ढाई साल की उपलब्धियों पर योगी की प्रेस कॉन्फ्रेंस, अपराधों पर नकेल, उपलब्धियों का पिटारा

0
50

योगी आदित्यनाथ(CM Yogi Adityanath) के उत्तर प्रदेश(UP) में मुख्यमंत्री के तौर पर ढाई साल पूरे हो गए हैं। योगी सरकार के इस ढाई साल के कार्यकाल में ख़ास कार्य किए गए। इन्ही ढाई सालों का लेखा जोखा देते हुए मुख्यमंत्री आदित्यनाथ(CM Yogi Adityanath) ने एक प्रेस कांफ्रेंस का आयोजन किया। इस प्रेस वार्ता में वे अपने ढाई सालों में किए काम गिनाए।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ(CM Yogi Adityanath) ने इस कांफ्रेंस में कई मुद्दों पर चर्चा की। उन्होंने सरकार के कार्यों की तारीफ करते हुए कहा कि हमने चुनौतियों को अवसर में बदलकर विकास किया है। योगी ने इन ढाई वर्ष के कार्यकाल को यूपी की पहचान उभारने के लिए महत्वपूर्ण बताए । अपनी उपलब्धियां गिनाते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रधानमंत्री मोदी और गृहमंत्री शाह(Amit Shah) का भी शुक्रिया अदा किया। उन्होंने(CM Yogi Adityanath) कहा कि मैं पीएम मोदी और गृहमंत्री अमित शाह का आभारी हूं, जिनके मार्गदर्शन में यूपी सरकार ढाई साल पूरे बकर रही। योगी ने कहा कि पीएम मोदी ने जाति, धर्म और संप्रदाय से ऊपर उठकर काम किया है।

योगी ने किसानो को दिया जीवन

इसके साथ उन्होंने कहा कि एक सरकार सुशासन, विकास और विश्वास से चलती है। योगी सरकार ने गरीब मजबूर और किसानो के लिए काम किया है। उन्होंने कहा कि पहले हमारा किसान बेहाल था, आत्महत्या के लिए मजबूर था। पहली सरकारों ने किसानों के लिए कुछ नहीं किया। लेकिन बीजेपी की सरकार में 87 लाख किसानों के कर्ज माफ किए गए। प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि के बारे में बताते हुए उन्होने कहा कि इस योजना में 1 करोड़ से ज्यादा किसान लाभान्वित हुए। यूपी सरकार ने ड्रिप एरिगेशन में 50 लाख किसानों को अनुदान दिया।

इसके साथ ही योगी सरकार किसानों की आय को दोगुना करने के लिए काम कर रही है। गन्ना किसानो के बारे बताते हुए उन्होंने(CM Yogi Adityanath) कहा कि प्रदेश में गन्ना किसानों को 73 हजार करोड़ से ज्यादा का भुगतान किया है। इसके साथ ही यूपी में 20 नए कृषि विज्ञान केंद्र खोले गए हैं।

लोग हुए स्वस्थ, बीमार हुई बीमार

वहीँ स्वास्थ के क्षेत्र के बारे में भी मुख्यमंत्री ने चर्चा की। उन्होंने कहा कि योगी सरकार ने प्रदेश में विषाणु जनित बीमारियों पर काबू पाया है। इसका सबसे बड़ा उदाहरण इंसेफेलाइटिस पर काबू पाना है। वहीँ आजादी के बाद सिर्फ 12 मेडिकल कॉलेज थे, 2017 से अबतक 15 नए मेडिकल कॉलेज बन रहे हैं। योगी आदित्यनाथ(CM Yogi Adityanath) ने बताया कि यूपी सरकार ने केंद्र सरकार को 14 नए मेडिकल कॉलेज के प्रस्ताव भेजे हैं। और लखनऊ में एक फोरेंसिक यूनिवर्सिटी भी बनेगी।

शिक्षा, बिजली और दूसरे साधन भी मुहैय्या कराए

इसके साथ शिक्षा पर चर्चा करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में माध्यमिक और उच्च शिक्षा नकल के अड्डे बन चुके थे। हमने प्रदेश में शिक्षा सत्र रेग्युलर कराया, नकल विहीन परीक्षा कराई। वहीँ स्कूल चलो अभियान में लाखों बच्चे स्कूल जाने लगे हैं। उन्होंने बताया कि योगी सरकार ने 2 नए राज्य विश्वविद्यालय, 4 इंजीनियरिंग कॉलेज समेत बड़े पैमाने पर शिक्षा संस्थान खोले हैं। इसके साथ ही प्रदेश में 1.09 करोड़ परिवारों को बिना किसी भेदभाव के बिजली कनेक्शन दिया गया। वहीँ एमएसएमई में 2 लाख लोगों को 18 हजार करोड़ का लोन दिया। इसके अलावा 2021 तक पूर्वांचल एक्सप्रेस वे को खोल दिया जाएगा। और बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे को भी जल्द शुरू किया जाएगा।

यूपी हो रहा है अपराध मुक्त, मामले घटे

अपराधों का आकड़ा बताते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ(CM Yogi Adityanath) ने अपनी सरकार का बखान किया। उन्होंने दावा किया कि ढाई वर्ष में प्रदेश में एक भी दंगा नही हुआ है। वहीँ फिरौती की घटनाएं नही भी नहीं हुई है। दुर्दांत अपराधी या प्रदेश छोड़कर भाग गए है या जेल के अंदर है । उन्होंने दावा किया कि डकैती में 54 फीसदी, बलात्कार के मामले में 346 फीसदी, और हत्या में 15 फीसदी की कमी आई है। अपराधों को घटाने के लिए सरकार ने एंटी करेप्शन पोर्टल का शुभारंभ किया गया। प्रदेश में 41 नए थाने व 13 चौकियां बनाई गई है। बड़े पैमाने पर पोलिस विभाग में नियुक्तियां की गई। इसके साथ ही एक डिफेंस कॉरिडोर यूपी को भी मिला है।

पुस्तिका में है लेखा-जोखा

बता दें कि 29 मार्च 2017 को 14 वर्ष के वनवास के बाद यूपी में बीजेपी की सरकार बनी थी। यूपी में बीजेपी सरकार के ढाई साल के कार्यो और केंद्र के 100 दिन के कार्य को पुस्तिका के माध्यम से बताया गया। मुख्यमंत्री (CM Yogi Adityanath) ने बताया कि बीजेपी सरकार ने लंबे दशक से लंबित योजनाओं को लागू किया है। उन्होंने कहा कि सभी साथियों ने प्रदेश में बेहतर काम किया है। प्रदेश में गृह विभाग का बजट बढ़ाया गया है। ये बजट 18 हजार करोड़ से बढाकर 24 हजार करोड़ किया गया। वहीँ समाजकल्याण की विभिन्न योजनाओं को भी प्रभावी तौर पर लागू किया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here