आ गए उत्तराखंड में पंचायत चुनाव, लग गई अधिसूचना

0
112

उत्तराखंड(Uttarakhand) में पंचायत चुनाव के लिए अधिसूचना जारी कर दी गई है। राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा जारी इस अधिसूचना के अनुसार चुनाव 3 चरण में होंगे। 6 अक्टूबर से 16 अक्टूबर तक राज्य के 12 जिलों में पंचायत चुनाव(Panchayat Elections) होंगे। इसके बाद ही राज्य के इन जिलों में अचार संहिता लागू हो गई है। अब उन सभी कार्यों पर पूर्ण रूप से रोक लगा दी गई है जो वोटर्स को लुभा सकते हैं।

उत्तराखंड के 12 जिलों(Districts) में पंचायत चुनावों की तारीख तय होने के साथ ही आचार संहिता लागू हो गई है। इसके चलते इन 12 जिलों में नई घोषणा करने से लेकर इन 12 जिलों में ट्रांसफर पोस्टिंग तक उन सभी कार्यों पर रोक लगा दी गई है, जो वोटर्स को लुभा सकते हैं। इससे पहले राज्य निर्वाचन आयोग ने पिछले सप्ताह ही प्रस्तावित चुनाव कार्यक्रम सरकार को भेज दिया था। सूत्रों के अनुसार, आयोग के प्रस्ताव पर सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने बृहस्पतिवार को ही अनुमोदन दे दिया था। हालाँकि राज्य के हरिद्वार जिले में पंचायत चुनाव नहीं होगा।

हरिद्वार में नहीं होंगे चुनाव

हरिद्वार(Haridwar) जिले के त्रिस्तरीय पंचायत का कार्यकाल साल 2021 में खत्म हो रहा है। जिसकी वजह से हरिद्वार जिला छोड़कर बाकी प्रदेश के 12 जिलों में पंचायत चुनाव कराए जाएंगे। हरिद्वार जिले में कुल 306 ग्राम पंचायत, 6 क्षेत्र पंचायत और एक जिला पंचायत है। इसके अलावा उत्तराखंड के बाकी 12 जिलों में कुल 7491 ग्राम प्रधान, 55506 ग्राम पंचायत सदस्य, 2988 क्षेत्र पंचायत सदस्य और 357 जिला पंचायत सदस्य चुने जाने हैं। इसके लिए 20 सितंबर से 24 सितंबर तक तीनों चरणों के लिए नामांकन भरे जाएंगे।

ये है त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव का कार्यक्रम

नामांकन : पहले, दूसरे और तीसरे चरण के लिए नामांकन प्रक्रिया 20 सितंबर 2019 से शुरू होकर 24 सितंबर 2019 तक चलेगी। इस बीच 22 सितंबर 2019 को नामांकन नहीं होंगे। नामांकन सुबह आठ बजे से शाम चार बजे तक कराए जा सकेंगे।

नामांकन पत्रों की जांच : नामांकन पत्रों की जांच का कार्य 25 सितंबर 2019 से 27 सितंबर 2019 तक चलेगा। इसका समय सुबह आठ बजे से कार्य समाप्ति तक रहेगा।

नाम वापसी : नामांकन पत्र वापस लेने की तारीख 28 सितंबर 2019 तय की गई है। सुबह आठ बजे से अपराहृन तीन बजे तक नाम वापस लिए जा सकेंगे।

सिंबल आवंटन : पहले चरण के चुनाव के लिए उम्मीदवारों को सिंबल का आवंटन 29 सितंबर 2019 को होगा। दूसरे चरण के लिए सिंबल आवंटन चार अक्टूबर 2019 को होगा, जबकि तीसरे चरण के लिए यह कार्य नौ अक्टूबर 2019 को होगा। सिंबल आवंटन का कार्य सुबह आठ बजे से शुरू होकर कार्य समाप्ति तक चलेगा।

मतदान : पहले चरण के लिए मतदान छह अक्टूबर, दूसरे चरण के लिए 11 अक्टूबर और तीसरे और आखिरी चरण का मतदान 16 अक्टूबर 2019 को कराया जाएगा। मतदान सुबह आठ बजे से शुरू होकर शाम पांच बजे तक चलेगा।

मतगणना/परिणाम : मतगणना 21 अक्टूबर 2019 को सुबह आठ बजे से शुरू हो जाएगी। इसके बाद कार्य समाप्ति तक मतणगना जारी रहेगी।

ये नियम भी होंगे लागू

गौरतलब है कि इन 12 जिलों में तीन बार टलने के बाद 31 अगस्त को त्रिस्तरीय पंचायतों का आरक्षण तय हो पाया। इसके साथ ही इन चुनावों में दो ख़ास नियम भी शामिल किए गए हैं। पहली बार उम्मीदवारों के लिए शैक्षिक योग्यता निर्धारित की गई है। कुछ पदों के लिए आठवीं तो कुछ के लिए दसवीं पास होना अनिवार्य होगा। इसके साथ ही दावेदार के 2 से ज़्यादा बच्चे नहीं होने चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here