ऑड इवन तय मगर दिल्ली सरकार कर सकती है यह बड़ा फैसला

0
52

दिल्ली में प्रदूषण पर काबू पाने के लिए राज्य सरकार ने दिल्ली में 4 नवम्बर से 15 नवंबर तक ऑड-ईवन लागू करने की घोषणा की यही। हालाँकि इस बार ऑड-ईवन को कई बदलावों के साथ लागू किए जाने की संभावना है। परिवहन विभाग ने राज्य सरकार को सीएनजी से चलने वाले प्राइवेट कमर्शियल वाहन पर नियम से छूट न देने का सुझाव दिया है। वहीँ इस बार टू व्हीलर वाहनों पर भी नियम लागू होने की सम्भवना है।

बीते वर्ष ऑड-इवन के दौरान सीएनजी से चलने वाले प्राइवेट कमर्शियल वाहनों को एक खास स्टीकर की मदद से छूट दी गई थी क्योंकि सीएनजी प्राइवेट वाहनों में छूट वाले स्टीकर पहचानने में मुश्किल आती है। हालाँकि इस बार परिवहन विभाग ने राज्य सरकार से नियम में छूट न देने का सुझाव दिया है। वहीँ टू-व्हीलर चालकों को सिर्फ ऑफिस टाइमिंग के दौरान ही छूट देने पर विचार किया जा रहा है। शनिवार को मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल प्रेस कॉन्फ्रेंस करेंगे। इस प्रेस कॉन्फ्रेंस में ऑड-ईवन को लेकर अहम घोषणाएं होने की सम्भवना है।

टू व्हीलर वाहनों पर भी ऑड इवन

गौरतलब है कि परिवहन विभाग के मुताबिक दिल्ली में 60 लाख टू-व्हीलर हैं, जो पुराने इंजन पर ही चलते हैं। ऐसे में इस बार ऑड ईवन के दौरान टू व्हीलर वाहनों को सुबह 8 से 11 और शाम 5 से 8 बजे तक छूट देने की संभावना है। वहीँ दिल्ली सरकार के परिवहन विभाग ने सरकारी दफ्तरों की टाइमिंग में बदलाव को लेकर भी सुझाव दिए हैं। परिवहन विभाग का विचार है कि ऑड-ईवन के दौरान दिल्ली सरकार के सभी दफ्तर सुबह 11 बजे खुलें और शाम 7:30 बजे बंद हो जाएं। इससे टू-व्हीलर चालकों को ऑफिस टाइम के भीतर यात्रा करने में सुविधा होगी। इसके साथ ही कार चालक महिलाएं जो अन्य महिला या स्कूली बच्चे(12 साल तक की उम्र वाले) के साथ ट्रेवल कर रही हैं उन्हें छूट मिल सकती है।

बता दें दिल्ली में 4 से 15 नवंबर तक ऑड-ईवन स्कीम लागू रहेगी। हाल ही में ऑड-ईवन स्कीम में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने महिलाओं, टू-व्हीलर व सीएनजी वाहनों को छूट देने के लिए तीन दिन में परिवहन विभाग से राय मांगी थी। इसपर परिवहन विभाग ने कुछ सुझाव रखें हैं। पिछले अनुभवों और वाहनों की रिपोर्ट मुख्यमंत्री के सामने आने के बाद ही सरकार अंतिम फैसला लेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here