विदेश मंत्री एस जयशंकर ने वाशिंगटन दौरे में बताया कश्मीर का स्पेशल प्लान

0
44

केंद्रीय विदेश मंत्री एस. जयशंकर ने अपने वाशिंगटन डीसी दौरे पर कश्मीर को लेकर बयान दिया है । उन्होंने कहा कि जम्‍मू-कश्‍मीर (Jammu-Kashmir) में जल्दी ही विकास शुरू हो जाएगा । विकास कार्य शुरू होते ही घाटी को लेकर पाकिस्‍तान (Pakistan) की 70 साल पुरानी योजना पूरी तरह ध्‍वस्‍त हो जाएगी । इसके साथ ही उन्‍होंने कश्‍मीर घाटी में इंटरनेट (Internet) और सोशल मीडिया (Social Media) पर एहतियान पाबंदी लगाई जाने की बात कही है ।उन्होंने कहा है कि जम्‍मू-कश्‍मीर में लगाई गई पाबंदिया आम कश्‍मीरियों की सुरक्षा के लिए ही है ।

जयशंकर ने कश्‍मीर को लेकर कहा कि किसी भी मामले में दशकों से बनी हुई यथास्थिति को बदलने के दौरान थोड़ा जोखिम बना ही रहता है । इस बदलाव से जुड़े लोगों की ओर से तरह-तरह की प्रतिक्रियाएं आती हैं । कश्‍मीर से भी अलग-अलग प्रतिक्रियाएं आ रही हैं । कुछ लोग 70 साल से इस मुद्दे का फायदा उठाने की कोशिश कर रहे थे । कुछ स्‍थानीय लोगों के हित भी कश्‍मीर में यथास्थिति बने रहने से जुड़े थे । सरकार चाहती है कि भारत विरोधी ताकतें विकास कार्य शुरू होने पर कश्‍मीर के लोगों को बरगलाने या भड़काने के लिए सोशल मीडिया को हथियार नहीं बना पाएं । विदेश मंत्री ने कहा कि ज्‍यादातर पाबंदियां इसलिए लगाई गई है ताकि लोगों के जानमाल का नुकसान नहीं हो । सरकार ने कश्‍मीर घाटी को लेकर पिछले अनुभवों को ध्‍यान में रखते हुए ही ये एहतियात बरते हैं ।

पुराने अनुभवों के मद्देनज़र एहतियात

उन्होंने कहा कि अगर आप ध्‍यान देंगे तो पता चलेगा कि घाटी में 2016 में इंटरनेट और सोशल मीडिया का लोगों को भड़काने के लिए किस तरह इस्‍तेमाल किया गया । ऐसे में यह संभव नहीं कि इतना बड़ा फैसला लेने के बाद हम भारत विरोधी तत्‍वों को इंटरनेट और सोशल मीडिया का इस्‍तेमाल करने की छूट दे पाएं । यहां मैं कश्‍मीर के लोगों की चुनौतियों को कम बताने का प्रयास नहीं कर रहा हूं । मैं बताने की कोशिश कर रहा हूं कि पाबंदियों के पीछे हमारा मकसद और नीयत साफ है ।

इमरान और सत्यपाल मलिक में हुई बयानबाज़ी

विदेश मंत्री एस जयशंकर ने वाशिंगटन में कहा कि जम्‍मू-कश्‍मीर में विकास की रफ्तार बढ़ने के साथ ही पाकिस्‍तान की 70 साल से बनाई गई योजनाएं शून्‍य में तब्‍दील हो जाएंगी । गौरतलब है कि पाक अधिकृत कश्‍मीर (PoK) के मुजफ्फराबाद में हुई एक रैली में पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री इमरान खान (PM Imran Khan) ने कहा था, ‘मैं जानता हूं कि यहां के युवा नियंत्रण रेखा पर जाना चाहते हैं । अभी इसका सही समय नहीं आया है । मेरे इशारे का इंतजार करें ।’ इसके जवाब में जम्‍मू-कश्‍मीर के गवर्नर सत्‍यपाल मलिक ने कहा था कि अगर हम जम्‍मू-कश्‍मीर को विकास की राह पर ले जाते हैं तो जल्‍द ही पाक अधिकृत कश्‍मीर के लोग भी भारत में शामिल होने की कोशिश शुरू कर देंगे । साथ ही इमरान पर तंज कसते हुए सत्यपाल ने कहा था कि इमरान के इशारे पर कोई भारत नही आने वाला है ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here