Thursday, January 28, 2021

अखिलेश यादव बने गंगा जमुनी तहजीब की मिसाल

Must read

जानिए बीजेपी अखिलेश को चुनौती देने के लिए क्या बना रही है रणनीति

लखनऊ, उत्तर प्रदेश में इस वक्त राजनीतिक गलियारों में काफी सरगर्मियां तेज है, सरगर्मियां तेज होने के दो कारणों की वजह दिखाई दे रही...

किसान आंदोलन के समर्थन में जयपुर में श्रमिकों की रैली

जयपुर , राजस्थान की राजधानी जयपुर में आज किसान आंदोलन के समर्थन में विभिन्न केन्द्रीय श्रम संगठनों से जुड़े मजदूरों ने रैली निकालकर प्रदर्शन...

कुंडली बॉर्डर से गिरफ्तार नकाबपोश युवक को सोनीपत पुलिस की क्लीनचिट

किसान आंदोलन के दौरान पिछले दिनों कुंडली-सिंघू बॉर्डर पर किसानों ने एक नकाबपोश व्यक्ति को पकड़कर प्रेस के सामने पेश किया था। उस पर...

प्रयागराज के संगम में संयम, श्रद्धा एवं कायाशोधन का कल्पवास

इलाहाबाद, वैश्विक महामारी कोविड़-19 के बीच माघ मेला में पौष पूर्णिमा के पावन पर्व से कल्पवासी संगम में आस्था की डुबकी के साथ ही...

 

सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव इस वक्त चित्रकूट के दौरे पर हैं और चित्रकूट में वह कामदगिरि पर्वत की परिक्रमा भी किए और कामधेनु मंदिर में पूजा अर्चना की इसके पहले अखिलेश यादव ईद के मौके पर जब लॉक डाउन का वक्त था उस वक्त मस्जिद में जाकर सभी मुस्लिम भाइयों को और प्रदेश वासियों को ईद की बधाई दी थी

अखिलेश हर उस कार्यक्रम में जाते हैं जहां पर भाईचारा और समाजवाद की बात होती है गंगा जमुनी तहजीब की बात होती है यही कारण है कि अखिलेश का रास्ता गंगा जमुनी तहजीब की ओर चल पड़ता है और यही कारण है उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव गंगा जमुनी तहजीब की मिसाल बनते हुए नजर आ रहे हैं जिस तरीके से अखिलेश कभी साधु-संतों में बैठते हैं तो कभी मुस्लिम धर्म गुरुओं में और कभी सिख समुदाय के बीच

ये भी पढ़े-सिडनी टेस्ट मैच में भारत का बेहतरीन प्रदर्शन, मैच में हुयी वापसी

आपको बता दें कि हाल ही में समाजवादी पार्टी दफ्तर के अंदर एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में एक ही मंच पर अयोध्या से आए हुए साधु संत मौजूद थे तो वही अयोध्या से आए हुए मुस्लिम समाज के धर्मगुरु भी अखिलेश के साथ मंच पर बैठे हुए थे साथ में सिख समाज के लोगों ने अखिलेश यादव को पगड़ी भी पहनाई, यह पहला ऐसा नजारा था जहां पर दो धर्मों के धर्मगुरु एक साथ मौजूद थे मगर आपको बता दें कि अखिलेश हमेशा सबको साथ लेकर चलने की बात करते हैं,

समाजवाद की बात करते हैं इसी कारण से अखिलेश के साथ जहां हिंदू समुदाय जुड़ता है तो वहीं पर मुस्लिम समुदाय भी जुड़ता है और देश में सभी समुदाय के लोगों के साथ अखिलेश की सीधी बातचीत होती है इसी कारण की वजह से अखिलेश हर समुदाय के बीच में नजर आते हैं और अखिलेश के कार्यक्रमों से भी यही पता चलता है कि ईद के मौके पर मस्जिद जाने की बात हो या दुर्गा पूजा में देवी का दर्शन करने की बात अयोध्या के साधु संतों के सम्मान की बात हो या मुस्लिम समाज के धर्मगुरु के साथ ईद मिलन हो, सिख समाज के धर्म गुरुओं की जयंती या प्रकाश पर्व हो आपको हर जगह अखिलेश नजर आ जाएंगे यही कारण है कि अखिलेश यादव गंगा जमुनी तहजीब की मिसाल बनते नजर आ रहे हैं

- Advertisement -

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest article

हिंदू युवा वाहिनी के पूर्व बड़े नेता ने किया खुलासा, कैसे योगी ने जीता था सांसद का चुनाव

हिंदू युवा वाहिनी के संस्थापक सदस्य रहे सुनील सिंह ने आज न्यूज़ नशा के स्पेशल शो "नेता जी बोलिए" पर कहा कि योगी आदित्यनाथ...

योगी के बेहद करीबी ने योगी को दे दी… गोरखपुर में दंगल की चुनौती, जानिए पूरी खबर।

  मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के बेहद करीबी रहे सुनील सिंह मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को राजनीतिक दंगल की चुनौती देती है न्यूज़ नशा के स्पेशल शो...

इस दिन होगी Kareena की डिलीवरी, दूसरे बच्चे को लेकर बेहद डरे हुए हैं सैफ

बॉलीवुड की बेबो करीना कपूर खान (kareena kapoor khan) बहुत जल्द दूसरी बार मां बनने वाली हैं। वहीं अपने चौथ बच्चे को लेकर सैफ...

Congress हुई राजस्थान उपचुनावों के लिए तैयार, CM गहलोत ने उठाया जिम्मा

राजस्थान (Rajasthan) में कांग्रेस (Congress) के लिए एक बड़ी चुनौती सामने आने वाली है। यहां राज्य की 200 सदस्यीय विधानसभा सीटों में से 3...

अनीता ने अपने पति के साथ करवाया Maternity फोटोशूट, तो लोगों ने ऐसे किया react

टीवी एक्ट्रेस अनीता हसनंदानी (Anita Hassanandani) बहुत जल्द अपने पहले बच्चे को जन्म देने वाली हैं। वहीं इन दिनों वह जमकर अपना प्रेगनेंसी पीरियड...