Saturday, November 28, 2020

गोरखपुर…अस्‍ताचलगामी सूर्य को व्रती महिलाओं ने दिया अर्घ्‍य, परिवार और देश-दुनिया के खुशहाली की कामना की

Must read

कोरोना को लेकर आज से विशेष अभियान, मुख्य सचिव ने कहा- मास्क नहीं पहनने वालों पर होगी कार्रवाई, अलर्ट जारी…

कोरोना में लगातार इजाफा होने के बाद बिहार के मुख्य सचिव दीपक कुमार ने राज्य के सभी जिलाधिकारियों व पुलिस अधीक्षकों के साथ वीडियो...

सुशील मोदी ने तेजस्वी को दी नसीहत, कम वोटों से हार का ठीकरा आयोग पर ना फोड़ें…NDA भी क्लोज फाइट में हारा

विधानसभा चुनाव में मिली हार के बाद आरजेडी नेता तेजस्वी यादव लगातार चुनाव आयोग पर सवाल खड़े कर रहे हैं. तेजस्वी का आरोप है...

Corona Vaccine पर चल रही कामों का जायजा लेंगे PM Modi, करेंगे तीन शहरों का दौरा

देशभर में कोरोना वैक्सीन (Corona Vaccine) पर चल रही काम का जायजा लेने पीएम मोदी (PM Modi) तीन शहरों का दौरा करेंगे। प्रधानमंत्री कार्यालय...

दिल्ली से गाजियाबाद जाने के लिए कराना होगा कोरोना रैंडम टेस्ट, तब मिलेगी गाजियाबाद में एंट्री

देश में फैली वैश्विक महामारी कोरोना वायरस ने जिस तरीके से अपने पैर देशभर में प्रसार लिए थे जिसमे केंद्र सरकार को संपूर्ण भारत...

गोरखपुरः सूर्योपासना के चार दिवसीय छठ पर्व पर शुक्रवार की शाम पूर्वांचल के घाट रोशनी से नहा उठे. 36 घंटे के व्रत के दौरान निर्जला व्रती महिलाएं घाटों पर पहुंचीं. सभी ने अस्ताचलगामी सूर्य को अर्घ्य दिया. मंगलगीतों से घाट भक्ति के रंग में डूबे रहे. महिलाओं ने परिवार के साथ सूर्योपासना के पर्व पर पुत्र रत्‍न की प्राप्ति के साथ पुत्र की दीर्घायु और परिवार की सुख, समृद्धि और शांति की कामना की. इस दौरान गोरखपुर के सांसद रविकिशन ने दीप प्रज्‍जवलित कर देश और दुनिया के खुशहाली की कामना की.

वैश्विक महामारी में भी छठ मईया के व्रत रहने वाली महिलाओं की आस्‍था में कोई कमी नहीं आई है. गोरखपुर के सूर्यकुंड पर हजारों की संख्‍या में व्रती महिलाएं परिवार के साथ पहुंची. हाथों में गन्ना, सि‍र पर डाला ऊपर से पीला वस्त्र लिए परिवार के पुरुष, युवा और बच्चे इसमें आगे रहे. उसके पीछे महिलाएं रंग-बि‍रंगे परिधानों में सोलह श्रृंगार कि‍ए चलती रही. इस दौरान छठ मईया के गीत वातावरण में गूंजते रहे. व्रती महिला संगीता श्रीवास्‍तव ने बताया कि छठी मईया के व्रत और पूजा की बहुत मान्‍यता है. यही वजह है कि छठ मईया का लोग व्रत रखते हैं. सफाई का विशेष महत्‍व है. चार दिन का कठिन व्रत होता है. संतान और परिवार के लिए व्रत रहा जाता है. मन्‍नत जो भी मांगता है, वो छठी मईया पूरी करती हैं.

सूर्यकुंड धाम पर पहुंचने के बाद व्रती महिलाएं अपने परिवार के साथ उस स्थल पर पहुंचीं, जहां छठ की वेदी पहले से तैयार रही है. सूर्यकुंड में शुद्ध जल का स्वयं और परिवार के सदस्यों के ऊपर छिड़काव करने के बाद महिलाओं ने लोटे में जल भरा फिर छठ माता की वेदी को मान्यतानुसार सजाया-संवारा. वहां पर दीपक जलाया और डाला में रखी पूजन सामग्री को गाड़े गए गन्ने के समीप रखा और विधिवत पूजन शुरू किया. इसके बाद फिर अर्घ्य दिया. किरण ने बताया कि वे 8 साल से व्रत रह रही हैं. मां की महिमा के बारे में सभी को पता है. परिवार और संतान की सुख की कामना के साथ इस व्रत को रहा जाता है.

