Saturday, November 28, 2020

कारगिल युद्ध में लगी थी 17 गोलियां, लेकिन डटे रहे कारगिल हीरो परमवीर चक्र विजेता योगेंद्र यादव, जानिए पूरी दास्तां

Must read

M.P : वन विहार का 27वां मान्यता दिवस आज, बर्ड वाचिंग कैम्प एवं नेचर वॉक का होगा आयोजन

भोपाल : राजधानी भोपाल के राष्ट्रीय उद्यान-जू, वन विहार का 27वां मान्यता दिवस आज (मंगलवार को) धूमधाम से मनाया जाएगा। इस अवसर पर वन्य...

IIMC के सत्रारंभ समारोह का दूसरा दिन सम्पन, निर्देशक सुभाष घई ने कहा – दिमाग से नहीं, दिल से सुनाएं कहानी…

नई दिल्ली : 'सिनेमा हो या मीडिया, आप कहानी दिमाग से नहीं, दिल से सुनाएं। और जब आप दिल से कहानी सुनाएंगे, तभी आप...

उत्तराखंड में आज मनाई जा रही है दिवाली जानिए क्यों

पुरे देश में दीपावली कार्तिक मास की अमावस्या को मनाई जाती है। लेकिन आपको यह सुन कर हैरानी होगी की उत्तराखंड में दीपावली के...

श्रीनगर में सेना के जवानों पर हुआ आतंकी हमला, 2 जवान हुए शहीद

जम्मू-कश्मीर (Jammu kashmir) के श्रीनगर इलाके से बड़ी खबर आ रही है। खबर है कि आतंकियों ने एचएमटी (HMT) इलाके में सुरक्षाबलों पर हमला...

21वां कारगिल विजय दिवस आज 26 जुलाई के दिन मनाया जा रहा है। वहीं इस मौके पर न्यूज़ नशा कारगिल युद्ध के हीरो और परमवीर चक्र विजेता योगेंद्र यादव से मिला। योगेंद्र यादव की बात करें तो वह कारगिल युद्ध के हीरो हैं और उन्हें परमवीर चक्र भी मिल चुका है। योगेंद्र यादव बुलंदशहर के औरंगाबाद अहीर गांव के रहने वाले हैं।

कारगिल युद्ध के हीरो योगेंद्र यादव ने न्यूज़ नशा को बताया कि कारगिल युद्ध में आखिर क्या हुआ था। योगेंद्र यादव ने बताया कि किस तरह इस सैनिक ने करगिल में दुश्मन के छक्के छुड़ाए और प्राय अमृत अवस्था में दुश्मन पर बमबारी कर फतेह हासिल की।

कारगिल युद्ध के हीरो और परमवीर चक्र विजेता योगेंद्र यादव ने बताया कि युद्ध सैनिक ही नहीं बल्कि देश का हर शख्स लड़ता है। सीमा पर युद्ध जरूर जवान लड़ता है, लेकिन देश का नागरिक मानसिक और आर्थिक रूप से युद्ध लड़ते हैं।

बुलंदशहर के रहने वाले योगेंद्र यादव ने कारगिल युद्ध के मंजर को याद करते हुए बताया कि 18 हज़ार फ़ीट की ऊंचाई पर दुश्मन घात लगाए बैठा था। दुश्मनों ने कभी नहीं सोचा था,की वह यहां से जिंदा बचकर वापस जा पाएंगे। लेकिन वह यह भूल गए की भारत माता की धरती पर शेर और शेरनियां पैदा होती हैं। देश के जवान ऊंची पहाड़ियों को अपने खून से पावन कर ऊपर चढ़ते चले गए और दुश्मन का खात्मा किया। जवानों ने तोरोलिंग, टाइगर हिल, बटालिक और तरफ की चौटियों को फतह करते हुए विजय की गाथा लिखी।

योगेंद्र यादव कहते हैं, कि आज देश की तीनों सेनाएं बहुत मजबूत स्थिति में है और दुश्मनों की आंख निकलने में पूरी तरह सक्षम हैं। अगर देश के सैनिक में एक भी सांस बाकी है, तो वह मरते दम तक मातृभूमि को छोड़ता नहीं हैं। चीन को लेकर योगेंद्र यादव ने कहा कि दुश्मन को हराने के लिए बुलेट के साथ वालेट की भी जरूरी होता है। हालांकि चीन को सबक सिखाने के लिए सरकार को ओर भी कदम उठाने की जरूरत है।

कारगिल युद्ध के मंजर को याद करते हुए योगेंद्र यादव कहते हैं कि टाइगर हिल पर हम सात जवान दुश्मन से लोहा ले रहे थे, मैंने अपने 06 साथियों को अपने सामने खोया है। किसी के सिर में गोली लगी थी तो किसी के शरीर से खून की धार बह रही थी। मेरे शरीर मे भी 17 गोलियां मारी गई थी लेकिन भारत माता को मुझे बचाना था।

- Advertisement -

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest article

किसान की आय बढ़ाने वाला कानून सरकार कब ला रही है : अखिलेश यादव

लखनऊ : किसान आंदोलन (Farmer Protest) के प्रति सरकार के रवैए पर तीखी प्रतिक्रिया व्‍यक्‍त करते हुए समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष और यूपी के...

चीनी वैज्ञानिकों का Corona Virus को लेकर दावा- भारत ने दुनियाभर में फैलाया वायरस

नई दिल्ली : दुनियाभर में कोरोना वायरस फैलाने वाला चीन अब भारत के सिर पर कोरोना का दोष मारन। ये बात कुछ अजीब लग...

LJP का 20वां स्थापना दिवस आज, चिराग ने पर्सनल अटैक पॉलिटिक्स के लिए नीतीश-तेजस्वी दोनों को दोषी बताया

आज एलजेपी का 20वां स्थापना दिवस है और पार्टी कोरोना से बचाव के बीच LJP स्थापना दिवस समारोह मनाएगी. पार्टी ने पहले ही यह...

U.P : केंद्रीय मंत्री साध्वी निरंजन ज्योति हुई कोरोना संक्रमित, AIIMS दिल्ली किया रेफर

कानपुर : केंद्रीय ग्रामीण विकास राज्यमंत्री और फतेहपुर की सांसद साध्वी निरंजन ज्योति कोरोना संक्रमित होने पर उन्हें बेहतर इलाज के लिए कानपुर के...

PM मोदी ज़ायडस बायोटेक पहुंचे, कोरोना ट्रायल वैक्सीन का करेंगे निरीक्षण

अहमदाबाद : एक ओर अहमदाबाद में जहां भारत बायोटेक की 'कोवैक्सीन' का परीक्षण शुरू हो गया है वहीं दूसरी ओर जायडस फार्मा की कोरोना...