नहीं रही “रीटा” प्रियंका गांधी ने जताया शोक

0
98

भारत की सबसे बुजुर्ग चिम्पांजी ‘रीटा’ का 59 साल की उम्र में निधन हो गया। अंग विफलता के चलते मंगलवार दोपहर रीटा ने ज़ू में अपनी आँखें मूँद ली। बुजुर्ग चिम्पांजी रीटा कई दिनों से बीमार थी। उसे 27 जुलाई से ही केवल फलों के रस, दूध और पानी का सेवन कराया जा रहा था। रीटा(Rita) की मृत्यु पर कांग्रेस महासचिव प्रियंका गाँधी वाड्रा ने ट्वीट कर शोक जताया।

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गाँधी(Priyanka Gandhi Vadra) ने गुरुवार रात ट्वीट किया। उन्होंने अपनी एक याद साझा करते हुए लिखा, ‘जब मैं एक बच्ची थी, तब मेरे पिता राजीव गाँधी को एक शेर भेंट में मिला था। ज़ू को भेंट करने से पहले तक वह शेर हमारे साथ रहा। उसके बाद उससे मिलने ज़ू जाते जाते मेरी दोस्ती रीटा से हो गई थी। वो अक्सर अपने चेकअप के इंतज़ार में होती थी। रीटा सबसे सुशील, खूबसूरत और सबसे समझदार जीव और मेरी पुरानी दोस्त थी।’

रीटा को पसंद थी माज़ा

बता दें कि रीटा भारत की सबसे पुरानी जीवित चिम्पांजी में से एक थीं और लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड में भी नाम दर्ज कराया था। रीटा का जन्म 1960 में एम्स्टर्डम के एक चिड़ियाघर में हुआ था। 1964 में यहां नेशनल जूलॉजिकल पार्क द्वारा अधिग्रहित किया गया था। चिड़ियाघर के एक अधिकारी ने बताया कि रीटा एक छोटे बच्चे की तरह थी। “जब हम उससे बात करते तो वह जवाब देती। ज़ू क्यूरेटर आर.ए. खान ने कहा कि रीता को “माज़ा” पसंद थी। इसलिए हम उसे दवाइयां माज़ा में ही मिलाकर देते थे। मैं अपने फोन पर उसे वीडियो दिखाता था और वह बहुत उत्सुक होती थी। उन्होंने बताया कि बाद में हमने उसके लिए एक टेलीविजन लगाया जिसमे हम उसे जानवरों के वीडियो दिखाते थे। रीटा की मृत्यु 1 अक्टूबर, 2019 को दोपहर 12 बजकर 15 मिनट पर हुई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here