Friday, December 4, 2020

यस बैंक को दूसरी तिमाही में 129.37 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ

Must read

Film city in UP : उद्धव ने CM योगी को दी धमकी, कहा – दम हैं तो यहां के उद्योग को बाहर लेकर तो...

नोएडा फिल्म सिटी को लेकर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे अब आमने-सामने आ चुके हैं। CM योगी...

UP: बरेली में ‘लव जिहाद’ के आरोप में पहली FIR, नए कानून के तहत दर्ज हुआ केस

योगी सरकार ने लव जिहाद पर कानून लाने के बाद बरेली में लव जिहाद का पहला मुकदमा दर्ज किया गया है। जहां एक मुस्लिम...

किसानों पर शर्मनाक बल प्रयोग के लिए भारत सरकार माफी मांगे- रामगोविन्द चौधरी

- आंदोलन में प्राणों की आहुति देने वाले किसानों को दे शहीद का दर्जा - कृषि सम्बन्धी नए काले कानूनों को तत्काल ले वापस - MSP...

Breaking news : सिंधु बॉर्डर पर किसानों की बैठक खत्म, बुराड़ी जाने का केंद्र का प्रस्ताव ठुकराया

केंद्र द्वारा लागू तीन कृषि कानूनों के खिलाफ दिल्ली में विरोध प्रदर्शन करने आ रहे हजारों किसान एक और सर्द रात सड़क पर बिताने...

मुम्बई। निजी क्षेत्र की यस बैंक ने वित्त वर्ष 2020-21 की दूसरी तिमाही (जुलाई-सितम्बर) के नतीजों की घोषणा शुक्रवार को किया। इस दौरान बैंक का समेकित शुद्ध लाभ 129.37 करोड़ रुपये रहा है।

बैंक ने शेयर बाजार को भेजी सूचना में बताया कि बैंक की एसेट क्वालिटी में दूसरी तिमाही में थोड़ा सुधार हुआ है। हालांकि, गत वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही में यस बैंक को 600.08 करोड़ रुपये नुकसान हुआ था। इस वित्त वर्ष की पहली तिमाही में बैंक का लाभ 45.44 करोड़ रुपये था। सितम्बर तिमाही के आखिर में बैंक का सकल गैर निष्पादित एसेट, नॉन परफॉर्मिग एसेट (एनपीए) 16.30 फीसदी रह, जबकि इससे पहले की तिमाही में यह 17.30 फीसदी था।

बैंक का नेट एनपीए सितम्बर तिमाही में 4.71 फीसदी रहा। पहली तिमाही में यह 4.96 फीसदी था। सितम्बर तिमाही में यस बैक का प्रोविजन साल दर साल आधार पर 11.10 फीसदी गिरकर 1,187 करोड़ रुपये रहा है। हालांकि, तिमाही दर तिमाही आधार पर इसमें 9.3 फीसदी की वृद्धि हुई है।

यस बैंक का सकल शुद्ध ब्याज इनकम (एनआईआई) साल दर साल आधार पर 9.73 फीसदी घटकर 1,973 करोड़ रुपये रहा। बैंक का नॉन-इंट्रेस्ट इनकम साल दर साल आधार पर 25.30 फीसदी गिरकर 707 करोड़ रुपये रहा। बैंक का नेट इंट्रेस्ट मार्जिन सितम्बर तिमाही में 3.1 फीसदी रहा है, जबकि पिछले साल की दूसरी तिमाही में यह 2.7 फीसदी था। कॉस्ट टू इनकम रेशियो 53.40 फीसदी से गिरकर 49.30 फीसदी पर आ गया।

- Advertisement -

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest article

U.P : MLC चुनाव परिणाम घोषित, जाने किन जगहों जीती भाजपा

लखनऊ : उत्तर प्रदेश में एमएलसी चुनाव शिक्षक खण्डों के परिणाम घोषित करते कर दिया। छह खण्डों में तीन जगहों पर भाजपा, दो स्थानों...

china के लिए जासूसी के आरोप में गिरफ्तार स्वतंत्र पत्रकार राजीव शर्मा को मिली जमानत

नई दिल्ली : दिल्ली हाईकोर्ट ने चीन से जासूसी करने के आरोप में जेल में बंद स्वतंत्र पत्रकार राजीव शर्मा को जमानत दे दी...

अब नौसेना पूरे हिन्द महासागर को कर सकेगी ट्रैक, जाने कैसे

नई दिल्ली : भारतीय नौसेना का सूचना प्रबंधन और विश्लेषण केंद्र (आईएमएसी) राष्ट्रीय समुद्री डोमेन जागरुकता (एनएमडीए) केंद्र में तब्दील होगा। यह नेशनल कमांड...

Mission-2024 की तैयारी में जुटी BJP, अगले महीने उत्तराखंड से शुरू होगा जेपी नड्डा का राष्ट्रीय दौरा

नई दिल्ली : भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने वर्ष 2024 के आम चुनावों की तैयारियों का आगाज कर दिया है। भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा...

महाराष्ट्र : बीजेपी को घर में मिली मात

महाराष्ट्र में बीजेपी को बड़ी हार मिली है। महाराष्ट्र में विधान परिषद चुनावों में बीजेपी को यह हार महा विकास आघाडी ने दी है।...