Tuesday, November 24, 2020

कांग्रेस की लीडरशिप को जीरो बताकर संजय सिंह बन गए अमित शाह के ‘संजय’

Must read

सिवान : छठ घाट के ईटकरण में घटिया ईट के प्रयोग को लेकर ग्रामीणों ने किया हंगामा, कार्य पर लगी रोक

बड़ी खबर सिवान से आ रही है, जहां जिला पार्षद फंड से कराया जा रहा छठ घाट के ईटकरण में हो रही अनियमितता को...

बिहार: नई सरकार बनने के बाद विधानसभा का पहला सत्र आज से शुरू, 27 नवंबर तक चलेगी कार्यवाही

पटना : 17वीं बिहार विधानसभा का पहला सत्र आज से शुरू होने जा रहा है, इस सत्र के दौरान हर किसी को covid-19 के...

सांसद आजम खां के करीबी सेवानिवृत्त पुलिस क्षेत्राधिकारी आले हसन को मिली सशर्त जमानत, जाने पूरा मामला

प्रयागराज : इलाहाबाद हाईकोर्ट ने सांसद मोहम्मद आजम खां के करीबी सेवानिवृत्त पुलिस क्षेत्राधिकारी आले हसन खान की सशर्त जमानत मंजूर कर ली है।...

Drugs case : काॅमेडियन भारती सिंह और उनके पति को NCB ने लिया हिरासत में…

मुंबई : नार्कोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) ने शनिवार को कामेडियन भारती सिंह और उनके पति हर्ष लिंबाचिया से अपने दफ्तर में पूछताछ शुरू कर...

कांग्रेस में इस्तीफों का दौर अभी ख़तम नहीं हुआ हैं लेकिन इस बार जो इस्तीफा हुआ है वो संजय सिंह ने दिया है और वह कांग्रेस से काफी नाराज़ भी हैं | गांधी परिवार के करीबी डॉ. संजय सिंह ने कांग्रेस और राज्यसभा सदस्य पद दोनों से ही इस्तीफा दे दिया है | बताया जा रहा है कि अब वह बुधवार को बीजेपी में शामिल होंगे | संजय सिंह अमेठी के राज परिवार से आते हैं | इस बार के लोकसभा चुनाव में संजय सिंह सुल्तानपुर संसदीय सीट से चुनावी मैदान में उतरे थे, लेकिन अपनी जमानत नहीं बचा सके |

संजय सिंह के राज्यसभा सदस्य कार्यकाल को बचा था एक साल

डॉ. संजय सिंह असम से राज्यसभा सदस्य हैं और उनका कार्यकाल अभी एक साल का बचा हुआ था | इसके बावजूद उन्होंने राज्यसभा और कांग्रेस छोड़ने का एलान कर दिया है | हालांकि संजय सिंह ने अपने राजनीतिक पारी का आगाज कांग्रेस से शुरू किया था, लेकिन राममंदिर आंदोलन के दौरान कांग्रेस छोड़ बीजेपी में शामिल हो गए थे |

संजय सिंह ने कहा कांग्रेस नेतृत्व में जीरो हैं

संजय सिंह ने इस्तीफे के बाद कहा, ‘मैं कांग्रेस इसलिए छोड़ रहा हूं क्योंकि कांग्रेस नेतृत्व में जीरो है | मैं ‘सबका साथ सबका विकास’ के कारण मोदी का समर्थन करता हूं |’ संजय सिंह 1998 में अमेठी संसदीय सीट से कांग्रेस के कैप्टन सतीश शर्मा को हराकर सासंद चुने गए थे | इसके बाद वो अटल बिहारी वाजपेयी सरकार में केंद्रीय मंत्री भी रह चुके हैं | राहुल गांधी के कांग्रेस में एंट्री करने के बाद उन्होंने बीजेपी छोड़कर कांग्रेस में वापसी की | 2009 के लोकसभा चुनाव में संजय सिंह सुल्तापुर सीट से सांसद चुने गए थे |

संजय सिंह को असम भेजा गया था

संजय सिंह 2014 के लोकसभा चुनाव से पहले कांग्रेस से नाराज हो गए थे, जिसके बाद पार्टी ने उन्हें असम से राज्यसभा भेजा था | इसके चलते सुल्तानपुर सीट से उनकी दूसरी पत्नी अमिता सिंह चुनाव लड़ी थीं, लेकिन वो जीत नहीं सकीं | वहीँ संजय सिंह की पहली पत्नी गरिमा सिंह मौजूदा समय में अमेठी से बीजेपी की विधायक हैं |

- Advertisement -

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest article

तेजबहादुर यादव को सुप्रीम कोर्ट ने दिया बड़ा झटका, पीएम मोदी के खिलाफ लगाई थी याचिका

नई दिल्ली : सुप्रीम कोर्ट ने वाराणसी से प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का निर्वाचन रद्द करने की मांग वाली याचिका खारिज कर दी है। बीएसएफ...

Bollywood : कंगना रनौत के ऑफिस तोड़फोड़ मामले में बॉम्बे हाईकोर्ट सुनाएगा अपना फैसला इस तारीख को..

अभिनेत्री कंगना रनौत हमेशा किसी न किसी वजह से सुर्खियों में रहती हैं। पिछले दिनों कंगना रनौत और महाराष्ट्र सरकार के बीच विवाद हुआ...

अमेरिका चुनावः बाइडन को सत्ता सौंपने के लिए आख़िरकार क्यों तैयार हुए डोनाल्ड ट्रंप

आखिरकार डोनाल्ड ट्रंप अमेरिका के नव-निर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडन को सत्ता सौंपने के लिए तैयार हो गए हैं। हालांकि, ट्रंप ने अपनी लड़ाई जारी...

Breaking news : कोरोना पर PM के साथ बैठक के दौरान ममता ने GST पर कर डाले तीखे सवाल…

  कोरोना संकट पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुवाई में हुई बैठक में पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने GST बकाये का मुद्दा उठाया...

तेजस्वी और नीतीश कुमार के बीच अब हो रही भिड़ंत विधानसभा स्पीकर को लेकर , जाने कौन बनेगा स्पीकर

  बिहार विधानसभा से इस वक्त की बड़ी खबर निकल कर सामने आ रही है. महागठबंधन ने स्पीकर के लिए अपना उम्मीदवार उतारने का फैसला...