बदल गया एसबीआई में लेनदेन का तरीका, एटीएम से लोन तक, यह खबर जरूर पढ़ें

0
45

स्टेट बैंक ऑफ इंडिया ने अक्टूबर के शुरुआती 10 दिन में ही कई ऐसे नियमो में बदलाव किया है जिसका सीधा असर बैंक के खाताधारकों (SBI Account Holders) पर पड़ेगा । एसबीआई (SBI) के इन बदलावों से जहां एक तरफ ग्राहकों को फायदा होगा, वहीं दूसरी तरफ उन्हें नुकसान भी झेलना पड़ सकता है । इनमे से कई नियम 10 अक्टूबर से प्रभावी हो गए हैं ।

पहला बदलाव : इन्हे मुफ्त में देगा SBI

देश के सबसे बड़े सरकारी बैंक में सबसे बड़ा बदलाव मंथली एवरेज बैलेंस (MAB) को लेकर होने वाला है । एसबीआई के बैंक अकाउंट में मंथली एवरेज बैलेंस मेंटेन नहीं कर पाने पर चार्ज में कटौती होने वाली है । यह कटौती लगभग 80 फीसदी तक की हो सकती है । अभी ग्राहकों को मेट्रो सिटी की शाखा में एकाउंट होने पर एवरेज मंथली बैलेंस 5,000 रुपये और शहरी इलाके की ब्रांच के खाते में एवरेज मंथली बैलेंस 3,000 रुपये रखना होता है ।

दूसरा बदलाव: लोन हुआ सस्ता

स्टेट बैंक ऑफ इंडिया ने अपने ग्राहकों को बड़ा तोहफा देते हुए सभी टेन्योर के मार्जिनल कॉस्ट लेंडिंग रेट (MCLR) में 0.10 फीसदी की कटौती की है । इसका फायदा सभी श्रेणी के ग्राहकों को मिलेगा । बैंक ने वित्त वर्ष 2019-20 में लगातार छठी बार एमसीएलआर में कटौती की है । यह दरें 10 अक्टूबर से प्रभाव में आ गई हैं। इससे बैंक के मौजूदा ग्राहकों की होम और ऑटो लोन की ईएमआई रिसेट पीरियड के अनुसार घट जाएगी ।

तीसरा बदलाव : डेबिट कार्ड पर भी ईएमआई की सुविधा

SBI ने रामनवमी के दिन डेबिट कार्ड पर भी ईएमआई सर्विस लॉन्च की है । अगर आपके पास एसबीआई का डेबिट कार्ड है तो आप बेझिझक शॉपिंग कर सकते हैं और बाद में किश्त (ईएमआई) के जरिए पैसा चुका सकते हैं । इसमें कंज्यूमर मिनिमम 6 महीने से 18 महीने तक ईएमआई अवधि का विकल्प चुन सकते हैं । ये सेवा 1500 से अधिक शहरों में शुरू की गई है । कंपनियां लोगों को इंस्टालमेंट में शॉपिंग करने की सहूलियतें दे रही हैं ।

चौथा बदलाव : ATM से कैश निकालने के नियमो में बदलाव

1 अक्‍टूबर से SBI के एटीएम चार्ज भी बदल गए हैं । नियम बदलने ने बाद बैंक के ग्राहक मेट्रो शहरों के एसबीआई एटीएम में से अधिकतम 10 बार फ्री डेबिट ट्रांजेक्शन कर सकेंगे । अभी यह लिमिट 6 ट्रांजेक्‍शन की थी । वहीं, अन्य जगहों के एटीएम से मैक्सिसम 12 फ्री ट्रांजेक्शन की जा सकेगी ।

पांचवा बदलाव: सेविंग अकाउंट जमा पर कम हुआ इंटरेस्ट

एसबीआई ने सेविंग बैंक डिपॉजिट की ब्याज दरों में कटौती करते हुए अपने ग्राहकों को झटका दिया है । बचत खाते में एक लाख रुपये तक जमा रखने वालों के लिए बैंक ने ब्याज दर 3.50 फीसदी से घटाकर 3.25 फीसदी कर दी है । बैंक की तरफ से ये नई दरें एक नवंबर से लागू की जाएंगी ।

छठा बदलाव : ब्याज दरें भी गिरी

बैंक डिपाजिट की ब्याज दरों के साथ ही एसबीआई ने बैंक के एक से दो साल की अवधि के रिटेल टर्म डिपॉजिट यानी फिक्स्ड डिपॉजिट और बल्क टर्म डिपॉजिट पर मिलने वाले ब्याज में भी कटौती कर दी है । एसबीआई ने एफडी पर ब्याज दर में 10 बेसिस प्वाइंट और बल्क टर्म डिपॉजिट पर ब्याज दर में 30 बेसिस प्वाइंट कम किए है । बैंक की नई ब्याज दरें 10 अक्तूबर से प्रभाव में आ गई हैं ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here