पढ़ें नवरात्र का पुण्य योग

0
45

ॐ सर्वमंगल मांगल्ये शिवे सर्वार्थसाधिके
शरण्ये त्रयम्बके गौरी नारायणी नमोस्तुते !!

शारदीय नवरात्रि का नौ दिवसीय पावन पर्व 29 सितंबर रविवार से शुरु है | नवरात्रि के दौरान मां दुर्गा के सभी नौ रूपों की पूजा की जाती है। शारदीय नवरात्रि को मुख्यय नवरात्रि माना जाता है। हिन्दू कैलेंडर के अनुसार यह नवरात्रि शरद ऋतु में अश्विन शुक्लक पक्ष से शुरू होती हैं और पूरे नौ दिनों तक चलती हैं। मां दुर्गा इस बार सर्वार्थसिद्धि और अमृत सिद्धि योग में हाथी पर सवार होकर रविवार को हर भक्त के घर पधार रही हैं |

अश्विन शुक्ल पक्ष प्रतिपदा से दशमी पर्यन्त मां दुर्गा की आराधना उपासना का परम पुण्य दायक समय होता है | प्रतिपदा तिथि 29 सितम्बर 2019 दिन रविवार को सुर्योदय 6 बजकर 4 मिनट पर और हस्त नक्षत्र भी सम्पूर्ण दिन और रात्रि 10 बजकर 1 मिनट तक हैं | ब्रहा योग मात्र सुबह 7 बजकर 20 मिनट तक ही है | पूरे दिन और रात्रि पर्यन्त तक इन्द्र योग विद्ममान है | नवरात्र का आरंभ रविवार से होने के कारण नवरात्र ऊर्जा और शक्ति से भरपूर होगा |

हस्त नक्षत्र के अधिपति चंद्रमा है और दिन स्वामी सूर्य और दोनो में मैत्री भाव होने से ये नवरात्र मैत्री भाव की समृद्धि प्रदान करने वाला होगा | प्रतिपदा अर्थात पहली तिथि के दिन इन्द्र योग होने से ये नवरात्र सर्वत्र अभ्युदय का योग भी देगा |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here