मोदी का सबसे मारक व्यंग, कहा ले लो ज़मानत का आनंद!

0
113

लोकसभा में पीएम मोदी ने कहा कि जय जवान, जय किसान, जय विज्ञान के बाद अब जय अनुसंधान की जरूरत है | हमने अपने देश के भीतर ही ऐसा हीन भाव पैदा कर दिया, हमें पर्यटन पर और बल देने की जरूरत है | पीएम मोदी ने कहा कि देश को आधुनिक आधारभूत ढांचे की ओर लेकर जाना है, दुनिया से जो भी व्यवस्थाएं मिल सकती हैं उनका उपयोग करना है, सामान्य जन की जीवन को सुगम बनाना है | उन्होंने कहा कि भ्रष्टाचार के खिलाफ हमारी लड़ाई जारी रहेगी, हमें इसलिए कोसा जा रहा कि फलाने को जेल में क्यों नहीं डाला, हम कानून से चलने वाले लोग हैं और किसी को जमानत मिली है तो वह इसका आनंद ले | लेकिन करप्शन के खिलाफ हमारी लड़ाई जारी रहेगी, हमें गलत रास्ते पर जाने की जरूरत नहीं है | पीएम का यह बयान कांग्रेस नेता अधीर रंजन के उस बयान के जवाब के तौर पर आया जिसमें उन्होंने कहा था कि सरकार सोनिया गांधी और राहुल गांधी को जेल में क्यों नहीं डाल देती |

पीएम ने कहा कि चीजों को बदलने में काफी मेहनत लगती है, 70 साल की बीमारियों को 5 साल में दूर करना कठिन होता है लेकिन हमने वो दिशा पकड़ी और कठिनाईयों के बावजूद उस दिशा को छोड़ा नहीं | उन्होंने कहा कि हम न अपने लक्ष्य से हटे न पीछे मुढ़े | पीएम मोदी ने कहा कि हमने शौचालय को सिर्फ चार दीवार नहीं समझा, हमने हर व्यवस्था के पीछे के मकसद को समझा, जनता ने चूल्हा मांगा था न बिजली, पहले प्रश्न उठना था कि क्यों नहीं कर रहे अब सवाल उठता है क्यों कर रहे हैं | उन्होंने कहा कि गरीबों का कल्याण हो लेकिन साथ में आधुनिक भारत भी आगे बढ़े | पीएम मोदी ने देश को आधुनिक बनाने की योजनाएं भी साथ में लागू होनी चाहिए |

पीएम मोदी ने कहा कि कल कांग्रेस नेता गिना रहे थे किसने किया, किसने किया आज 25 जून है बताओ देश में आपातकाल किसने लगाया, जब देश की आत्मा को कुचल दिया गया था | देश की मीडिया को दबोच दिया गया | हिन्दुस्तान को जेलखाना बना दिया गया, सिर्फ इसलिए कि किसी की सत्ता न चली जाए | पीएम मोदी ने कहा कि न्यायपालिका का अनादर कैसे होता है वह उसका जीता-जागता उदाहरण है | आज हम 25 जून को लोकतंत्र के प्रति अपना समर्पण फिर एक बार देना होगा | संविधान को कुचलने का पाप कोई भूल नहीं सकता, यह दाग कभी मिटने वाला नहीं है | इस दाग को बार-बार याद करना चाहिए ताकि फिर से कोई ऐसा पैदा न हो जो इस रास्ते पर जाए | लोकतंत्र के प्रति आस्था का महत्व समझाने के लिए इसे याद करने की जरूरत है किसी को भला-बुरा कहने के लिए नहीं |

पीएम मोदी ने कहा कि विपक्ष के भाषणों में बाबा साहब के नाम का जिक्र होता तो अच्छा होता | लेकिन क्या करें एक ऊंचाई पर जाने के बाद दिखता नहीं जबकि पानी और बांधों के लिए बाबा साहब का काम सर्वोपरि है | सरदार सरोबर बांध की नींव पंडित नेहरू ने रखी थी लेकिन दशकों तक मंजूरी नहीं मिली | उस समय जो 6 हजार करोड़ का प्रोजेक्ट था वह पूरा होते-होते 60 हजार करोड़ तक पहुंच गया | मुख्यमंत्री रहते इसे पूरा कराने के लिए मुझे अनशन पर बैठना पड़ा था, आज इससे 4 करोड़ लोगों को पानी मिल रहा है | पानी की तकलीफ राजस्थान और गुजरात के लोग जानते हैं और इसी वजह से हमने जल शक्ति मंत्रालय बनाया है | जल संचय पर हमें बल देना पड़ेगा नहीं तो जल संकट बढ़ता चला जाएगा | पानी का संकट गरीब और महिलाओं को सबसे ज्यादा दिक्कत देता है |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here