Friday, December 4, 2020

पाकिस्तान का एक भी जहाज़ सीमा पर मंडराया, तो तुरंत ठोंक देगा ये सिस्टम

Must read

Breaking news : सरकार की ओर से राजनाथ करेंगे किसानो से बात, किसान नेता ने न्योते पर उठाए सवाल

कृषि कानूनों के खिलाफ सड़कों पर उतरे किसानों से आज केंद्र सरकार बातचीत करेगी। कोरोना संकट और ठंड को देखते हुए सरकार ने 3...

11 विधान परिषद की सीटों पर 199 प्रत्‍याशियों ने आजमाया अपना भाग्य

खंड स्नातक (Graduate Constituency) की 5 और खंड शिक्षक (Teachers Constituency) निर्वाचन क्षेत्र की 6 सीटों के लिए मतगणना जारी है। (1. )Gorakhpur शिक्षक स्नातक...

जानिए भारत में कब कब हुए किसान आंदोलन…

केंद्र की नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली बीजेपी सरकार 2014 से लेकर अब तक किसानों को खुशहाल और समृद्ध बनाने का दावा करती रही...

उत्तराखंडः दिसम्बर के वेतन से कटेगा स्वास्थ्य योजना का अंशदान, 1 जनवरी से मिलेगा योजना का लाभ

देहरादून : उत्तराखंड सरकार के सरकारी कर्मचारियों और पेंशनरों को अटल आयुष्मान योजना के तहत शुरू की गई राज्य सरकार स्वास्थ्य योजना का लाभ...

पाकिस्तान हमेशा से ही सीज़ फायर का उल्लंघन करता रहता है | बालाकोट एयर स्ट्राइक के बाद पाकिस्तानी सेना ने भारत में घुसने की कोशिश की थी जिसे देखते हुए भारत ने एक बहुत बड़ा फैसला किया है | जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले के बाद से भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव है | हाल में सीमा पर तनाव भले ही कम हुआ हो लेकिन भारत अभी भी पाकिस्तान पर भरोसा नहीं कर रहा है| ख़ुफ़िया एजेंसियों के इनपुट और सेना के इंटरनल रिव्यू के बाद भारतीय सेना ने पाकिस्तानी सीमा पर एयर डिफेंस यूनिट्स को तैनात करने का फैसला लिया है| ये फैसला पाकिस्तान की तरफ से हवाई हमलों को नज़र में रखकर लिया गया है| सेना का ये डिफेंस सिस्टम पाकिस्तान के हर हवाई हमले को नाकाम करने में सक्षम है|

जम्मू-कश्मीर में भारतीय सेना ने एक बड़ी एक्सरसाइज़ के तहत एयर डिफेंस सिस्टम को बॉर्डर के करीब ले जाना तय किया है| ये फैसला सेना में एक बड़ी बैठक के बाद हुआ है, जिसमें सेना प्रमुख बिपिन रावत समेत बड़े अधिकारी मौजूद थे| ये डिफेंस सिस्टम जम्मू-कश्मीर, पंजाब, गुजरात और राजस्थान से सटे पाकिस्तान बॉर्डर पर तैनात किया जाने वाला है| इस सिस्टम के पास इन सीमाओं पर दुश्मन की तरफ से होने वाले हवाई हमलों को रोकने की क्षमता है और पैदल सेना के लिए ये सुरक्षा चक्र की तरह काम करेगा|

इस बैठक में बॉर्डर पर लगे एयर डिफेंस यूनिट का रिव्यू किया गया| बैठक में सामने आया कि अगर दोबारा भविष्य में कभी बालाकोट के बाद जैसी स्थिति पैदा होती है, तो इनका इस्तेमाल किया जा सकेगा | अभी ये सभी यूनिट बॉर्डर से दूर हैं और हर तनावपूर्ण जगह पर मौजूद हैं|

- Advertisement -

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest article

अब किसान चाहते हैं सीधे प्रधानमंत्री से हो बात..

भारतीय किसान यूनियन भानू के राष्ट्रीय अध्यक्ष ठाकुर भानू प्रताप सिंह ने कहा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अलावा किसी अन्य मंत्री व नेता से...

बड़ी खबर : किसानों का फरमान, 8 दिसंबर को भारत बंद तो 5 को PM का पुतला दहन

नई दिल्ली : कृषि कानून को लेकर किसान और केंद्र सरकार आमने-सामने खड़ी है। कोई भी झुकने को राजी नहीं है। इस बीच दिल्ली...

FICCI में उदय शंकर का बढ़ा कद, अब मिली ये जिम्मेदारी

स्टार’ (Star) और ‘डिज्नी इंडिया’ (Disney India) के चेयरमैन और ‘द वॉल्ट डिज्नी कंपनी एशिया पैसिफिक’ (The Walt Disney Company Asia Pacific) के प्रेजिडेंट...

MLC Election : सपा प्रत्याक्षी की जीत से बोखलाए भाजपा, पुलिस ने किया लाठीचार्ज

झांसी : उत्तर प्रदेश विधान परिषद (MLC) स्नातक इलाहाबाद-झांसी खंड की मतगणना के दौरान शुक्रवार को उस समय अफरातफरी मच गयी जब मतगणना में...

सपा ने बनारस में दोनों सीटें जीती, मनाया जश्न

बीजेपी को सबसे बड़ा झटका पूर्वांचल क्षेत्र में लगा है, जो सीएम योगी आदित्यनाथ का मजबूत गढ़ माना जाता है. वाराणसी सीट पर बीजेपी...