टीवी और कंप्यूटर से दिल की बीमारी का खतरा, जानिए ऐसे और भी चौंकाने वाले राज़

0
83

आजकल कई लोग ह्रदय की बीमारियों से ग्रस्त हो रहे हैं। आजकल इतना फिट रहने का चलन बढ़ा है, लेकिन इसके बावजूद लोगों की गलत आदतें उन्हें दिल का रोगी बना रहीं हैं। लगातार कई घंटों तक टीवी या कम्प्यूटर के सामने बैठे रहने से दिल से जुड़ी बीमारी होने का खतरा 80% बढ़ जाता है | तो वहीं हमारा वजन सही हो, लेकिन ज्यादा देर तक टीवी या कम्प्यूटर के सामने बैठने से शरीर का फैट और रक्त में शुगर की मात्रा बढ़ जाती है। आपको बताते है उन आदतों के बारे में जो अक्सर हम सबको दिल का रोगी बनाती हैं।

सब्जी और फल न खाना

अगर सेहत को सही रखना है, तो अपने आहार में फल और सब्जी शामिल करना जरूरी है। कई शोध में यह बात सामने आई है कि दिन में पांच या उससे ज्यादा बार फल और सब्जियों का सेवन करने से दिल की बीमारियों का खतरा 20% तक कम हो जाता है।

नींद के समय खर्राटे लेना

अगर नींद में आपको खर्राटे आते हैं तो इसे अनदेखा करना ठीक नहीं है। क्योंकि खर्राटो की समस्या ऑब्सट्रक्टिव स्लीप एप्निया की तरफ इशारा करती है, जिसमें इंसान को सोते समय सांस लेने में दिक्कत होती है और ब्लड प्रेशर हाई हो जाता है। यह समस्या मोटे लोगों में ज्याद नजर आती है।

दांतों में तकलीफ

दांतों की बीमारी और ह्रदय रोग का बहुत गहरा नाता है। जब आप मुंह की अच्छे से सफाई नहीं करते हैं तो बैक्टीरिया और प्लाक जम जाते हैं, इससे आगे चलकर धमनियों में प्लाक जमा होकर दिल के लिए खतरा पैदा करती है।

शराब का सेवन

आजकल युवा फैशन की होड़ में शराब का सेवन करते हैं जबकि शराब दिल की सेहत के लिए किसी अभिशाप से कम नहीं है। इसकी थोड़ी बहुत मात्रा तो ठीक है लेकिन ज्यादा मात्रा में सेवन आगे चलकर हार्ट फेल होने की वजह बन सकती है।

स्मोकिंग करना या स्मोकिंग करने वालों के साथ रहना

स्मोकिंग करना जितना नुकसानदेह है उतना ही उसके धुंए के संपंर्क में रहना भी नुकसानदेह है। सिगरेट पीने से दिल की धमनियों में प्लाक जम जाता है और हाई बीपी, कोलेस्ट्रॉल, डायबिटीज और सांस की समस्या होने लगती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here