हरियाणा में गजब घमासान, दुष्यंत चौटाला ने लोकदल को दी ऐसी करारी चोट

0
77

हरियाणा(haryana) में विधानसभा चुनाव से पहले पार्टियों में हलचल मची हुई है। रोज़ाना पार्टियों में कोई न कोई फेरबदल हो रहा है। शुक्रवार को इनेलो(INELO) के चार पूर्व विधायकों ने इनेलो छोड़ जेजेपी(JJP) का हाथ थाम लिया है। दुष्यंत चौटाला की अगुवाई में नैना चौटाला(Naina Chautala), पिरथी लंबरदार(Pirthi Lambardar), राजदीप फौगाट(Rajdeep Phogat), अनूप धानक(Anoop Dhanak) ने दिल्ली में आयोजित एक प्रेस कांफ्रेंस में जेजेपी ज्वॉइन की। दो दिन पहले चारों पूर्व विधायकों ने इनेलो के विधायक पद से इस्तीफा दे दिया था और एक दिन पहले इनेलो पार्टी से इस्तीफा दिया था।

प्रेस कांफ्रेंस में दुष्यंत चौटाला ने कहा कि विधानसभा चुनाव के लिए आचार संहिता लगते ही जेजेपी और बीएसपी,दोनों पार्टिया घोषणा कर देंगी कि वे किन-किन सीटों पर चुनाव लड़ेंगी। जेजेपी किसी भी महागठबंधन का हिस्सा नहीं बनेगी। अगर इनेलो और कांग्रेस एक हो जाती है तो चौटाला साहब की राजनीति नहीं बचेगी। चौधरी देवी लाल के द्वारा किए गए संघर्ष का भी कोई महत्व नहीं रह जाएगा। दुष्यंत चौटाला(Dushyant Chautala) ने खाप पंचायतों की मुहिम को झटका देते हुए कहा कि चौटाला परिवार राजनीतिक तौर पर एक नहीं होगा। पारिवारिक तौर पर एक होने का फैसला दादा ओम प्रकाश चौटाला और प्रकाश सिंह बादल पर छोड़ दिया है। राजनीतिक तौर पर हमारा गठबंधन बसपा के साथ है। उन्होंने कहा कि राजनीतिक गठबंधन का फैसला पार्टी और गठबंधन के मुखिया द्वारा लिया जाता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here