Friday, February 26, 2021

हिंदू पुजारियों पर Corona पीड़ितों की अंत्येष्टि के लिए ज्यादा शुल्क वसूलने का आरोप

Must read

कटिहार में दो वाहनों की टक्कर में तीन घायल, इतने की हुई मौत

कटिहार, बिहार में कटिहार जिले के कुर्सेला थाना क्षेत्र में मंगलवार की सुबह दो वाहनों के बीच हुयी टक्कर में छह लोगों की मौत हो...

अर्जेंटीना में चीन की ‘सिनोफार्म’ वैक्सीन को मिली मंजूरी

ब्यूनस आयर्स, अर्जेंटीना ने चीन की कोरोना वैक्सीन ‘सिनोफार्म’ के इस्तेमाल को मंजूरी दे दी है। ला नेशियन अखबार ने सोमवार को यह जानकारी दी। देश...

कोरोना संक्रमण के दो दिन से 13 हजार से अधिक नये मामले

दिल्ली ,देश में कुछ दिनों से कोरोना संक्रमण में तेजी के साथ दो दिन से 13 हजार से अधिक नये मामले सामने आ रहे...

ऐसी है कुराबर की जल-प्रदाय योजना

मध्यप्रदेश के राजगढ़ जिले के कुराबर में 37 करोड़ रूपये की लागत से जल-प्रदाय योजना का कार्य किया जा रहा है। परियोजना क्रियान्वयन इकाई...

दक्षिण अफ्रीका में कुछ हिंदू पुजारियों (Hindu priests) पर कोविड-19 के कारण मरने वाले लोगों की अंत्येष्टि के लिए अधिक शुल्क वसूले जाने के आरोप लगाये गये हैं। डरबन में क्लेयर एस्टेट क्रिमेटोरियम में प्रबंधक प्रदीप रामलाल ने ऐसा करने वाले पुजारियों की निंदा की है। उन्होंने दावा किया है कि पुजारी अंतिम संस्कार के लिए 1,200 रेंड (79 डॉलर) और 2,000 रेंड (131 डॉलर) के बीच शुल्क वसूल कर रहे हैं।

दक्षिण अफ्रीका में हिंदू धर्म एसोसिएशन के सदस्य रामलाल ने कहा कि उन्हें ऐसे अनेक परिवारों से अंत्येष्टि के लिए पुजारियों द्वारा अधिक शुल्क वसूले जाने की शिकायतें मिली हैं जिनके किसी परिजन का कोविड-19 के चलते निधन हो गया। उन्होंने ‘वीकली पोस्ट’ समाचार पत्र में कहा, ‘‘यह सही नहीं है। हमारे शास्त्रों के अनुसार, यह समुदाय के लिए हमारी सेवा है। यदि कोई परिवार किसी पुजारी को दान देना चाहता है, तो यह ठीक है लेकिन पुजारियों को लोगों से शुल्क नहीं वसूलना चाहिए।’’

हाल के हफ्तों में, कोविड-19 के प्रकोप तथा वायरस के नए स्वरूप के कारण अंत्येष्टि स्थलों पर कर्मी दो पाली में काम कर रहे हैं। दक्षिण अफ्रीका में भारतीय मूल के लोगों की आबादी करीब 14 लाख है। उन्होंने समुदाय से कहा कि वे आज की कठिन परिस्थितियों में इस तरह के शोषण से बचें और अंत्येष्टि स्वयं ही कर लें, इसके लिए वे पहले से रिकॉर्डेड वीडियो की मदद ले सकते हैं।

दक्षिण अफ्रीकी हिंदू महासभा के अध्यक्ष अश्विन त्रिकमजी ने कहा कि उनके पास सभा के फेसबुक पृष्ठ पर मान्यता प्राप्त पुजारियों की एक सूची है, जिनसे परिवार बिना किसी शुल्क के अंतिम संस्कार करने के लिए संपर्क कर सकते हैं। बीते दो महीनों में दक्षिण अफ्रीका में कोविड-19 के मामले तथा संक्रमण के कारण मौतों की संख्या बहुत तेजी से बढ़ी है।

- Advertisement -

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest article

भाजपा राज में जनता कराहने लगी-अखिलेश यादव

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा है कि भाजपा राज में जनता कराहने लगी है। मंहगाई के चूल्हे...

पुलिस ने की माल में चोरी, देखिए ये वीड़ियो

वर्दी के नीचे कई शर्ट पहन कर चोरी कर ले जा रहा गोमतीनगर विस्तार का चोरकट सिपाही मेटल डिटेक्टर से पकड़ा गया,कर्मचारियों ने की...

पूर्वांचल दौरे पर अखिलेश यादव, कार्यकर्ताओं ने जोरदार किया स्वागत

सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव वाराणसी पहुंच गए। वह तीन दिन के पूर्वांचल के दौरे पर आए हैं। वाराणसी एयरपोर्ट...

पारंपरिक ऐपण कलाकृति को मिल रहा नया आयाम

उत्तराखंड की पारंपरिक ऐपण कलाकृति को नया आयाम मिल रहा है। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने हालिया दिल्ली दौरे पर केंद्रीय मंत्रियों को ऐपण...

फिल्म ‘गंगूबाई काठियावाड़ी में कैसे ली Alia ने फिल्म में एंट्री

बॉलीवुड फिल्म मेकर संजय लीला भंसाली की फिल्म ‘गंगूबाई काठियावाड़ी’ (Gangubai Kathiawadi) का टीज़र हाल ही में रिलीज किया गया जिसमें आलिया भट्ट (Alia...