अब महेन्द्र सिंह धोनी ऑर्गेनिक पोल्ट्री की खेती करेंगे; 2000 ब्लैक ‘कड़कनाथ’ चिकन ब्रीड का दिया आर्डर

नई दिल्ली : क्रिकेट की दुनिया के दिग्गज महेंद्र सिंह धोनी अब पोल्ट्री फार्मिंग के कारोबार में उतर चुके हैं। भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान ने एमएस धोनी ने रांची स्थित अपनी ऑर्गेनिक पोल्ट्री यूनिट्स में फार्मिंग करने की तैयारी कर रहे हैं। इसके लिए उन्होंने 2 हजार से ज्यादा ब्लैक ‘कड़कनाथ’ चिकन ब्रीड मंगवा रहे हैं।

पोल्ट्री फॉर्म को यह ऑर्डर 15 दिसंबर तक पूरा करना है। बता दें कि मध्य प्रदेश के झाबुआ जिले के थंडला ब्लॉक के रहने वाले विनोद मेधा को इसका ऑर्डर मिला है।

झाबुआ में कड़कनाथ दुर्गा अनुसंधान केंद्र के प्रमुख आईएस तोमर ने मीडिया से बातचीत में बताया कि धोनी सबसे पहले अपने साथियों के जरिए उनके पास पहुंचे थे। कड़कनाथ मुर्गे के मांस में GI टैग होता है। बता दें कि 2018 में छत्तीसगढ़ के साथ कानूनी लड़ाई जीतने के बाद झाबुआ ने इसके लिए GI टैग हासिल किया। इसका मांस काफी स्वादिष्ट माना जाता है।

झाबुआ मूल के कड़कनाथ मुर्गे को वहां के लोकल भाषा में काली मासी कहा जाता है। यह एक भारतीय प्रकार का चिकन है। इसकी स्किन से लेकर पंख तक का रंग ब्लैक होता है। कड़कनाथ प्रजाति के जीवित पक्षी, इसके अंडे और इसका मांस दूसरी कुक्कुट प्रजातियों के मुकाबले महंगी दरों पर बिकता है।

यह मूल रूप से धार और झाबुआ, मध्य प्रदेश, बस्तर (छत्तीसगढ़) और गुजरात और राजस्थान के सीमावर्ती क्षेत्र हैं, जो लगभग 800 वर्ग मील में फैला हुआ है। फैट कम होने से हार्ट और डायबिटीज रोगियों के लिए यह चिकन बहुत ही फायदेमंद माना जाता है।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button