Sunday, January 17, 2021

शार्क और डॉल्फिन के बीच से तैरकर अद्भुत रिकॉर्ड बना गयी ये दिव्यांग लड़की

Must read

Uttar Pradesh में होने वाले पंचायत चुनाव में सीमित हुई प्रत्याशियों की संख्या

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव (Panchayat Election 2021) के लिए अभी तारीखों ऐलान भले ही नहीं हुआ है, लेकिन तैयारियों को लेकर...

शरतचंद्र की पुण्यतिथि पर हर्षवर्धन ने दी श्रद्धांजलि, कही ये बात

नई दिल्ली ,केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ हर्षवर्धन ने चरित्रहीन और देवदास जैसी कालजयी कृतियों के रचियता बांग्ला भाषा के सुप्रसिद्ध उपन्यासकार...

मलेशिया में अभी भी आ रहे कोरोना के नए मामले, जानें क्या है हाल

कुआला लुम्पुर : मलेशिया में पिछले 24 घंटों के दौरान वैश्विक महामारी कोरोना वायरस के 3211 नए मामले दर्ज किये गए है जिसके बाद...

बदायूं कांड में महिला के Post mortem के दौरान हुई इतनी बड़ी लापरवाही,जानकर चौंक उठेंगे आप

बदायूँ: उत्तर प्रदेश में बदायूं के उघैती क्षेत्र के एक गांव में आंगनबाड़ी कार्यकर्ती महिला की हत्या व दरिंदगी के साथ दुष्कर्म की घटना...

छत्तीसगढ़ के जांजगीर इलाके की अंजली पटेल ने सभी के लिए एक मिसाल कायम की है। पैरों से दिव्यांग होने के बावजूद अंजलि ने रिले रेस तैराकी में एशियन रिकॉर्ड बनाया है। अंजली ने समुद्र की लहरों को भेदकर शार्क और डॉल्फिन के बीच से गुजरकर यह मुकाम हासिल किया। देश भर के 6 पैरा-तैराकों की इस टीम ने 35 किलोमीटर की दूरी 11 घंटे 46 मिनट 56 सेकंड में तैर कर पूरी की।

यूएसए कैटलीना आइलैंड से रात 11 बजे रिले रेस का आगाज हुआ। अंजली ने बताया कि उस समय काफी ठंड थी, मगर सभी के हौसले इतने बुलंद थे कि हर मुसीबत को भेदने के लिए तैयार थे। एक ओर जहां समुद्र की लहरें बार-बार डुबा रही थीं, वहीं दूसरी ओर शार्क और डॉल्फिन का डर बना हुआ था। हार न मानने की जिद और एक-दूसरे का हौसला बढ़ाकर 19 अगस्त को सुबह 10.30 बजे 35 किलोमीटर का सफर पूरा कर मेनलैंड में रिले रेस खत्म हुई। उन्होंने बताया कि प्रत्येक तैराक को दो-दो घंटे समुद्र में तैरना था। दो घंटे में तीन किलोमीटर का सफर तय करना था। एक के थकने के बाद दूसरे को उतारा जाता था। अंजली तीसरे नंबर पर उतरीं और दो घंटे में तीन किलोमीटर का सफर पूरा किया। अंजली ने बताया कि रिकॉर्ड बनाने के पूर्व एक महीने का कैंप पुणे में आयोजित किया गया, जिसमें कोच रोहन गोरे ने सभी को तैयार किया था। रिले रेस में अंजली के साथ राजस्थान के जगदीश चंद्र तेली, मध्य प्रदेश के शैलेन्द्र सिंह, बंगाल की रिमु शाहा और महाराष्ट्र की गीतांजलि भी समुद्र में उतर शार्क और डॉलफिन के बीच से गुज़रे थे।

जांजगीर जिले के बालोद गांव की रहने वाली अंजली एक निम्न-मध्य वर्गीय परिवार से हैं। उनके पिता बस कंडक्टर थे। बिलासपुर में नौकरी शुरू करने के बाद अंजली ने अपने पिता को नौकरी करने से मना कर दिया। पांच भाई बहनो में एक अंजलि अपने परिवार में कमाने वाली इकलोती हैं। आर्थिक रूप से कमज़ोर होने के कारण इस रिले रेस में शामिल होने के लिए अंजली ने पांच लाख रूपये उधार लिए थे। आपको बता दें अंजली पटेल छत्तीसगढ़ के नंबर वन की तैराक और इंडिया में दूसरे रैंक की तैराक हैं। इसके पहले कोमनवेल्थ 2010 और आइवास जैसे अंतरराष्ट्रीय खेलों में भी भाग ​ले चुकी हैं। 30 साल की अंजली पटेल ने अब तक 17 गोल्ड मेडल, 20 सिल्वर और 12 ब्रॉउन मेडल अपने नाम कर छत्तीसगढ़ का नाम रोशन किया है।

- Advertisement -

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest article

Birthday Special : 76 के हुए जावेद अख्तर, ताश खेलने वाली पहली पत्नी से की शादी

17 जनवरी को जावेद अख्तर 76 वर्ष के हो गएl स्क्रिप्ट राइटर और गीतकार जावेद अख्तर से जुड़े कुछ दिलचस्प तथ्य हम आपके लिए...

रूस की वैक्सीन ‘Sputnik V’ को ब्राजील की ना

ब्राजीलिया : ब्राजील की स्वास्थ्य नियामक एजेंसी (अनविसा) ने रूस के कोविड-19 वैक्सीन स्पूतनिक वी के आपात इस्तेमाल के लिए दवा कंपनी यूनिवो क्यूमिका...

जर्मनी के फ्रैंकफर्ट एयरपोर्ट पर रात में चले पुलिस अभियान में नहीं मिली कोई संदिग्ध वस्तु

बर्लिन : जर्मनी में फ्रैंकफर्ट हवाई अड्डा पुलिस ने संदिग्ध सामान के निरीक्षण के बाद कोई खतरा नहीं पाए जाने पर अभियान के पूरा...

राहुल गांधी ने विदेश मंत्री S Jaishankar से पूछा चीन की क्या है रणनीति

देश में शनिवार को विदेश मामलों को लेकर संसदीय कंसलटेटिव कमिटी की एक अहम बैठक हुई जिसमें कांग्रेस नेता राहुल गाँधी समेत विभिन्न पार्टियों...

देश में पहले दिन 1.91 लाख लोगों को लगी कोरोना वैक्सीन, जानें कैसी रही शुरूआत

अभियान की शुरुआत के साथ लाखों जिंदगियां और रोजगार लीलने वाली इस महामारी के खात्मे की उम्मीद जगी है। भारत ने कोविशील्ड और कोवैक्सीन टीके...