आज शाम 5 बजे खत्म हो जाएगी अयोध्या की सुनवाई, मध्यस्थता की संभावना खत्म

0
47

बुधवार को सुप्रीम कोर्ट में अयोध्या विवाद पर सुनवाई के 40वां और अंतिम दिन है । ऐसे में बुधवार को मामले की सुनवाई शुरू होते ही चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने बहस की डेडलाइन तय कर दी । चीफ जस्टिस गोगोई ने किसी भी प्रकार की टोका टाकी से मनाही करते हुए बहस बुधवार शाम 5 बजे तक खत्म करने का आदेश दिया ।

बुधवार को सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई शुरू होते ही सभी पक्षकारों ने अपनी ओर से लिखित बयान अदालत में पेश किए हैं। सुप्रीम कोर्ट ने इस दौरान किसी भी टोका-टाकी पर मनाही की है। चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने कहा है कि अब बहुत हुआ, शाम 5 बजे तक इस मामले में पूरी सुनवाई पूरी होगी। और यही बहस का अंत होगा। आखिरी सुनवाई के दिन हिंदू और मुस्लिम पक्षकार अपनी अंतिम दलीलें रखेंगे। हिंदू पक्ष की ओर से सभी पक्षकारों को अपनी दलील रखने के लिए 45-45 मिनट का समय दिया गया है, साथ ही मुस्लिम पक्ष की ओर से वकील राजीव धवन को एक घंटे का समय दिया जाएगा।

मध्यस्थता की गुंजाईश नहीं

गौरतलब है कि इससे पहले भी चीफ जस्टिस मामले की सुनवाई की टाइमलाइन पर सख्त रुख अपना चुके हैं और सभी पक्षों से जल्द बहस खत्म करने की अपील कर चुके हैं। इससे पहले भी जब मंगलवार को वकीलों ने अधिक समय मांगा था, तब भी उन्होंने कहा था कि अगर ऐसा ही चलता रहा तो दिवाली तक बहस जारी रहेगी। वहीँ सुनवाई से पहले सुन्नी वक्फ बोर्ड ने मामले में मध्यस्थता की किसी भी संभावना को नकारा है। मुस्लिम पक्षकार इकबाल अंसारी ने सुप्रीम कोर्ट के फैसले को मानने की बात कही। उन्होंने कहा है कि मामले में मध्यस्थता का सवाल ही नहीं उठता।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here