Saturday, November 28, 2020

Exclusive – कुशीनगर के किसान बोले – बीजेपी का काम सिर्फ कागज़ों पर,सपा राज में गन्ना किसान थे खुश

Must read

गोपालगंज से आयी ये दिल दहलाने वाली ख़बर

गोपालगंज से अभी -अभी बड़ी खबर आ रही है जहां सरेआम अपराधियाें ने ताबड़तोड़ फायरिंग की है। बताया जा रहा है कि इस हमले...

छपरा DM की IRS अधिकारी बनी दुल्हन, बिना बैंड बाजा की हुई हाईप्रोफाइल शादी

छपरा के डीएम सुब्रत कुमार सेन की पूर्णिया में सादगी के साथ शादी हुई. उन्होंने आईआरएस अधिकारी सुचिस्मिता के साथ शादी की. सुचिस्मिता आयकर...

मुज़फ्फरनगर : यौन शोषण की शिकार महिला ने जहर खाकर दी जान

जनपद मुज़फ्फरनगर में एक युवक द्वारा एक महिला को शादी का झांसा देकर उसका यौन शोषण करने का मामला सामने आया है जिसमें महिला...

फैन ने रितिक के नाम पर रखा अपने बेटे का नाम, वजह जानकर हो जाएंगे आप भी हैरान

बॉलीवुड सेलेब्स के फैंस देश-विदेश में फैले हुए हैं। कई ऐसे फैंस भी हैं जो इन सितारों को अपना आइडल भी मानते हैं और...

 

उत्तर प्रदेश के कुशीनगर जनपद में न्यूज़ नेशन संवाददाता गुड्डू कुमार ने किसानों से बातचीत की। किसानों ने इस दौरान अपना पक्ष रखा। जहां एक तरफ बीजेपी सरकार किसानों के हक में काम करने की बात कर रही है तो वही कुशीनगर के किसान कुछ अलग ही सोचते हैं। यहां के किसानों से बातचीत करने पर पता चला कि वह बीजेपी सरकार से खुश नहीं है। हालांकि कुछ लोगों ने यह भी कहा कि शायद स्थिति पहले से ठीक हो सकती है। लेकिन ज्यादातर लोगों का यही कहना था कि बीजेपी सिर्फ कागजों पर काम कर रही हैं।

एक किसान ने कहा कि बीजेपी सरकार का काम सिर्फ कागजों पर ही नजर आता है लेकिन जमीनी हकीकत कुछ और ही बताती है। बताने की कुशीनगर में गन्ने की खेती खूब की जाती है। हालांकि इस बार किसानों का कहना है कि गन्ने पड़े पड़े सूख रहे हैं। उनकी कोई सुध लेने वाला नहीं है। सरकारी आती है और जाती हैं लेकिन किसान हमेशा दुर्दशा ही झेल रहा होता है।

इस दौरान एक किसान ने कहा कि जब समाजवादी पार्टी की सरकार थी उस समय गन्ना किसान खुश था। आज किसानों के लिए स्कीम और योजनाओं की बात तो की जाती है लेकिन वह सिर्फ कागजों पर ही रहता है। दूसरी ओर किसान आज की बीजेपी सरकार से खुश नहीं है। मोदी सरकार ने जो कृषि बिल निकाला उसमें गन्ने को शामिल ही नहीं किया गया। जो पहले 1700 या 1800 में गन्ने की बिक्री होती थी वह अब मात्र 1300 में हो रही है।

न्यूज़ नशा संवाददाता गुड्डू कुमार ने जब किसानों से यह पूछा कि सरकार जो किसानों के लिए योजना लेकर आती है उससे क्या फायदा पहुंचता है तो इसके जवाब में किसान ने कहा कि 5 सितंबर को जो यंत्र सेवा योजना आई थी तो वह इस योजना का लाभ लेने के लिए गए तो वहां उन्हें यह कहकर लौटा दिया गया कि वेबसाइट काम नहीं कर रहीं हैं और जब वह दूसरे दिन गए तब तक सभी आवेदन पूरे हो चुके थे। साथ ही उन्होंने कहा था कि यह सब बिचौलियों की वजह से हुआ है। यानी दूसरे दिन भी वह उस योजना का लाभ प्राप्त नहीं कर पाए थे।

किसानों का यह भी कहना था कि वर्तमान सरकार ने गन्नों का मूल्य नहीं बढ़ाया है जबकि पिछली सरकार ने गन्नों का मूल्य बढ़ाया था। कृषि बिल के आने के बाद से तो गेहूं के दाम भी कम हो चुके हैं। इस बातचीत में किसानों का यही कहना था कि सरकारी आती है और जाती है लेकिन कोई किसानों के लिए काम नहीं करता।

 

- Advertisement -

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest article

किसान की आय बढ़ाने वाला कानून सरकार कब ला रही है : अखिलेश यादव

लखनऊ : किसान आंदोलन (Farmer Protest) के प्रति सरकार के रवैए पर तीखी प्रतिक्रिया व्‍यक्‍त करते हुए समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष और यूपी के...

चीनी वैज्ञानिकों का Corona Virus को लेकर दावा- भारत ने दुनियाभर में फैलाया वायरस

नई दिल्ली : दुनियाभर में कोरोना वायरस फैलाने वाला चीन अब भारत के सिर पर कोरोना का दोष मारन। ये बात कुछ अजीब लग...

LJP का 20वां स्थापना दिवस आज, चिराग ने पर्सनल अटैक पॉलिटिक्स के लिए नीतीश-तेजस्वी दोनों को दोषी बताया

आज एलजेपी का 20वां स्थापना दिवस है और पार्टी कोरोना से बचाव के बीच LJP स्थापना दिवस समारोह मनाएगी. पार्टी ने पहले ही यह...

U.P : केंद्रीय मंत्री साध्वी निरंजन ज्योति हुई कोरोना संक्रमित, AIIMS दिल्ली किया रेफर

कानपुर : केंद्रीय ग्रामीण विकास राज्यमंत्री और फतेहपुर की सांसद साध्वी निरंजन ज्योति कोरोना संक्रमित होने पर उन्हें बेहतर इलाज के लिए कानपुर के...

PM मोदी ज़ायडस बायोटेक पहुंचे, कोरोना ट्रायल वैक्सीन का करेंगे निरीक्षण

अहमदाबाद : एक ओर अहमदाबाद में जहां भारत बायोटेक की 'कोवैक्सीन' का परीक्षण शुरू हो गया है वहीं दूसरी ओर जायडस फार्मा की कोरोना...