Friday, February 26, 2021

PM मोदी को पत्र लिख राम मंदिर में रावण की प्रतिमा लगाने की मांग

Must read

इन सरकारी विभागों में जल्दी ही भर्ती प्रक्रिया होगी शुरु

उत्तर प्रदेश में सरकारी विभागों में रिक्त करीब 50 हजार पदों पर जल्दी ही भर्ती प्रक्रिया शुरु होगी। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इन रिक्त पदों...

टावर चोर गिरोह के चार सदस्य गिरफ्तार

 उत्तर प्रदेश में साेनभद्र जिले के करमा क्षेत्र से पुलिस ने अन्तर्राज्जीय टावर चोर गिरोह के चार सदस्यों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया।...

बस दुर्घटना में मृतकों की संख्या बढ़कर 54 हुयी

मध्यप्रदेश के सीधी जिले के रामपुर नैकिन थाना क्षेत्र के सरदा में हुयी बस दुर्घटना के पांचवे दिन आज एक और व्यक्ति का शव...

उन्नाव केस में आया नया मोड़, जानें क्या कहा पुलिस ने

उत्तर प्रदेश, उन्नाव में दो किशोरियों की संदिग्ध परिस्थिति में हुई मौत में पुलिस ने एक बड़ा खुलासा किया है. पुलिस का कहना है...

मथुरा: इस देश में रावण को पूजने वाले लोग भी हैं और उनकी संस्था भी है। जिसका नाम लंकेश भक्त मंडल है। इस संस्थाने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को पत्र लिख अयोध्या में बनाए जा रहे भगवान श्री राम के भव्य मंदिर में दशानन की भव्य प्रतिमा स्थापित करने की मांग की है।

लंकेश भक्त मंडल के अध्यक्ष ओमवीर सारस्वत ने मंडल की बुधवार को हुई बैठक में लिये गए निर्णय की जानकारी देते हुए आज कहा कि इसी प्रकार का एक पत्र श्री राम जन्मभूमि न्यास के अध्यक्ष को भी लिखा गया है। उन्होंने कहा कि लंकेश भक्त मंडल की ओर से भव्य प्रतिमा लगाए जाने के लिए भी अलग से दान दिया जाएगा।

ये भी पढ़ें-GoodNews: महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश में कोरोना सक्रिय मामलों में सबसे अधिक कमी

सारस्वत ने बताया कि लंका पर विजय प्राप्त करने से पूर्व भगवान श्री राम ने सेतुबंध रामेश्वरम के निर्माण के पूर्व महाराज दशानन से भगवान महादेव की पूजा कराई थी। उस समय भगवान श्री राम की ओर से जामवंत लंका गए थे उन्होंने श्रीराम की ओर से लंकेश को आचार्य बनाने का निमंत्रण दिया था ,जिसे लंकेश ने स्वीकार कर लिया था और रावण ने मां जानकी को साथ लाकर श्रीराम से पूजा ही नही कराई थी बल्कि भगवान श्रीराम को लंका पर विजय प्राप्त करने का आशीर्वाद दिया था।

उनका कहना था कि जिस समय दशानन युद्ध भूमि में अपना शरीर त्याग कर विष्णु लोक को जा रहे थे।उस समय भगवान श्री राम ने अपने छोटे भाई लक्ष्मण को राजनीति की शिक्षा ग्रहण करने के लिए उनकेे पास भेजा था। भगवान श्रीराम ने भी दशानन को प्रकांड विद्वान माना था और उसी कारण से उनको अपना आचार्य बनाया था।

लंकेश भक्त मंडल की बैठक में सर्वसम्मति से इस आशय का प्रस्ताव पारित होने और प्रधानमंत्री तथा श्री राम जन्मभूमि न्यास के अध्यक्ष को भेजे गए पत्र का विवरण सारस्वत ने विस्तार से दिया और कहा कि अयोध्या धाम में भगवान श्री राम के बनाए जा रहे अदभुत मंदिर में अब भगवान श्री राम के साथ साथ आचार्य दशानन की भी उसी तरह से भव्य प्रतिमा लगनी चाहिए। उन्होंने कहा है कि सभी लंकेश भक्त राम मंदिर निर्माण में अपना दान देने के साथ-साथ लंकेश की भव्य प्रतिमा के लिए भी दान देंगे।

- Advertisement -

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest article

भाजपा राज में जनता कराहने लगी-अखिलेश यादव

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा है कि भाजपा राज में जनता कराहने लगी है। मंहगाई के चूल्हे...

पुलिस ने की माल में चोरी, देखिए ये वीड़ियो

वर्दी के नीचे कई शर्ट पहन कर चोरी कर ले जा रहा गोमतीनगर विस्तार का चोरकट सिपाही मेटल डिटेक्टर से पकड़ा गया,कर्मचारियों ने की...

पूर्वांचल दौरे पर अखिलेश यादव, कार्यकर्ताओं ने जोरदार किया स्वागत

सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव वाराणसी पहुंच गए। वह तीन दिन के पूर्वांचल के दौरे पर आए हैं। वाराणसी एयरपोर्ट...

पारंपरिक ऐपण कलाकृति को मिल रहा नया आयाम

उत्तराखंड की पारंपरिक ऐपण कलाकृति को नया आयाम मिल रहा है। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने हालिया दिल्ली दौरे पर केंद्रीय मंत्रियों को ऐपण...

फिल्म ‘गंगूबाई काठियावाड़ी में कैसे ली Alia ने फिल्म में एंट्री

बॉलीवुड फिल्म मेकर संजय लीला भंसाली की फिल्म ‘गंगूबाई काठियावाड़ी’ (Gangubai Kathiawadi) का टीज़र हाल ही में रिलीज किया गया जिसमें आलिया भट्ट (Alia...