इस नन्ही जान को नही मालूम कि उसका बाप श्रीलंका को दहलाने वाला आतंकवादी था

0
63

श्रीलंका में ईस्टर के मौके पर हुए आत्मघाती हमले को कोई भुलाये नहीं भूल सकता | श्रीलंका में आतंकवादियों ने गिरजाघरों, होटलो में तबाही मचाई थी और कई लोगो की जान गयी थी | अब खबर आ रही है कि हमला करने वालों में से एक की पत्नी ने घातक हमले के दो सप्ताह बाद अपनी पहली संतान को जन्म दिया था | कोलंबो की मजिस्ट्रेट अदालत को यह जानकारी दी गई | श्रीलंका में ईस्टर के दिन गिरजाघरों और होटलों को निशाना बनाकर किए गए हमलों में 250 से ज्यादा लोगों की जान चली गई थी | कानून में ग्रेजुएट 22 वर्षीय अलाउद्दीन अहमद मुथ उन नौ आत्मघाती हमलावरों में से एक था | सुनवाई के दौरान मुथ के 59 वर्षीय पिता अहमद लेबे अलाउद्दीन ने चीफ मजिस्ट्रेट जयरत्ने को बताया कि हमलावर उसका चौथा बच्चा था और वह आगे की पढ़ाई के लिए कोलंबो लॉ कॉलेज में दाखिला लेने वाला था | उन्होंने जज को बताया कि मुथ की 14 महीने पहले शादी हुई थी और उसकी पत्नी ने पांच मई को अपनी पहली संतान को जन्म दिया है | उन्होंने बताया कि उनके बेटे को उन्होंने आखिरी बार 14 अप्रैल को देखा था |

वहीं श्रीलंका की पुलिस ने ईस्टर के दिन हुए फिदायीन हमलों के बाद भड़की सांप्रदायिक हिंसा को देखते हुए कई इलाकों में बुधवार को फिर से कर्फ्यू लगा दिया और 100 से अधिक लागों को गिरफ्तार किया | प्रशासन की ओर से देशभर से कर्फ्यू हटाने के कुछ ही घंटे बाद यह घोषणा की गई | एक न्यूज़ वेबसाइट के अनुसार , पुलिस प्रवक्ता एस पी रूवान गुणाशेखर ने बताया कि उत्तरी पश्चिमी प्रांत और गांपाहा पुलिस क्षेत्र में बुधवार रात सात बजे से गुरुवार सुबह चार बजे तक कर्फ्यू लगा रहेगा | इस बीच एक सैन्य प्रवक्ता ने कहा है कि स्थिति अब पूरी तरह नियंत्रण में है |

श्रीलंका की वायुसेना के प्रवक्ता ग्रुप कैप्टन गिहान सेनेविरात्ने ने कहा कि वायुसेना अवैध रूप से एक जगह जमा होने और हिंसा पर रोक लगाने में मदद के लिए दिन-रात हेलीकॉप्टर तैनात करेगी | उन्होंने कहा, ‘हमने ऐसी गतिविधियों में शामिल लोगों के बारे में आसमान से फोटोग्राफिक सबूत हासिल करने के लिए पहले ही कदम उठाए हुए हैं|’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here