Saturday, November 28, 2020

बाढ़ की समस्या का निकालेंगे स्थाई हल : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ

Must read

रायसेन : प्रसिद्ध बौद्ध पर्यटन स्थल सांची में इस बार नहीं होगा महाबोधि महोत्सव, जाने क्यों

रायसेन : विश्व प्रसिद्ध पर्यटन स्थल सांची में प्रत्येक वर्ष नवम्बर माह के अंतिम रविवार को आयोजित होने वाला महाबोधि महोत्सव कोरोना महामारी के...

सुशील मोदी ने तेजस्वी को दी नसीहत, कम वोटों से हार का ठीकरा आयोग पर ना फोड़ें…NDA भी क्लोज फाइट में हारा

विधानसभा चुनाव में मिली हार के बाद आरजेडी नेता तेजस्वी यादव लगातार चुनाव आयोग पर सवाल खड़े कर रहे हैं. तेजस्वी का आरोप है...

बक्सर में अपराधियों का तांडव, घर में घुसकर पति-पत्नी को मारी गोली

इस वक्त की बड़ी खबर बक्सर से आ रही है, जहां बेखौफ अपराधियों का तांडव जारी है. हर दिन अपराधी पुलिस को चैलेंज करते...

Bihar: Lalu Yadav का कथित ऑडियो वायरल, विधायक ललन पासवान को कही ये बात तो लोग सुन कर हुए हैरान

  सजायाफ्ता लालू प्रसाद यादव इन दिनों रिम्स निदेशक के बंगले में हैं और वहीं से बिहार के राजनीति में एक्टिव हैं. इन दिनों लालू...

मुक्यमंत्री ने कहा -” नहीं होने देंगे किसानों के साथ नाइंसाफी, दंडित होंगे ऐसा करने वाले”

लखनऊ , 22 अक्टूबर: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि शीघ्र ही सरकार बाढ़ की समस्या का स्थाई हल निकालेगी। इस पर कार्ययोजना तैयार हो रही है। जब तक ऐसा नहीं होता तब तक बाढ़ से सुरक्षा के लिए सभी संवेदनशील जगहों पर समय से मानक के अनुसार काम होगा। यह हो भी रहा है। यही वजह है कि हिमालय से लगे तराई के इलाके में इस साल औसत से दो-तीन गुना बारिश हाेने के बावजूद कहीं भी बाढ़ के कारण गंभीर समस्या नहीं उत्पन्न हुई।

मुख्यमंत्री गुरुवार को यहां अपने आवास पर बाढ़ प्रभावित 19 जिलों के 348511 किसानों को उनकी फसलों की क्षतिपूर्ति के बदले 113.21 करोड़ रुपये का ऑनलाइन भुगतान कर रहे थे। अपने संबोधन में उन्होंने कहा कि हालांकि आपकी मेहनत और क्षति की तुलना में यह रकम मामूली है, पर मरहम जैसी यह रकम आपके हितों की प्रति हमारी प्रतिबद्धता का सबूत है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुआई और मार्गदर्शन में प्रदेश सरकार किसानों के हितों के प्रति प्रतिबद्ध है। कोरोना के असाधारण संकट से लेकर वैश्विक आर्थिक मंदी तक अगर भारत की अर्थव्यवस्था पर कोई खास असर नहीं रहा तो इसकी वजह खेतीबाड़ी की मजबूती और इसे अपने खून-पसीने से लगातार बेहतर बनाने वाले हमारे किसान भाई ही रहे।

ऐसे में हमारा भी फर्ज है कि किसानों को उनके उपज का वाजिब दाम मिले। किसी भी स्तर पर उनका शोषण न हो। हर जिले के डीएम को इस बाबत स्पष्ट निर्देश दिये जा चुके हैं। जो भी किसानों का शोषण करेगा उसे दंडित किया जाएगा। केंद्र और प्रदेश सरकार ने किसानों की आय दोगुना करने के लिए पीएम सिंचाई, पीएम फसल बीमा, पीएम किसान सम्मान निधि जैसी कई योजनाएं भी चला रही हैं।

कार्यक्रम के शुरू में अपर मुख्य सचिव राजस्व रेणुका कुमार ने सबका स्वागत किया। राहत आयुक्त संजय गोयल ने आभार जताया। कार्यक्रम में मुख्य सचिव आरके तिवारी, अपर मुख्य सचिव सूचना नवनीत सहगल, अपर मुख्य सचिव मुख्यमंत्री एसपी गोयल, प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री संजय प्रसाद और सूचना निदेशक शिशिर सिंह आदि मौजूद रहे।

- Advertisement -

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest article

Uttar Pradesh : भ्रष्टाचार पर योगी सरकार ने चलाया दोहरा प्रहार, तैनात किए दो हाईटेक चौकीदार

PWD टेंडरों के आवंटन में भ्रष्‍टाचार रोकेगा योगी का प्रहरी प्रहरी साफ्टवेयर के जरिये तय होगी टेंडर आवंटन की पूरी प्रक्रिया कृषि भूमि...

देश पर पड़ी मंदी की मार, दूसरी तिमाही की GDP ग्रोथ हुई -7.5

कोरोना वायरस संकट के बाद 27 नवंबर को दूसरी बार GDP ग्रोथ के आंकड़े सामने आए हैं। इस वित्त वर्ष 2020-21 की दूसरी यानी...

कोविड-19 को लेकर प्रशासन की बड़ी कार्रवाई, कई दुकानों को किया सील

रोहतास जिले के डेहरी इलाके में एसडीएम और एएसपी ने संयुक्त अभियान चलाकर मॉल व कई बड़े दुकानों में छापेमारी की। एसडीएम व एएसपी...

‘कोरोना वारियर्स’ की मेरी लिस्ट में पत्रकारों का स्थान बेहद खास : केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन

नई दिल्ली : ''कोरोना महामारी की रोकथाम में पत्रकारों ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। कोरोना वारियर्स की मेरी लिस्ट में पत्रकारों का स्थान बेहद...

सदन में तेजस्वी बोले, घर में हमे बड़ों का सम्मान करना सिखाया गया है तो नीतीश खुद को रोक नहीं पाए और जानिए क्या...

नई सरकार के गठन के बाद बिहार विधानसभा का पहले सत्र का आज अंतिम दिन है। सदन में अंतिम दिन तेजस्वी यादव का 56...