Tuesday, March 2, 2021

CBSE बोर्ड परीक्षाओं की तैयारी जोरों पर, शिक्षा निदेशालय ने जारी किए निर्देश

Must read

लीजा हेडन ने instagram पर शेयर की ये वीडियो

लीजा हेडन  एक बार फिर मां बनने वाली हैं, जिसका खुलासा उन्होंने अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर किया था. एक्ट्रेस ने एक और वीडियो अपने...

फ़िल्म ‘प्यार तो होना ही था’ पांच मार्च को होगी रिलीज

भोजपुरी अभिनेता-सिंगर अरविंद अकेला कल्लू की फिल्म ‘प्यार तो होना ही था' 05 मार्च को रिलीज होगी। ए.सी.एच. एंटरटेनमेंट प्रा.लि. बैनर तले निर्मित फिल्म...

उपराष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू ने दी चंद्रशेखर आजाद को श्रद्धांजलि

नयी दिल्ली,  उपराष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू ने स्वतंत्रता सेनानी चंद्रशेखर आजाद को भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए कहा है कि राष्ट्र सदैव उनका ऋणी...

महिला विधायक कलावती ने विधानसभा में लगायी सुरक्षा की गुहार

भोपाल,  मध्यप्रदेश विधानसभा में आज कांग्रेस की एक महिला विधायक कलावती भूरिया ने स्वयं की जान को खतरा बताते हुए अपने लिए पर्याप्त सुरक्षा...

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) द्वारा 10वीं-12वीं छात्रों के लिए 4 मई से आयोजित की जाने वाली बोर्ड परीक्षाओं के मद्देनजर शिक्षा निदेशालय ने स्कूलों को कहा है कि वह स्कूलों में छात्रों की बोर्ड परीक्षा तैयारी के लिए कमर कस लें।

निदेशालय ने स्कूलों को निर्देशों में कहा कि कुछ छात्रों के पास हो सकता है परीक्षा की तैयारी के लिए इंटरनेट मोबाइल सुविधा न हो। ऐसे छात्रों के अंदर परीक्षा के तनाव को निकालने व उनका सिलेबस कवर कराने और आने वाली बोर्ड परीक्षा की बेहतर तैयारी के लिए स्कूल प्रमुखों और शिक्षकों को कुछ बातों का पालन करना होगा।

प्री-बोर्ड एग्जाम से पहले शिक्षकों को करना होगा ये काम
एचओएस के पास शिक्षकों के साथ परामर्श के बाद संशोधित किए गए सिलेबस को रिवाइज कराने का एक प्लान होना चाहिए। प्री-बोर्ड एग्जाम से पहले इस प्लान पर शिक्षक काम करेगा। जिसे वह अपनी डायरी में नोट कर ले। छात्रों को सीबीएसई द्वारा डिलीट किए गए 30 फीसद सिलेबस की जानकारी दी जाए।

सीबीएसई द्वारा नए सिरे से तैयार किए गए मॉडल पेपरों पर कक्षाओं में छात्रों से बात की जाए। छात्रों को एमसीक्यू, एनालिटिकल, सोर्स आधारित व महत्वपूर्ण प्रकार के सवालों की जानकारी दी जाए। 10वीं कक्षा में एनालिटिकल पैराग्रॉफ शुरू किया गया है। स्पेशल एक्स्ट्रा क्लास, री-मेडियल क्लास को मिशन मोड में पूरा किया जाए।

प्रमोट हुए बच्चों को देनी होंगी क्लास
जिन छात्रों को 9वीं व 11वीं से प्रमोट करके 10वीं व 12वीं में भेजा गया है, उन्हें ये कक्षाएं जरूर दी जाएं। ऐसे छात्रों को चिन्हित कर स्कूल के प्रत्येक छात्र को 2-3 छात्र दे दिए जाएं, जिनका वह नियमित स्तर पर प्रदर्शन जाचें। 12वीं कक्षाओं में बॉयोलॉजी, केमिस्ट्री, गणित, अकाउंटेंसी व बिजनेस स्टडी का सिलेबस अब तक पूरा नहीं हो पाया है। स्कूल प्रमुखों को आदेश दिया जाता है कि यह सिलेबस जल्द पूरा किया जाए। स्कूल प्रमुख एसएमसी की मदद से छात्रों व अभिभावकों की काउंसिलिंग कर उन्हें जागरूक करेंगे।

- Advertisement -

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest article

सेवा भी रोजगार भी’ थीम पर आधारित तीसरे जनऔषधि दिवस की शुरुआत

दिल्ली ,  देशवासियों को महंगी दवाओं से राहत पहुंचाने के उद्देश्य से सस्ती जेनेरिक दवाएं उपलब्ध कराने के लिए शुरू की गयी प्रधानमंत्री भारतीय...

वेनेजुएला ने सिनोफार्म की कोरोना वैक्सीन को दी मंजूरी

काराकस, वेनेजुएला के अधिकारियों ने कोरोना वायरस (कोविड-19) से रक्षा के लिए चीन के सिनोफार्म वैक्सीन के इस्तेमाल की मंजूरी प्रदान की है। स्वास्थ्य मंत्रालय...

अजय कुमार लल्लू ने योगी सरकार के बेरोजगारी के झूठे आंकड़ो के लगाए आरोप

उत्तर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने योगी सरकार के बेरोजगारी के झूठे आंकड़े का आरोप लगाते हुये कहा कि प्रदेश में बेरोजगारी...

60 नर्सिंग कॉलेजों को दिए गए सहमति पत्र

कोरोना महामारी के खिलाफ जंग में उत्‍तर प्रदेश को दूसरे राज्‍यों से आगे रखने वाले मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने स्‍वास्‍थ्‍य सुविधाओं को और भी...

प्रदेश कार्यालय में हुई भाजपा की संगठनात्मक बैठक

राजस्थान में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) प्रदेश कार्यालय में आज पार्टी की संगठनात्मक बैठक हुई, जिसे राष्ट्रीय महामंत्री एवं प्रदेश प्रभारी अरूण सिंह, प्रदेशाध्यक्ष...