Sunday, January 17, 2021

ममता ने एनआरसी पर लगाया फुल स्टॉप, ये रही वजह

Must read

मलेशिया में अभी भी आ रहे कोरोना के नए मामले, जानें क्या है हाल

कुआला लुम्पुर : मलेशिया में पिछले 24 घंटों के दौरान वैश्विक महामारी कोरोना वायरस के 3211 नए मामले दर्ज किये गए है जिसके बाद...

हरियाणा में शोक की लहर, भाजपा के इस दिग्गज नेता का हुआ निधन

हरियाणा के फतेहाबाद के पूर्व विधायक बलबीर सिंह चौधरी का सोमवार सुबह निधन हो गया है। वह पिछले कई दिनों से अस्वस्थ चल रहे...

ब्राजील से जापान आए 4 लोगों में मिला कोरोना का नया स्ट्रेन

टोक्यो : जापान राष्ट्रीय संक्रामक रोग संस्थान (एआईआईडी) ने रविवार को इस बात की पुष्टि की कि ब्राजील से जापान आए चार लोग कोरोना...

भगवान शिव और राम पर कैसी टिप्पणी जिससे TANDAV बेव सीरीज पर मचा सियासी तांडव

अक्सर जब किसी फिल्म का ट्रेलर आता है तो उसमें सारी बाते सामने नहीं आती हैं, लेकिन जब पूरी फिल्म रिलीज होती है, तो...

असम में NRC लिस्ट जारी होने के बाद दिल्ली, तेलंगाना, उत्तर प्रदेश समेत कई राज्यों में इस लिस्ट की मांग की गई थी। हालांकि बंगाल के तृणमूल कांग्रेस(TMC) की अध्यक्ष व मुख्यमंत्री ममता बनर्जी(Mamta Banarjee) ने बंगाल में राष्ट्रीय नागरिक पंजी (एनआरसी) लागू करने से साफ़ मना कर दिया है। विधानसभा में नियम 185 के तहत एनआरसी पर एक प्रस्ताव पर चर्चा के दौरान ममता ने कहा, ‘हमलोग भाजपा को एनआरसी बंगाल में लागू नहीं करने देंगे।’

विधानसभा में राष्ट्रीय नागरिक पंजी (NRC) लागू करने को लेकर बंगाल(West Bengal) की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने एनआरसी को अमानवीय और तानाशाही भरा कदम करार दिया है। उन्होंने कहा कि पूरे देश में जिस तरह लोकतांत्रिक व्यवस्था को तहस-नहस किया जा रहा है उसमें सभी विपक्षी दलों को एकजुट होकर आंदोलन करना होगा। भाजपा के विरुद्ध राष्ट्रव्यापी आंदोलन ही एकमात्र विकल्प होगा। मुख्यमंत्री ने एनआरसी के विरुद्ध विधानसभा में कांग्रेस और वाममोर्चा के समर्थन से सरकार द्वारा लाए गए संयुक्त प्रस्ताव पर बहस के जवाब में यह बातें कही। बहस के बाद प्रस्ताव पारित हो गया। राज्य विधानसभा में एनआरसी पर राज्य सरकार का पक्ष रखते हुए राज्य के शहरी विकास मंत्री फिरहाद हकीम ने कहा कि एनआरसी पूरी तरह से मानवता के खिलाफ है। इससे लाखों लोग बेघर हो गए हैं। इसे लागू करने की कोई आवश्यकता नहीं थी। केंद्र सरकार ने इस पर सटीक कदम नहीं उठाया है। अविलंब लोगों को परेशान करना बंद होना चाहिए।

नीतीश कुमार भी है ममता के साथ

गौरतलब है कि तृणमूल शनिवार व रविवार को जिलों में एनआरसी के खिलाफ विरोध प्रदर्शन करेंगे। वहीं 12 को खुद ममता सड़क पर उतर कर विरोध जताएंगी। इसके साथ ही उन्होंने जदयू(JDU) के वरिष्ठ नेता व बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार(Nitish Kumar) को भी अपनी तरफ कर लिया है। उन्होंने दावा किया है कि नीतीश कुमार ने भी कहा है कि वो एनआरसी को स्वीकार नहीं करेंगे। इससे पहले हैदराबाद में AIMIM के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने भी इसका विरोध किया था।

- Advertisement -

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest article

राहुल गांधी ने विदेश मंत्री S Jaishankar से पूछा चीन की क्या है रणनीति

देश में शनिवार को विदेश मामलों को लेकर संसदीय कंसलटेटिव कमिटी की एक अहम बैठक हुई जिसमें कांग्रेस नेता राहुल गाँधी समेत विभिन्न पार्टियों...

देश में पहले दिन 1.91 लाख लोगों को लगी कोरोना वैक्सीन, जानें कैसी रही शुरूआत

अभियान की शुरुआत के साथ लाखों जिंदगियां और रोजगार लीलने वाली इस महामारी के खात्मे की उम्मीद जगी है। भारत ने कोविशील्ड और कोवैक्सीन टीके...

जानिए Joe Biden शपथ के बाद 10 दिनों में क्या-2 करेंगे काम

वाशिंगटन : अमेरिका के निर्वाचित राष्ट्रपति जो बिडेन के शपथ समारोह के बाद पहले दस दिनों में कोरोना वायरस संकट, आर्थिक चुनौतियों, नस्लीय भेदभाव...

Britain के कार्नवाल में होगा G-7 सम्मेलन, जलवायु परिवर्तन होगा विशेष मुद्दा

लंदन : ब्रिटेन के कॉर्नवॉल में 11 से 13 जून तक चलने वाले जी 7 शिखर सम्मेलन में विश्व के सात प्रमुख देशों के...

लखनऊ में विभूतिखंड गैंगवार के मददगार के ऊपर 25-25 हजार का ईनाम घोषित

लखनऊ के विभूतिखंड में अजीत सिंह की हत्या में शामिल शूटरों की मदद करने के आरोपी आजमगढ़ के अंकुर व बंधन पर पुलिस ने...