अब बनारस के दुर्गा पूजा पंडाल में उतरा इसरो का चंद्रयान

0
97

इसरो का चन्द्रयान – 2 सभी भारतियों को एक बार फिर एक साथ ले आया था। चंद्रयान 2 के 98 प्रतिशत सफल होने के बाद जहां प्रधानमंत्री मोदी ने उसे सराहा था, वहीँ सभी भारतियों ने भी इसरो के लिए सहयोग दिखाया था। इसके बाद अब इसरो के चन्द्रयान -3 का मॉडल वाराणसी में काशी के इस दुर्गापूजा पंडाल में दिखने वाला है।

वाराणसी के बागेश्वरी देवी पूजा पंडाल में हर साल ट्रेंडिंग खबर पर आधारित मूर्ति स्थापना और पंडाल का निर्माण किया जाता है। इस बार पंडाल की थीम इसरो के चंद्रयान पर आधारित है। इसके तहत पूरा पंडाल एक सौरमंडल की तरह दिखेगा। यही थीम पूरे इलाके में चर्चा का विषय बन गई है।

छोटे बच्चों ने बनाया सौरमंडल

बागेश्वरी देवी पूजा पंडाल के चर्चा में आने का एक और कारण है इसको सजाने का ज़िम्मा उठाने वाले लोग। क्योंकि हर साल की तरह इस पंडाल को सजाने के लिए नौजवान कारीगर नहीं, बल्कि स्कूल और कॉलेज जाने वाले छोटे छोटे बच्चे हैं। दरअसल हर साल पंडाल सजाने वाले मुख्य कारीगर के काम छोड़कर जाने के बाद पूजा समिति के अध्यक्ष परिवार के चार बच्चो और उनके दोस्तों ने मूर्ति स्थापना और पंडाल के इंफ्रास्ट्रक्चर का जिम्मा उठाया। पांचवी, सातवीं और बीए फ़ास्ट ईयर के इन बच्चो और उनके दोस्तों ने मिल कर ये थीम तैयार किया है।

हवा में सफर करेंगे श्रद्धालु

इन बच्चों ने घर की बेकार चीज़ो, खिलौने, वीडियो गेम के खराब पार्ट और हेडफोन सहित कई अन्य चीजों को मिलाकर पूरे पंडाल को स्पेस की शक्ल देने की कोशिश की है। इसके साथ ही पंडाल की एंट्री के रास्ते में बच्चों ने इसरो अध्यक्ष के सीवन की मूर्ती भी लगाई है। पंडाल के अंदर बच्चो ने लोगों को 6 एस्ट्रोनॉट्स दिखाने और पंडाल के बाहर से लेकर अंदर तक हवा में सफर कराने की तैयारी की है। इसपर बच्चों का कहना है कि सभी भारतीयों का सपना साकार करने के लिए मां का आशीर्वाद दिलाना चाहते है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here