चिदम्बरम को बचाने के लिए कांग्रेस के इन बड़े नेताओं ने पहना “काला कोट”

पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदंबरम पर मुसीबतें ख़त्म होने का नाम नहीं ले रही हैं। हाई कोर्ट से अग्रिम ज़मानत की अर्ज़ी ख़ारिज होने के बाद सीबीआई और ईडी चिदंबरम को गिरफ्तार करने के लिए तैयार है। हालाँकि मंगलवार से ही चिदंबरम गायब हैं। पर चिदंबरम के सामने न होने पर उनके पार्टी के बड़े नेता उनके समर्थन में खड़े दिखे। हाई कोर्ट के फैसले के बाद से ही चिदंबरम के समर्थन में कांग्रेस नेताओ के ट्वीट की झड़ी लग गई। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता आनंद शर्मा ने मंगलवार को आरोप लगाया कि नरेंद्र मोदी सरकार विरोधी नेताओं को चुनकर निशाना बना रही है और यह उसकी पारंपरिक कार्यशैली बन चुका है।

चिदंबरम के खिलाफ लुक-आउट नोटिस पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कांग्रेस नेता संजय निरुपम ने गुस्सा ज़ाहिर किया है। वहीं कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने पी. चिदंबरम पर हुई कार्रवाई को लेकर भारतीय जनता पार्टी पर टिप्पणी की है। सुरजेवाला ने ट्वीट कर कहा है कि ‘भारत, मोदी सरकार द्वारा सबसे खराब प्रतिशोध का गवाह बन रहा है क्योंकि भाजपा एक पुलिस राज्य चला रही है। जज ने 7 महीने के लिए फैसला सुरक्षित रखा और रिटायरमेंट से 72 घंटे पहले सीबीआई / ईडी को छापे के लिए भेजा। एक सम्मानित पूर्व वित्त मंत्री इसके शिकार हैं।’ इसके साथ ही कांग्रेस नेता और पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने कहा- ‘कांग्रेस नेता पी. चिदंबरम को गिरफ़्तार करने की कल रात से जो भी कोशिश हो रही हैं, मैं उसकी निंदा करता हूं।’ उन्होंने ट्वीट में लिखा कि ‘सरकार हर काम राजनीतिक विद्वेष की भावना से क्यों कर रही है? ना एफआईआर में नाम, ना कोई प्रमाण। पर सीबीआई का ऐसा इस्तेमाल?’

प्रियंका ने भी दिया साथ

इसके बाद कांग्रेस की महासचिव और पूर्वी उत्तर प्रदेश की प्रभारी प्रियंका गांधी वाड्रा ने ट्वीट करते हुए चिदंबरम का बचाव किया है। उन्होंने इस कार्रवाई को लेकर केंद्र सरकार पर निशाना साधा है। साथ ही उन्होंने कहा है कि वो सब उनके साथ खड़े हैं। प्रियंका ने ट्वीट कर कहा, ‘बहुत ही योग्य और सम्मानित राज्यसभा सदस्य पी चिदंबरम जी ने दशकों तक वित्त मंत्री, गृह मंत्री और दूसरे पदों पर रहते हुए पूरी वफादारी से देश की सेवा की है।’ उन्होंने दावा किया, ‘वह बेहिचक सच बोलते हैं और इस सरकार की नाकामियों का खुलासा करते हैं, लेकिन सच कायरों के लिए सुविधाजनक नहीं होता इसलिए शर्मनाक तरीके से उनका पीछा किया जा रहा है।’ साथ ही प्रियंका ने कहा, ‘हम उनके साथ खड़े हैं और सच के लिए लड़ते रहेंगे, चाहे नतीजा कुछ भी हो।’ प्रियंका के इस ट्वीट का समर्थन करते हुए कांग्रेस के एक और नेता जयराम रमेश ने भी पी चिदंबरम का बचाव किया है। उन्होंने कहा है कि चिदंबरम के साथ उन्होंने 1968 से काम किया है और प्रियंका गांधी ने जो कुछ भी उनके बारे में कहा है वो बिल्कुल सही है।

हालाँकि इन सभी ट्वीट के दौरान चिदंबरम लुप्त थे। उनकी तरफ से कोई प्रतिक्रिया नहीं आई। वहीं सीबीआई और ईडी कांग्रेस के सीनियर लीडर पी चिदंबरम के पीछे लगी हैं। उनके जोर बाग के पॉश इलाके के घर में दोनों एजेंसियां दबिश दे रही हैं। गौरतलब है कि यह केस उनके खिलाफ मई 2017 से चल रहा है। 2 साल से चिदंबरम ज़मानत की अर्ज़ी देकर गिरफ़्तारी से बच रहे थे। मंगलवार को हाई कोर्ट ने उनकी अग्रिम ज़मानत की अर्ज़ी को खारिज कर दिया।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button