Monday, January 18, 2021

संयुक्त राष्ट्र में यूं पाकिस्तान को फिर पड़ा तमाचा

Must read

Mayawati ने कहा जनकल्याणकारी दिवस के रुप में मनाएं मेरा जन्मदिन

बसपा सुप्रीमो मायावती (Mayawati) ने गुरुवार को ट्वीट कर 15 जनवरी को उनके 65वे जन्मदिन (Mayawati Birthday) को मानाने के लिए अपील जारी की...

UP में वैक्सीन लगने का क्या हैं रोड मैप, स्वास्थ्य मंत्री ने बताया

UP स्वास्थ्य मंत्री जय प्रताप सिंह की ने प्रेस वार्ता  के दौरान कहा कि कल पूरे देश मे वैक्सीन का अभियान शुरू होगा। 317 केंद...

सपा, भाजपा, कांग्रेस और बसपा के इन नेताओं ने दिया मकर संक्रांति की शुभकामनाएं

आज मकर संक्रांति का पर्व है और पूरे देश में मकर संक्रांति का पर्व काफी धूमधाम से मनाया जा रहा है सभी पार्टी के...

पंजाब में 7800 स्कूल स्मार्ट, छात्रों को ये मिलेगी सुविधाएं

चंडीगढ़,  पंजाब सरकार ने स्कूलों के बुनियादी ढांचे की कायाकल्प करते हुए अब तक 7842 सरकारी स्कूलों को स्मार्ट स्कूलों में तब्दील किया है।...

कश्मीर मुद्दे(Kashmir Issue) को बार बार अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर मुद्दा बनाने के बावजूद पाकिस्तान को निराशा हाथ लगी है। बीते दिन UNHRC में मुद्दे को उठाने के बाद पाकिस्तान को भारत(India) द्वारा मुँह की खानी पड़ी थी। अब एक बार फिर संयुक्त राष्ट्र ने पाकिस्तान को मुद्दे को ज़्यादा बढ़ाने की जगह बातचीत कर हल निकालने की हिदायत दी है। संयुक्त राष्ट्र के महासचिव एंटोनियो गुटेरेस की ओर से भी पाकिस्तान को निराशा हाथ लगी है।

संयुक्त राष्ट्र(UN) में पाकिस्तान(Pakistan) की प्रतिनिधि मलीहा लोधी(Maleeha Lodhi) की तरफ से एंटोनियो गुटेरेस(António Guterres) के सामने इस मसले को उठाए जाने के बाद एंटोनियो गुटेरेस के प्रवक्ता स्टेफिन दुजारेक(Stéphane Dujarric) की ओर से बयान आया है। संयुक्त राष्ट्र के महासचिव एंटोनियो गुटेरेस ने कहा है कि भारत-पाकिस्तान को किसी भी तरह के आक्रामक रवैये से बचना चाहिए और दोनों देशों को आपस में बातकर मुद्दे को सुलझाना चाहिए। संयुक्त राष्ट्र महासचिव ने इस मसले पर मध्यस्थता करने से इनकार कर दिया है और कहा है कि अगर दोनों पक्षों की तरफ से ऐसी अपील की जाएगी तो इसपर फैसला होगा।

आपको बता दें कि संयुक्त राष्ट्र के महासचिव एंटोनियो गुटेरेस का ये बयान तब आया है जब पाकिस्तान की ओर से संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद (UNHRC) में जम्मू-कश्मीर का मसला उठाया गया। हालांकि, वहां भी भारत ने पाकिस्तान को दो टूक जवाब दिया और बताया कि अनुच्छेद 370(Article370) भारत का आंतरिक मसला है। गौरतलब है कि इसी महीने भारत और पाकिस्तान के प्रधानमंत्रियों को संयुक्त राष्ट्र महासभा को संबोधित करना है। नरेंद्र मोदी और इमरान खान के संबोधन की टाइमिंग भी आसपास ही है। महासभा से पहले ही कश्मीर मसले का संयुक्त राष्ट्र में पहुंचने के बाद अब सब की नज़र पीएम मोदी और इमरान खान के संबोधन पर है। आपको बता दें कि मंगलवार को UNHRC की बैठक में पाकिस्तान और भारत ने डोजियर पेश किया था जिसमे कश्मीर मुद्दे को लेकर दोनों के पक्ष रखे गए थे।

- Advertisement -

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest article

अखिलेश यादव ने कहाँ, भाजपा राज में लूट की अनन्त कथायें

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव ने कहा है कि भाजपा षडयंत्रकारी जातिवादी पार्टी है। उसका काम नफरत फैलाना...

मुजफ्फरनगर का सरकारी अस्पताल बन गया शराबियों का अड्डा

उत्तर प्रदेश के सरकारी अस्पताल पर पिछले दिनों एक विवादित बयान आम आदमी पार्टी के विधायक सोमनाथ भारती का आया था। जिसके बाद से सियासी...

Britain के PM बोरिस जॉनसन ने प्रधानमंत्री मोदी को दिया G-7 का न्यौता

इस वर्ष ब्रिटेन के कार्नवाल में G-7 शिखर सम्मेलन होने वाला है। इस दौरान जलवायु परिवर्तन को लेकर विशेष रूप से बात होगी। ब्रिटेन के...

राजस्थान बस हादसे पर PM मोदी ने जताया दुख

नयी दिल्ली : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राजस्थान के जालौर जिले में बस हादसे में छह लोगों की मौत पर दुख व्यक्त किया है। श्री...

अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए BJP के राजेन्द्र भांबू ने दिया 1 करोड़

झुंझुनूं : श्रीराम जन्मभूमि मंदिर निर्माण निधि संग्रहण अभियान के तहत झुंझुनूं जिला भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के जिला उपाध्यक्ष राजेंद्र भांबू ने एक...