल्ली,  सरकार ने जल जीवन मिशन के तहत ‘हर घर को नल से स्वच्छ पेय जल’ उपलब्ध कराने की केंद्रीय योजना के लिए...

पुलिस को मिली बड़ी सफलता,अवैध रूप से चल रही पटाखा फैक्ट्री का भंडाफोड़

सहारनपुर के थाना कुतुबशेर के मानकमउ रियासी इलाके में तीन घरों में भारी मात्रा में अवैध पटाखे बनाये जाने की सूचना पर पुलिस ने...

भारत की गिरती अर्थव्यवस्था पर जहाँ विपक्ष खुलकर आवाज़ उठा रहा है, वहीँ अब बीजेपी के अपने नेता भी इसको लेकर चिंतित नज़र आ रहे हैं। भारतीय अर्थव्यवस्था की बिगड़ती स्थिति को लेकर प्रियंका गाँधी ने केंद्र सरकार पर कड़े सवाल उठाए हैं। उसके दूसरी तरफ बीजेपी के वरिष्ठ नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने नई आर्थिक नीति पर सवाल उठाए हैं।

कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी ने अर्थव्यवस्था को मुद्दा बनाते हुए मोदी सरकार को कटघरे में लाकर खड़ा कर दिया है। प्रियंका गांधी ने कहा है कि ‘GDP विकास दर से साफ है कि अच्छे दिन का भोंपू बजाने वाली बीजेपी सरकार ने अर्थव्यवस्था की हालत पंचर कर दी है। न GDP ग्रोथ है, न रुपये की मजबूती। रोजगार गायब हैं। अब तो साफ करो कि अर्थव्यवस्था को नष्ट कर देने की ये किसकी करतूत है?’ इसके साथ ही प्रियंका गाँधी ने बैंक के साथ हो रहे फ्रॉड पर भी निशाना साधा है। उन्होंने लिखा कि ‘देश की सबसे बड़ी बैंकिंग संस्था RBI कह रही है कि सरकार की नाक के नीचे बैंक फ़्रॉड बढ़ते जा रहे हैं। 2018-19 में ये चोरी और बढ़ गयी। बैकों को 72,000 करोड़ रुपए का चूना लग चुका है। लेकिन वो गारंटर कौन है जो इतने बड़े फ़्रॉड होने दे रहा है?’

सुब्रमण्यम स्वामी के सवाल

सिक्के के दूसरी तरफ बीजेपी के अपने नेता भी देश की अर्थव्यवस्था को लेकर सवाल उठाने लगे हैं। बीजेपी के वरिष्ठ नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने देश में अर्थव्यवस्था को राह पर लाने के लिए ज़रूरी सहस और ज्ञान, दोनों की कमी बता दी है। उन्होंने कहा है कि ‘नई आर्थिक नीति के बिना 5 ट्रिलियन इकोनॉमी संभव नहीं है। सुब्रमण्यम स्वामी ने कहा कि केवल साहस या केवल ज्ञान से ही अर्थव्यवस्था को नहीं बचा सकते हैं, इसके लिए दोनों की जरूरत है। आज हमारे पास दोनों में से कोई भी नहीं है।’

पहली बार इतनी कम विकास दर

गौरतलब है कि बीते सालों में अर्थव्यवस्था को लेकर हुए सभी प्रयोग और योजनाएं बुरी तरह से विफल हुई हैं। GST और Demonetization के बाद से हर साल देश की GDP गिरती जा रही है। अगर सालाना आधार पर तुलना करें तो करीब 3 फीसदी की गिरावट है। एक साल पहले इसी तिमाही में जीडीपी की दर जो 8 फीसदी थी, वो इस साल गिरकर 5 फीसदी पर पहुंच चुकी है। जून में यह 5.8 फीसदी पर था। पिछले 7 सालों में इतनी कम विकास दर पहली बार हुई है। इसी के चलते भारत दुनिया की सबसे बड़ी अर्थव्यवस्ताओं में तीसरे से गिरकर सातवीं रैंक पर जा पहुंचा है।

- Advertisement -

More articles

Latest article

मंदिर में शादी कर लांखो की नकदी और जवैलरी लेकर रफूचक्कर हुई लूटेरी दुल्हन

जनपद मुज़फ्फरनगर के थाना भौरा कलां क्षेत्र के गांव मोहम्मदपुर रायसिंह निवासी किसान देवेंद्र मलिक एक महिला और एक रिस्तेदार के हाथों ठगी का...

अजमेर में भगवान झूलेलाल की ज्योत एवं प्रतिमा का जुलूस निकाला

अजमेर,  राजस्थान में अजमेर में सिंधी समाज के इष्टदेव भगवान झूलेलाल के अवतरण दिवस चेटीचंड के मौके पर आज भगवान झूलेलाल की ज्योत एवं...

राजनांदगांव में कोरोना संक्रमण बढ़ा, सुविधाओं को हो रहा विस्तार

राजनांदगांव,  छत्तीसगढ़ की राजनांदगांव नगर पालिका सहित जिले में एक ही दिन में 1284 कोरोना संक्रमित मरीज सामने आये और लगभग दर्जनभर लोगों की...

जीटीए का स्थायी राजनीतिक समाधान निकाला जायेगा: शाह

लेबोंग,  केंन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने मंगलवार को दार्जिलिंग हिल्स के लोगों को आश्वासन दिया कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) गोरखालैंड क्षेत्रीय प्रशासन...

एम्स में खाली बेड कोरोना मरीजों के लिए-शिवराज

भोपाल,  मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रदेश में कोरोना संक्रमण के बढ़ते प्रकरण के संबंध में चिंता जाहिर करते हुए कहा कि...