बीजेपी को मिला निर्दलीयों का सहारा बना सकती है सरकार

0
49

हरियाणा विधानसभा चुनावों के परिणामो के बाद राज्य में गरमा गर्मी बनी हुई है । 75 पर का लक्ष्य लेकर चली बीजेपी की गाड़ी 40 पर आकर अटक गई है । ऐसे में बीजेपी किसी भी तरीके से इस आंकड़े को 46 तक लाने की जद्दोजहद में है । काफी हद तक लक्ष्य के पास पहुंचते हुए बीजेपी ने निर्दलीयों के समर्थन से 45 सीटें अपनी तरफ कर ली हैं । अब देखने वाली बात है कि बीजेपी तय वक़्त तक 1 और विधायक को अपने पाले में ला पाती है या नही ।

बीजेपी को समर्थन देने वाले 5 विधायको में हरियाणा लोकहित पार्टी के विधायक गोपाल कांडा, रानियां से जीते निर्दलीय विधायक रणजीत सिंह चौटाला और सिरसा की बीजेपी सांसद सुनीता दुग्गल हैं । ये तीनो विधायक गुरुवार रात अचानक निजी विमान से चंडीगढ़ से दिल्ली पहुंचे । दिल्ली में इन्होंने पहले हरियाणा बीजेपी के प्रभारी और बीजेपी महासचिव अनिल जैन से मुलाकात की और फिर देर रात जेपी नड्डा से उनके घर पर मिले । तभी से तीनों के समर्थन की बातें सामने आ रही थी ।

जजपा का होगा मुख्य योगदान

बता दें कि 2019 के हरियाणा विधानसभा चुनावों में कांग्रेस ने 31 सीटों पर जीत हासिल की है । वहीं 10 सीटों पर दुष्यंत चौटाला की जननायक जनता पार्टी और 9 सीटों पर निर्दलीयों को जीत मिली है । ऐसे में अगर तय वक़्त तक बीजेपी 46 विधायक पूरे नही कर पाती है, तो ये मौका कांग्रेस को मिल सकता है । हालांकि कांग्रेस को बहुमत के लिए 15 सीटों की ज़रूरत है । ऐसे में जजपा किंगमेकर साबित हो सकती है । बीते दिन भी इसी चर्चा के तहत दुष्यंत चौटाला ने साफ कर दिया, कि वो कांग्रेस को तभी समर्थन देंगे जब मुख्यमंत्री पद उन्हें सौंपा जाए ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here