व्रती महिला रितु कश्‍यप ने बताया कि बहुत ही श्रद्धा वाला ये व्रत है. जिनती भी मनोकामना होती है उसे छठ मईया पूरी कर देती है. अस्‍ताचलगामी सूर्य को अर्घ्‍य आज दिया जा रहा है. कल सुबह उगते हुए सूर्य को अर्घ्‍य दिया जाएगा. बच्‍चों और परिवार की सुख-समृद्धि के लिए ये व्रत रहा जाता है. उनकी कृपा से ही आज हम यहां आए हैं. उन्‍होंने कहा कि मां की महिमा के आगे सभी नतमस्‍तक हो जाते हैं. मां सारे देश और दुनिया को कष्‍ट से दूर करें और सुख-समृद्धि दें.

सूर्यकुंड धाम जीर्णोद्धार समिति के सचिव शीतल गुप्‍ता ने बताया कि बरसों से यहां पर महिलाएं छठ का व्रत करने के लिए आती हैं. उन्‍होंने कहा कि वैश्‍िवक महामारी के कारण कोविड-19 के नियमों का पालन किया जा रहा है. सोश्‍ाल डिस्‍टेसिंग का पालन कराया गया है. उन्‍होंने बताया कि हर साल की अपेक्षा इस साल भीड़ कम हुई है. सूर्यकुंड धाम जीर्णोद्धार समिति के संयोजक अमरदीप गुप्‍ता ने बताया कि हजारों की संख्‍या में यहां पर हर साल महिलाएं आती हैं. उन्‍होंने बताया कि इस बार कोरोना को देखते हुए सोशल डिस्‍टेंसिंग का पालन कराया गया है. जिन लोगों के पास मास्‍क नहीं था उन्‍हें मास्‍क भी उपलब्‍ध कराया गया है.

गोरखपुर के राप्ती नदी, राजघाट, शंकरघाट, तकिया, डोमिनगढ़, रामगढ़ताल, दाउदपुर मंदिर पोखरा, महेसरा ताल, विष्णु मंदिर असुरन, खैरया पोखरा, शाहपुर में सूर्य को अर्घ्‍य अर्पण कि‍या. साथ ही गिरधरगंज, भैरोपुर पोखरा, खोराबार पोखरा, तरकुलहा देवी मंदिर पोखरा, गोररा नाला, तूरानाला, महेसरा घाट सहित कई मुहल्लों में अस्थायी बनाए गए तालाब पर जाकर महिलाओं ने छठ का विधिवत पूजन किया.

- Advertisement -

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest article

चीनी वैज्ञानिकों का Corona Virus को लेकर दावा- भारत ने दुनियाभर में फैलाया वायरस

नई दिल्ली : दुनियाभर में कोरोना वायरस फैलाने वाला चीन अब भारत के सिर पर कोरोना का दोष मारन। ये बात कुछ अजीब लग...

LJP का 20वां स्थापना दिवस आज, चिराग ने पर्सनल अटैक पॉलिटिक्स के लिए नीतीश-तेजस्वी दोनों को दोषी बताया

आज एलजेपी का 20वां स्थापना दिवस है और पार्टी कोरोना से बचाव के बीच LJP स्थापना दिवस समारोह मनाएगी. पार्टी ने पहले ही यह...

U.P : केंद्रीय मंत्री साध्वी निरंजन ज्योति हुई कोरोना संक्रमित, AIIMS दिल्ली किया रेफर

कानपुर : केंद्रीय ग्रामीण विकास राज्यमंत्री और फतेहपुर की सांसद साध्वी निरंजन ज्योति कोरोना संक्रमित होने पर उन्हें बेहतर इलाज के लिए कानपुर के...

PM मोदी ज़ायडस बायोटेक पहुंचे, कोरोना ट्रायल वैक्सीन का करेंगे निरीक्षण

अहमदाबाद : एक ओर अहमदाबाद में जहां भारत बायोटेक की 'कोवैक्सीन' का परीक्षण शुरू हो गया है वहीं दूसरी ओर जायडस फार्मा की कोरोना...

Breaking news : यूपी में लव जिहाद पर लगाम लगाने वाले अध्यादेश को राज्यपाल की मिली मंजूरी, आज से लागू हुआ कानून

उत्तर प्रदेश में लव जिहाद के खिलाफ राज्य सरकार द्वारा पारित अध्यादेश को अब राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने भी मंजूरी दे दी है। इसी...