Wednesday, April 14, 2021

चन्द्रमा पर अब उतरने ही वाला है चन्द्रयान, पूरा हुआ ये अहम चरण

Must read

कोई भी संस्था जांच की निर्धारित दर से अधिक शुल्क नहीं ले सकेगी- लवानिया

भोपाल, मध्यप्रदेश के भोपाल जिला कलेक्टर अविनाश लवानिया ने जिले में कोरोना संबंधी जांच शुल्क की दर निर्धारित कर दी है। कोई भी लैब...

मुलायम के परिवार में घुसा बीजेपी का टिकट

यूपी में पंचायती चुनाव के लिए रणभूमि तैयार होता नज़र आ रहा है. पंचायत चुनाव के लिए नामांकन प्रक्रिया चल रही है। इस दौरान...

पंचायत चुनाव के तैयारियों को लेकर,डीएम और एसपी ने कियाऔचक निरीक्षण

Up के पीलीभीत में पंचायत चुनाव के नामाँकन की तैयारियों को लेकर डीएम पुलकित खरे और एसपी किरीट कुमार राठाैर द्वारा बीसलपुर, बरखेड़ा, बिलसंडा...

नागपुर में कोविड अस्पताल में लगी आग, इतने लोगों की मौत

नागपुर, महाराष्ट्र के नागपुर जिले में अमरावती के वेल ट्रीट कोविड अस्पताल में शुक्रवार रात को लगी भीषण आग में कम से कम चार...

चंद्रयान 2(Chandrayaan 2) ने चाँद की तरफ बढ़ते हुए एक और पड़ाव पार कर लिया है। रविवार शाम तकरीबन 6 चंद्रयान 2 ने चन्द्रमाँ की पांचवी कक्षा में प्रवेश किया। भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) ने रविवार शाम छः बजकर इक्कीस मिनट पर इस प्रक्रिया को पूरा किया। इस पड़ाव को पूरा करने के बाद इसरो ने वेबसाइट और ट्विटर पर इसकी जानकारी दी।

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) ने ट्वीट कर कहा ‘ आज (01 सितंबर, 2019) 1821 बजे IST पर चंद्रयान -2 अंतरिक्ष यान को चाँद की अंतिम और पांचवीं कक्षा में सफलतापूर्वक डाला गया। चांद की कक्षा में पहुंचने के बाद से यान के रास्ते में यह पांचवां और अंतिम बदलाव था। इसरो को कक्षा बदलने में 52 सेकंड का वक्त लगा। रविवार शाम चंद्रयान 2 को चाँद की आखिरी कक्षा में डालने के बाद सोमवार दोपहर 12 बजकर 45 मिनट पर चंद्रयान 2 के लैंडर ‘विक्रम’ को ऑर्बिटर से अलग करने की प्रक्रिया शुरू की गई। 1 बजकर 15 मिनट पर यह प्रक्रिया पूरी हुई। इसके बाद विक्रम लैंडर 119 किमी x 127 किमी की कक्षा में चक्कर लगाएगा जबकि ऑर्बिटर अपनी पुरानी कक्षा में ही चक्कर लगाता रहेगा। बता दें कि ऑर्बिटर और लैंडर के सही कार्यकरण की निगरानी बेंगलुरु के पास लालू में भारतीय डीप स्पेस नेटवर्क (IDSN) एंटेना के समर्थन से ISRO टेलीमेट्री, ट्रैकिंग और कमांड नेटवर्क (ISTRAC) द्वारा बेंगलुरु में मिशन ऑपरेशंस कॉम्प्लेक्स (MOX) से की जा रही है।

आगे क्या होगा ?

