जल्द होगी भारत-चीन के सैन्य अधिकारियों और डब्ल्यूएमसीसी की अगली बैठक : विदेश मंत्रालय

0
44

नई दिल्ली। भारत ने पूर्वी लद्दाख में सैन्य तनाव कम करने के लिए दोनों देशों के सैन्य अधिकारियों की पिछली बैठक की इस सहमति को दोहराया है कि दोनों पक्ष अग्रिम मोर्चे पर अतिरिक्त सैनिक नहीं भेजें तथा जमीनी स्तर पर यथास्थिति में एक तरफा रूप से कोई बदलाव नहीं करें।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव ने गुरुवार को पूर्वी लद्दाख की स्थिति के बारे में पूछे गए सवालों के उत्तर में सैन्य अधिकारियों की छठी बैठक का हवाला दिया जिसके बाद एक संयुक्त वक्तव्य भी जारी किया गया था। वक्तव्य के अनुसार दोनों देशों ने किसी प्रकार की गलतफहमी और स्थिति के गलत मूल्यांकन से बचने के लिए परस्पर संवाद-संपर्क को मजबूत बनाने का निर्णय किया था।

दोनों पक्षों ने यह भी तय किया था कि कोई ऐसा कदम ना उठाया जाए जिससे स्थिति और जटिल हो। प्रवक्ता ने कहा कि सामान्य स्थिति कायम करने का रास्ता यह है कि दोनों देश यथास्थिति में एक तरफा रूप से कोई बदलाव ना करें तथा टकराव वाले क्षेत्रों से सैनिकों को पूरी तरह पीछे हटाने के लिए विचार-विमर्श जारी रखें।प्रवक्ता ने कहा कि दोनों पक्षों ने तय किया है कि वरिष्ठ सैन्य अधिकारियों की अगली बैठक शीघ्र होगी। इसके साथ ही विचार विमर्श एवं समन्वय संबंधित तंत्र (डब्ल्यूएमसीसी) की अगली बैठक भी शीघ्र होने की संभावना है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here