बागी हो सकतीं हैं मुलायम की बहू अपर्णा यादव, अखिलेश ने काट दिया है टिकट

0
150

सियासत भी गजब की चीज है | रिश्तों पर भारी पड़ जाती है… और कई बार तो परिवारों में दीवारें खींच देती है | मुलायम कुनबे में जहां अब तक ये चर्चा हो रही थी, कि अखिलेश यादव और शिवपाल यादव में सुलह हो सकती है |लेकिन अब उससे ज्यादा चर्चा मुलायम की छोटी बहु अपर्णा यादव के बागी होने की हो रही है |अखिलेश यादव ने अपर्णा यादव का टिकट काट दिया है | उनकी जगह मेजर आशीष चुतर्वेदी को मैदान में उतारा है | टिकट काटे जाने से अपर्णा यादव नाराज है | नाराजगी इसलिए की 2017 के विधानसभा चुनाव में वहीं इस सीट से चुनाव लड़ी थी | अब जब यहां उपचुनाव हो रहा है तो इस सीट पर पहला हक उनका था, ऐसा वो मानती है |

गौरतलब है कि 2017 के विधानसभा चुनाव में अपर्णा यादव को लखनऊ की कैंट विधानसभा सीट से चुनाव लड़ा | इस चुनाव में बीजेपी रीता बहुगुणा जोशी ने जीत दर्ज की थी। दूसरे नंबर पर अपर्णा यादव रही थीं। उन्हें रीता बहुगुणा जोशी के 95402 वोटों की मुकाबले 61606 वोट मिले थे।

अब अपर्णा यादव के बगावत के सुर दिखाई दे रहे हैं !

जानकारों की माने तो अपर्णा ने तो चुनाव लड़ने की तैयारी तक कर ली थी | मगर पार्टी ने टिकट नहीं दिया और अब अपर्णा यादव के बगावत के सुर दिखाई दे रहे हैं | चर्चा है कि अपर्णा यादव को बीजेपी टिकट दे सकती है | इसमें बीजेपी का अपना फायदा है | इससे मुलायम परिवार में सेंध लगेगी | वैसे इस चर्चा को इसलिए भी हवा मिल रही है, क्योंकि कई मौकों पर अपर्णा यादव ने पीएम नरेंद्र मोदी की खुलकर तारीफ की है | जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 को हटाने के फैसले का जहां अखिलेश यादव ने जमकर विरोध किया वहीं पार्टी लाइन से अलग जाकर अपर्णा यादव ने बीजेपी के फैसले का स्वागत किया था |

इतना ही नहीं… अपर्णा यादव कई बार यूपी के सीएम योगी आदित्यानाथ की भी तारीफ कर चुकी है | याद होगा योगी की गोशाला में कैसे अपर्णा अपने पति के साथ पहुंची थी | दरअसल अपर्णा भले ही समाजवादी पार्टी के टिकट से चुनाव लड़ी मगर हमेशा से बीजेपी को लेकर एक साफ्ट कॉर्नर दिखाती रही |

यही बातें अपर्णा के अब बागी होने पर मुहर लगा रही है | उधर बीजेपी भी अपर्णा पर नजर बनाए हुए बीजेपी ने अभी तक लखनऊ कैंट से अपना कोई उम्मीदवार नहीं उतारा है | जबकि कांग्रेस,सपा और बीएसपी सभी ने अपना उम्मीदवार उतार दिया है |

अपर्णा लखनऊ कैंट में काफी समय से सक्रिय हैं

बताया जा रहा है कि अपर्णा लखनऊ कैंट में काफी समय से सक्रिय हैं और वह चुनाव लड़ने की तैयारी में हैं। क्योंकि सपा से उनका टिकट कट चुका है और शिवपाल यादव की पार्टी उपचुनाव से बाहर है, ऐसे में यह देखना दिलचस्प होगा कि क्या वो बीजेपी के टिकट पर चुनाव लड़ेंगी |

धर्मेंद्र यादव को टिकट दिया जा सकता है तो अपर्णा यादव को क्यूं नहीं ?

उधर खबर है कि सपा धर्मेंद्र यादव को रामपुर से प्रत्याशी बना सकती है | रामपुर विधानसभा सीट पर उपचुनाव में सपा जीतने के लिए यह दांव खेलने की रणनीति बना रही है | यह सीट आजम खां के सांसद बनने के बाद खाली हुई थी | परिवार के सदस्य होने के साथ ही धर्मेंद्र यादव की संगठन में भी मजबूत पकड़ है। वह बदायूं से सांसद भी रहे हैं। हालांकि इस बार वह लोकसभा चुनाव हार गए थे | मगर सवाल यही है कि जब धर्मेंद्र यादव को टिकट दिया जा सकता है तो अपर्णा यादव को क्यूं नहीं दिया |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here