एक एयरहोस्टेस की मोहब्बत ने बंद करा दी जेट एयरवेज़! बात हैरानी की है, पर सच है!

0
170

एक शख्स जिसका नाम बिरजू सल्ला है वह इस वक्त चर्चा का विषय बना हुआ है | वह इस वजह से चर्चा में है क्योंकी इसी शख्स की बद्दुआ से जेट एयरवेज बंद हो गया है | अब आप सोच रहे होंगे कि किसी की बद्दुआ कैसे जेट एयरवेज को बंद करा सकती है… मगर ये सच है… कि जो जेट एयरवेज अप्रैल में आर्थिक तंगी के चलते बंद हो गई थी | उसे बंद कराने में बिरजू सल्ला की वो अफवाह भी शामिल है.. जो उसने 2 साल पहले जेट एयरवेज को बदनाम करने के लिए उड़ाई थी |

जिसकी वजह बिरजू सल्ला को उम्रकैद की सजा और 5 करोड़ का जुर्माना लगा है | एनआईए ने एंटी हाईजेक एक्ट 2016 के तहत ये सजा सुनाई है… ये अपने आप में पहली ऐसी किस्म की सजा है जो इसे सुनाई गई है इससे पहले ऐसी सजा किसी को नहीं सुनाई गई थी |

अब आप सोच रहे होंगे कि इस शख्स ने ऐसा क्या किया… जो जेट एयरबेज बंद हो गई… और इसे इतनी बड़ी सजा सुनाई गई ! तो बता दें कि बिरजू सल्ला मुंबई का कारोबारी है | उसने 2 साल पहले जेट एयरवेस के हाईजैक होने की अफवाह उड़ाई थी | ऐसा उसने अपनी गर्लफ्रेंड को अपने पास वापस पाने के लिए किया था | बिरजू सल्ला की गर्लफ्रैंड जेट एयरवेस की दिल्ली वाली ब्रांच में काम करती थी… बिरजू सल्ला ने उसे कई बार मुंबई बुलाने की कोशिश की मगर वो नहीं आई | जिसके बाद बिरजू सल्ला ने जेट एयरवेस को बदनाम करने का एक प्लान बनाया | बिरजू सल्ला को लगा कि हाई जैक की अफवाह से एयरवेज की बदनामी होगी तो उसकी गर्लफ्रेंड की नौकरी चली जाएगी और वो वापस उसके पास आ जाएगी |

बिरजू सल्ला ने अपने प्लान के तहत 30 अक्टूबर 2017 को मुंबई-दिल्ली बाउंड जेट एयरवेज की फ्लाइट में शौचालय के टिशू पेपर बॉक्स में अंग्रेजी और उर्दू में धमकी भरा नोट लिखकर छिपा दिया | जिसमें उसने लिखा की इस प्लेन में 12 हाईजेकर मौजूद है… नोट के अंत में अल्लाह महान है लिखा था…
जब रूटीन चेकिंग के दौरान एयरहोस्टेज शौचालय गई तो उसे ये धमकी भरा नोट मिला… जिसके बाद अहमदाबाद हवाई अड्डे पर इस विमान की आपातकालीन लैंडिंग कराई गई… अब सोच रहे होंगे कि बिरजू सल्ला पकड़ा कैसे गया… उसे किसने देखा… तो बता दे कि उस विमान में शौचालय का इस्तेमाल करने वाला बिरजू सल्ला पहला शख्स था… यहीं उसने गलती कर दी | जिस एयरहोस्टेज को धमकी भरा नोट मिला वह बिरजू सल्ला के बाद गई थी | जब चैंकिग हुई शक बिरजू सल्ला के ऊपर गया। जांच के बाद, सामने आया कि सल्ला, ने मुंबई से जेट एयरवेज की फ्लाइट 9W339 के बिजनेस क्लास में यात्रा की थी | उसने पहले अपने लैपटॉप पर धमकी पत्र के लिए मटेरियल कंपाइल किया और उर्दू में अनुवाद करने के लिए किसी सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल किया और ‘अंग्रेजी’ और ‘उर्दू’ भाषा में ‘धमकी नोट’ तैयार किया और उसने जानबूझकर इसे बिज़नेस क्लास के पास टॉयलेट के टिशू पेपर बॉक्स में रखा।

पूछताछ में बिरजू सल्ला ने अपना जुर्म कबूल कर लिया | अब दो साल के बाद एनआईए की विशेष अदालत में न्यायाधीश केएम दवे ने बिरजू सल्ला को उम्रकैद की सजा और 5 करोड़ रूपए हर्जाना भरने की सजा सुनाई है | जुर्माने की राशि प्रभावित विमान में सवार रहे चालक दल के सदस्यों और यात्रियों के बीच बांटी जाएगी | सल्ला को पायलट और को-पायलट को एक-एक लाख रुपये, प्रत्येक एयर होस्टेस को 50,000 रुपये और सभी यात्रियों को 25,000 रुपये का मुआवजा देना होगा | सल्ला ने टॉयलेट में जब नोट लगाया था, उस समय 116 यात्री, चालक दल के सात सदस्य और दो पायलट सवार थे | ऐसी सजा सुनाकर एनआईए ने एक कड़ा संदेश दिया है | इससे पहले विमान में इस तरह की अफवाह उड़ाने वाले आसानी से छूट जाते थे| मगर इस सजा के बाद ऐसी गलती कोई गलती से भी नहीं करेगा | मगर ये बात भी है कि इस शख्स को जब सजा मिली है तो जेट ऐयरवेज बंद हो चुकी है | इस घटना के बाद बिरजू सल्ला के हवाई यात्रा करने पर प्रतिबंधित कर दिया गया |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here