मोदी और जिनपिंग के बीच की बातचीत संबंध सुधारने की दिशा में बड़ा कदम साबित

0
47

भारत (India) दौरे पर आए चीन (China) के राष्ट्रपति शी जिनपिंग (Xi Jinping) ने शनिवार को एक बार फिर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) से मुलाकात की | दोनों दिग्गज नेताओं के बीच 1 घंटे तक बातचीत हुई | तमिलनाडु (Tamil Nadu) के कोवलम स्थित फिशरमैन कोव रिजॉर्ट (fisherman cove resort mahabalipuram) में दोनों नेताओं ने राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय मुद्दों पर चर्चा की | इस बैठक के बाद पीएम मोदी ने कहा कि पिछले 2000 साल से भारत और चीन आर्थिक शक्तियों (Economic Power) के तौर पर तेजी से आगे उभरे हैं | दोनों ही देश आपसी मतभेदों को किसी भी तरह का झगड़ा नहीं बनने देंगे | वहीं चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने कहा कि मैं भारत की मेहमाननवाजी से अभिभूत हूं |

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि भारत और चीन दुनिया के सामने आर्थिक शक्तियों के रूप में उभरे हैं | इस शताब्दी में भी दोनों ही देश उसी तरह से आर्थिक शक्ति बनने की ओर आगे बढ़ रहे हैं | पिछले साल वुहान में हमारी अनौपचारिक बैठक में दोनों ही देशों के बीच हमारे संबंधों में गति आई है |

हम मतभेदों को आपसी बातचीत से दूर करेंगे : पीएम मोदी

दोनों देशों के बीच आपसी रिश्ते और मजबूत हुए हैं | पीएम मोदी ने कहा कि हमने तय किया था कि हम मतभेदों को आपसी बातचीत से दूर करेंगे और किसी भी तरह का विवाद नहीं बनने देंगे | उन्होंने कहा कि हम एक-दूसरे के मामले में संवेदनशील रहेंगे | पीएम मोदी ने कहा कि हमारे संबंध विश्व में शांति और स्थिरता का कारक होंगे |

मैं भारत के इस दौरे में मिली मेहमाननवाजी से बहुत अभिभूत हूं : शी जिनपिंग

वहीं चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने कहा कि मैं भारत के इस दौरे में मिली मेहमाननवाजी से बहुत अभिभूत हूं | यह दौरा मेरे लिए किसी यादगार पल से कम नहीं है | शी ने कहा कि चीनी मीडिया ने भारत के साथ हमारे संबंधों के बारे में बहुत कुछ लिखा है | शी ने वुहान में हुई बैठक का सारा क्रेडिट पीएम मोदी को दिया | उन्होंने कहा कि वुहान की पहल पीएम मोदी ने की थी जो बहुत अच्छी कोशिश साबित हो रही है | चीन ने कहा कि भारत हमारा अहम पड़ोसी है |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here