हरियाणा सिविल सेवा में बैठने वालों के लिए बड़ी खबर, बदल गए नियम

0
77

हरियाणा प्रदेश सरकार ने एचसीएस भर्ती परीक्षा की नए पैटर्न को बैठक में मंजूरी दे दी है। संशोधन के अनुसार, एचसीएस (कार्यकारी शाखा) और संबद्ध सेवाओं के पद पर भर्ती के लिए मुख्य लिखित परीक्षा में 4 पेपर (तीन अनिवार्य और एक वैकल्पिक) होंगे।

अब 600 अंको की होगी परीक्षा

पहले एचसीएस और संबद्ध सेवाओं की मुख्य लिखित परीक्षा में 5 पेपर शामिल थे। इनमें अंग्रेजी, हिंदी एवं सामान्य अध्ययन के लिए एक-एक पेपर और 23 वैकल्पिक विषयों की सूची में से चुने जाने वाले दो वैकल्पिक विषयों के लिए एक-एक पेपर था। अब चार पेपर की मुख्य लिखित परीक्षा होगी। ये परीक्षा कुल 600 अंकों की रहेगी। अंग्रेजी का पेपर-वन (अंग्रेजी निबंध सहित) और हिंदी का पेपर-टू (हिंदी निबंध सहित)(देवनागरी लिपि में) 100-100 अंकों का होगा, जबकि सामान्य अध्ययन के पेपर-3 और 23 वैकल्पिक विषयों की सूची से चुने जाने वाले एक विषय का पेपर-4, 200-200 अंक का तय किया गया है। परीक्षा के प्रश्न पत्र पारंपरिक (निबंध) होंगे और प्रत्येक पेपर तीन घंटे की अवधि का होगा।

नए नियमो को “हरियाणा सिविल सेवा नियम , 2019” कहा जाएगा

उम्मीदवारों के पास भाषा या साहित्य के पेपर को छोड़कर अन्य सभी प्रश्न पत्रों का उत्तर अंग्रेजी या हिंदी में देने का विकल्प होगा। हरियाणा सिविल सेवा (कार्यकारी शाखा) नियम, 2008 में संशोधन को मंजूरी देने के साथ ही नए नियम प्रभावी हो गए हैं। इन नियमों में संघ लोक सेवा आयोग के नियमों के अनुरूप अधिक समानता और एकरूपता लाई गई है। इन नियमों को हरियाणा सिविल सेवा (कार्यकारी शाखा) (द्वितीय संशोधन) नियम, 2019 कहा जाएगा। जल्दी सरकार इसकी अधिसूचना जारी कर देगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here