चंद्रयान-2 के ऑर्बिटर से अलग होने के बाद भी करीब 20 घंटे तक ‘विक्रम’ लैंडर ऑर्बिटर के पीछे-पीछे उसी कक्षा में चक्कर लगाता रहेगा। इस दौरान इसमें सबसे बड़ी चुनौती यान के आर्बिटर को भी नियंत्रित करने की होगी। वैज्ञानिकों को एक साथ आर्बिटर(Orbiter) और लैंडर विक्रम(Lander Vikram) की सटीकता के लिए काम करते रहना होगा। इसी बीच लैंडर को अगली कक्षा में प्रवेश से पहले उसके साथ एक प्रयोग किया जाएगा। लैंडर(Lander) को पूरी तरह रोककर तीन सेकंड के लिए विपरीत दिशा में चलाकर परखा जाएगा, और फिर वापस उसे अपनी कक्षा में आगे बढ़ाया जाएगा। इसरो इस टेस्ट के जरिए यह पता करेगा कि लैंडर ठीक से काम कर रहा है या नहीं। इस दौरान इसरो वैज्ञानिक करीब 3 सेकंड के लिए लैंडर का इंजन ऑन करेंगे। इस प्रक्रिया को मंगलवार सुबह 8 बजकर 15 मिनट पर शुरू किया जाएगा। इसके बाद विक्रम लैंडर 109 किमी की एपोजी और 120 किमी की पेरीजी में चांद के चारों तरफ अंडाकार कक्षा में चक्कर लगाएगा। फिर 4 सितंबर को लैंडर चन्द्रमा की सतह की तरफ आगे बढ़ते हुए उसकी सबसे नजदीकी कक्षा में प्रवेश कर चाँद का चक्कर लगाना शुरू करेगा। इस कक्षा की एपोजी 36 किमी और पेरीजी 110 किमी होगी। अगले तीन दिनों तक विक्रम लैंडर इसी अंडाकार कक्षा में चांद का चक्कर लगाता रहेगा। इस दौरान इसरो वैज्ञानिक विक्रम लैंडर और प्रज्ञान रोवर(Rover Pragyan) के सेहत की जांच करते रहेंगे। इसके बाद 6-7 की दरम्यानी रात में रोवर ‘प्रज्ञान’ लैंडर से अलग हो सॉफ्ट लैंडिंग करेगा। इसके साथ ही भारत चाँद पर सॉफ्ट लैंडिंग करने वाला चौथा और चाँद के दक्षिणी छोर पर जाने वाला पहला देश बन जाएगा

- Advertisement -

More articles

Latest article

मंदिर में शादी कर लांखो की नकदी और जवैलरी लेकर रफूचक्कर हुई लूटेरी दुल्हन

जनपद मुज़फ्फरनगर के थाना भौरा कलां क्षेत्र के गांव मोहम्मदपुर रायसिंह निवासी किसान देवेंद्र मलिक एक महिला और एक रिस्तेदार के हाथों ठगी का...

अजमेर में भगवान झूलेलाल की ज्योत एवं प्रतिमा का जुलूस निकाला

अजमेर,  राजस्थान में अजमेर में सिंधी समाज के इष्टदेव भगवान झूलेलाल के अवतरण दिवस चेटीचंड के मौके पर आज भगवान झूलेलाल की ज्योत एवं...

राजनांदगांव में कोरोना संक्रमण बढ़ा, सुविधाओं को हो रहा विस्तार

राजनांदगांव,  छत्तीसगढ़ की राजनांदगांव नगर पालिका सहित जिले में एक ही दिन में 1284 कोरोना संक्रमित मरीज सामने आये और लगभग दर्जनभर लोगों की...

जीटीए का स्थायी राजनीतिक समाधान निकाला जायेगा: शाह

लेबोंग,  केंन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने मंगलवार को दार्जिलिंग हिल्स के लोगों को आश्वासन दिया कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) गोरखालैंड क्षेत्रीय प्रशासन...

एम्स में खाली बेड कोरोना मरीजों के लिए-शिवराज

भोपाल,  मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रदेश में कोरोना संक्रमण के बढ़ते प्रकरण के संबंध में चिंता जाहिर करते हुए कहा कि...