नए वायु सेना प्रमुख ने दिया बालाकोट पर यह बड़ा बयान

0
63

शुक्रवार को बालाकोट एयरस्ट्राइक को लेकर प्रमोशनल वीडियो जारी करने के बाद वायुसेना प्रमुख राकेश कुमार भदौरिया ने एक बड़ा बयान दिया । उन्होंने बालाकोट एयरस्ट्राइक को एक जवाब से ज़्यादा एक ज़रूरत बताया है । भारतीय वायुसेना ने जिस तरह पाकिस्तान के बालाकोट में घुसकर जैश के आतंकी ठिकानों को ध्वस्त किया था, उससे आतंकी संगठनों के बीच खौफ बना हुआ है । एयर चीफ मार्शल ने कहा कि पाकिस्तान की ओर से किसी भी तरह की आतंकवादी गतिविधि का सरकार के निर्देश के अनुसार जवाब दिया जाएगा ।

और बढ़ जाता आतंकी गतिविधियों का स्तर

वायुसेना प्रमुख राकेश कुमार भदौरिया (Ramesh Kumar Bhadauria) ने दावा किया कि अगर बालाकोट एयरस्ट्राइक (Airstrike) नहीं होती तो आतंकी गतिविधियों का स्तर और बढ़ जाता । भदौरिया ने ये भी माना कि बालाकोट एयरस्ट्राइक के बाद भी वहां पर आतंकी गतिविधियां फिर से चलाई जा रही हैं । उन्होंने कहा कि भारत कभी भी हमला करने के बारे में नहीं सोचता, लेकिन अगर उसे कोई उकसाएगा तो सरकार जैसा तय करेगी वैसा करने के लिए हमारी सेना हर समय तैयार है । वायुसेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल ने कहा कि हमारी सेना पाकिस्तान की ओर से किसी भी आतंकवादी हमले का जवाब देने के लिए पूरी तरह से तैयार है । भदौरिया ने कहा कि भारतीय वायुसेना तिब्बत क्षेत्र के पास चीन द्वारा सैन्य बुनियादी ढांचे के घटनाक्रम पर नजर रख रही है ।

हमें अपने अतीत पर गर्व है : भदौरिया

भदौरिया ने कहा कि वायुसेना ने पिछले एक वर्ष में पाकिस्तान के बालाकोट में एक आतंकवादी प्रशिक्षण शिविर पर हमले समेत कई उपलब्धियों को हासिल किया है । उन्होंने कहा, हमें अपने अतीत पर गर्व है, लेकिन हम अतीत की अपनी उपलब्धियों के बल पर ही आराम से नहीं बैठ सकते हैं । हमारी कोशिश है कि भविष्य के लिए प्रभावशाली हवाई शक्तियों का निर्माण और उनका रखरखाव जारी रखें ।

पाकिस्तान की क्षमता को लेकर कहा

भदौरिया ने दोहराया कि भारत ने 27 फरवरी को एक पाकिस्तानी लड़ाकू विमान एफ-16 को मार गिराया था जबकि एक मिग-21 को खो दिया था । हालांकि पाकिस्तान इस बात से इनकार करता रहा है । वहीं भविष्य में भारतीय वायुसेना के संचार नेटवर्क को अवरुद्ध करने में पाकिस्तान की क्षमता को लेकर उन्होंने कहा कि सुरक्षित रेडियो संचार सुनिश्चित करने के लिए आवश्यक बुनियादी ढांचा बनाया गया है ।पाकिस्तानी एफ-16 को मार गिराने वाले विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान 27 फरवरी को पाकिस्तानी एफ-16 का पीछा करने के दौरान रेडियो संदेश नहीं सुन पाए थे क्योंकि पाकिस्तान ने संचार नेटवर्क को अवरुद्ध कर दिया था । हालांकि अब पाकिस्तान रेडियो संदेश नहीं सुन सकेंगे । वायुसेना प्रमुख ने पाकिस्तान की तरफ से हमारे संचार नेटवर्क को अवरुद्ध नही कर पाने की बात कही ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here