Saturday, January 23, 2021

हरियाणा में जाएगी हज़ारों युवाओं की नौकरी, जानिए वजह

Must read

कुशीनगर में 23 जनवरी से मोरारी बापू सुनाएंगे रामकथा

कुशीनगर , राम कथा में अली के नारे लगवा कर विवादों में आये मोरारी बापू उत्तर प्रदेश के कुशीनगर में 23 जनवरी से राम...

इंदौर जिले जेल मामले में पुलिस ने शुरू की जांच, जानें मामले

इंदौर, मध्यप्रदेश की इंदौर जिला जेल में दो पक्षों के बीच हुए विवाद के मामले में पुलिस ने प्रकरण दर्ज कर जांच शुरू कर...

शर्लिन का Sajid Khan पर यह बड़ा आरोप, कहा- उसने मुझे अपने Private पार्ट को पकड़ने…

नई दिल्ली : बॉलीवुड में कई ऐसे सेलेब्स हैं जो कास्टिंग काउच (casting couch) का शिकार हुए हैं। कई बड़े सेलेब्स ने खुलकर इसपर...

UP में एक बार फिर हुआ 6 अधिकारियों का तबादला

उत्तर प्रदेश में एक बार फिर बुधवार देश शाम अधिकारी स्तर तबादला हुआ। डीजीपी एचसी अवस्थी ने प्रांतीय पुलिस सेवा के पुलिस उपाधीक्षक (डीएसपी)...

हरियाणा(Haryana) में जींद उपचुनाव से पहले ग्रुप-डी के 18,218 पदों पर पुरानी खेल पॉलिसी के अनुसार बने ग्रेडेशन सर्टिफिकेट के आधार पर भर्ती हुए युवाओं को बर्खास्त किया जाएगा। इससे उन युवाओं में हड़कंप मच गया है, जो पुरानी खेल पॉलिसी के अनुसार ग्रेडेशन सर्टिफकेट बनवाकर नौकरी लगे थे। कुछ युवा पुरानी पॉलिसी(Old Policy) के ग्रेडेशन सर्टिफिकेट(Gradation Certificate) पर ऑब्जेक्श जताते हुए हाईकोर्ट चले गए हैं।

पुरानी खेल पॉलिसी के अनुसार बने ग्रेडेशन सर्टिफिकेट के आधार पर ग्रुप-डी में भर्ती हुए युवाओं की नौकरी खतरे में पड़ चुकी है। कुछ विभागों ने बर्खास्तगी की प्रक्रिया शुरू भी कर दी है। अभी तक पशुपालन विभाग और पीडब्ल्यूडी में कई लोगों को बर्खास्त किया जा चुका है। अन्य महकमों में ग्रेडेशन सर्टिफिकेट की पुष्टि के लिए इन युवाओं को 31 अगस्त तक का समय दिया गया था। इसके बाद युवाओं ने हाई कोर्ट का दरवाज़ा खटखटाया है।

बता दें कि पिछले साल हरियाणा स्टाफ सिलेक्शन कमीशन(HSSC) ने 26 अगस्त 2018 को ग्रुप-डी के 18,218 पदों के लिए आवेदन मांगे। 1518 पद स्पोर्ट्स कोटे के लिए भी तय किए गए और उनसे ग्रेडेशन सर्टिफिकेट की मांग की गई। अगस्त में भर्ती प्रक्रिया शुरू कर जनवरी 2019 में इन पदों पर भर्ती कर दी गई थी। इसके बाद पुरानी खेल पालिसी के अनुसार बने ग्रेडेशन सर्टिफकेट को अमान्य करार दिया गया। इसके मुताबिक जिला स्तर और स्कूल के सर्टिफिकेट भी अमान्य होंगे। नौकरी की भर्ती के 8 महीने बाद ही दरखास्त किए जाने से गुस्साए युवा हाई कोर्ट पहुँच गए हैं। इसके बाद चीफ सेक्रेटरी ने सभी के ग्रेडेशन सर्टिफिकेट की जांच के आदेश दिए हैं। इससे हरयाणा स्टाफ सिलेक्शन कमीशन की कार्यप्रणाली पर भी कई सवाल उठ खड़े हुए हैं।

- Advertisement -

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest article

BB14: वरुण- नताशा की शादी नहीं, इस वजह से सलमान ने नहीं की “वीकेंड के वार” की shooting

बिग बॉस अब धीरे धीरे अपने फिनाले की ओर बढ़ रहा है।हर सप्ताह दर्शक वीकेंड के वार का इंतजार करते हैं लेकिन हाल ही...

मोदी के मंच से नाराज ममता ने दिखाया तेवर, भाषण देने से किया मना

नई दिल्ली : देश भर में आज नेताजी सुभाष चंद्र बोस की 125 वीं जयंती मनाई जा रही है। इसी कड़ी में पीएम नरेंद्र...

Republic Day की parade में पहली बार लद्दाख लेकर आ रहा अपनी झांकी, जानें इस बार क्या कुछ होगा खास

नई दिल्ली : साल 2021 में देश अपना 72वां गणतंत्र दिवस (Republic Day) मनाने जा रहा है। कोरोना काल के कारण एक ओर जहां...

राम मंदिर की नींव के लिए 40 फीट होगी खुदाई, पाषाणकाल की विधि का होगा इस्तेमाल

नई दिल्ली : राम मंदिर (Ram mandir) निर्माण का काम शुरु हो चुका है। मंदिर निर्माण से पहले मंदिर गर्भ के नीचे सबसे पहले...

Signal पर आए WhatsApp जैसे ये नए फीचर्स, अब यूजर्स को मिल सकेगी ऐसे सुविधा…

नई दिल्ली : वॉट्सऐप (WhatsApp) को कॉम्पिटिशन देने के लिए आई सिग्नल ऐप (Signal App) लगातार अपने यूजर्स को बढ़ाने और उन्हें मेंटेन करने के लिए...