गांव जहां 72 साल बाद भी नही पहुंची बिजली पर पहुंच गया बिल!

0
75
37170558 - candle light shine on incandescent bulb, no electricity makes electrical equipment useless

अगर आपसे कहा जाए कि आजादी के 72 साल बाद भी किसी गांव में बिजली नहीं है, तो इस बात से आपका हैरान होना लाजिमी है, लेकिन इससे भी ज्यादा आपको तब हैरानी होगी, जब आपको यह पता चले कि लोगों को बगैर बिजली कनेक्शन के बिल थमा दिया गया है। जी, हां कुछ ऐसा ही वाकया छत्तीसगढ़ (Chhatisgarh) के एक गांव में सामने आया है। राज्य के बलरामपुर जिले के सनावल गांव में विभाग, बिजली तो नहीं पहुंचा पाया, लेकिन गांववालों को बिजली का बिल पहुंचाकर उनके बदहाली से मजाक जरूर कर दिया।

लैंप के सहारे पढ़ाई करते हैं बच्चे

यहां के ग्रामीण लालटेन और दिया के सहारे ही जीवन यापन करने पर मजबूर हैं। यहां करीब 40 घर ऐसे है जो आज बगैर बिजली के रह रहे हैं। इसे लेकर एक ग्रामीण ने बताया कि गांव में बिजली नहीं है। लोग अंधेरे में खाना बनाते हैं, लैंप के सहारे बच्चे पढ़ाई करते हैं। लेकिन हमें बिजली का लंबा-चौड़ा बिल भेज दिया गया है। इसे लेकर नाराज लोगों ने अपनी शिकायत दर्ज कराई है।

बिजली से पहले बिजली के बिल के दर्शन

इस गांव की महिलाओं का कहना है कि उन्हें अभी तक बिजली का दर्शन नहीं हुआ है। इससे उन्हें काफी दिक्कत का सामना करना पड़ता है। उन्हें रात में लालटेन के सहारे खाना बनाना पड़ता है। इससे यह साफ हो गया है कि प्रशासन ने इसे लेकर घोर लापरवाही बरती है।

जिला कलेक्टर बोले- जांच कराएंगे

लोगों की जिंदगी अंधेरे में गुजर रही है, लेकिन प्रशासन को इसकी कोई खोजखबर नहीं है। बलरामपुर के जिला कलेक्टर, संजीव कुमार झा को तो इसके बारे में जानकारी भी नहीं थी। उनसे जब इसे लेकर सवाल किया गया तो उन्होंने कहा ‘हमें इस बारे में मीडिया से पता चला, अगर ऐसा वास्तव में है तो इसकी जांच की जरूरत है। हम इसकी जांच कराएंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here