Wednesday, January 20, 2021

जाने कौन थे अहमद पटेल, जिसके जाने से कांग्रेस हुई दुखी 

Must read

सैनी ने गणतंत्र दिवस समारोह की तैयारियों की आज समीक्षा, प्रोटोकॉल का किया जाएगा पालन

जालंधर, पंजाब में जालंधर के पुलिस उपायुक्त (मुख्यालय) अरुण सैनी और अतिरिक्त उपायुक्त (जी) जसबीर सिंह ने 26 जनवरी को होने वाले गणतंत्र दिवस...

आज उत्तर प्रदेश में 31,700 लोगों को लगेगी कोरोना वैक्सीन

उत्तर प्रदेश के लखनऊ में कोरोना टीकाकरण अभियान की शुरूआत लखनऊ में केजीएमयू, लोहिया, पीजीआई, लोकबंधु, बलरामपुर और अवंतीबाई अस्पताल के साथ ही एरा,...

ओटीटी पर धमाल मचाएगी, शाहिद की “जर्सी “

मुंबई, बॉलीवुड के चॉकलेटी हीरो शाहिद कपूर की फिल्म जर्सी दीवाली के अवसर पर रिलीज होगी। शाहिद कपूर अपनी आने वाली फिल्म जर्सी में क्रिकेटर...

corona vaccine पर फिर बोले अखिलेश, कहा – वैज्ञानिकों पर पूरा भरोसा लेकिन भाजपा पर नहीं

corona vaccine, लखनऊ : समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा है कि थाली-ताली वाली अवैज्ञानिक सोच की भाजपा सरकार पर कोई...

नई दिल्ली: कांग्रेस के चाणक्य कहे जाने वाले अहमद पटेल (Ahmed Patel) का आज सुबह निधन हो गया है। पिछले एक महीने से वो अस्पताल में भर्ती थे। उन्हें कोरोना का संक्रमण हुआ था और बाद में उनके शरीर के कई अंगों ने काम करना बंद कर दिया था। अहमद पटेल गांधी परिवार (Gandhi Family) के अलावा कांग्रेस पार्टी के सबसे खास सदस्य भी थे और वे पिछले 19 सालों से कांग्रेस पार्टी को अपनी चतुराई से संभाले हुए थे ।

 

आपको बता दे की अहमद कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के सलाहकार थे वो देश की सबसे पुरानी पार्टी की मुखिया को सलहा देते थे। केवल एक अहमद पटेल ही थे, जिनकी वजह से सोनिया भारतीय राजनीति में स्थापित हो पाईं, अपने प्रधानमंत्री पति राजीव गांधी की हत्या के बाद इतनी बड़ी पार्टी को संभाल पाना और अन्य पार्टी के नेताओं से रिश्ते बिगड़ने के बावजूद भी बनी रहीं। आज भी कांग्रेस राहुल गांधी या दूसरे किसी नेता से ज्यादा सोनिया गांधी पर निर्भर है। सोनिया के इस सफर के पीछे अहमद पटेल का काफी बड़ा हाथ था।

 

गुजरात के भरूच जिले के अंकलेश्वर में पैदा हुए अहमद पटेल तीन बार लोकसभा सांसद और चार बार राज्यसभा सांसद रह चुके थे। पटेल ने अपना पहला चुनाव 1977 में भरूच से लड़ा था, जिसमें वो जीते भी थे । 1980 में उन्होंने फिर यहीं से चुनाव लड़ा और दुबारा जीते भी थे । वही 1993 से अहमद राज्यसभा सांसद रहे और 2001 से अहमद पटेल सोनिया गांधी के राजनीतिक सलाहकार भी बन गए थे।

- Advertisement -

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest article

पड़ोसी देश भूटान को भेजा गयी कोरोना वैक्सीन की पहली खेप

भूटान पहला ऐसा देश बन गया है, जिसे भारत की तरफ से गिफ्ट के तौर पर कोरोना वैक्सीन की पहली खेप मिलेगी। इसी तरह भूटान...

कोरोना को भारत में अच्छी खबर, सक्रिय मामले घटकर दो लाख से नीचे

नई दिल्ली, देश में कोरोना संक्रमण की लगातार धीमी पड़ती रफ्तार के साथ सक्रिय मामले घटकर दो लाख से नीचे आ गये हैं वहीं...

शिवराज ने प्रकाश पर्व पर गुरु गोविंद सिंह का स्मरण करते हुआ किया नमन

भोपाल,  मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सिखों के दसवें गुरु गोविंद सिंह के प्रकाश पर्व पर उनका स्मरण करते हुए उन्हें नमन...

अरुणाचल प्रदेश के पूर्व राज्यपाल माता प्रसाद का निधन

जौनपुर , अरुणाचल प्रदेश के पूर्व राज्यपाल एवं उत्तर प्रदेश के पूर्व राजस्व मंत्री माता प्रसाद का मंगलवार देर रात लखनऊ स्थित संजय गांधी...

आखिर अब तक कहां थे जैक मा, दो महीने बाद आये दुनिया के सामने

पिछले दो महीने से लापता चीन के सबसे अमीर कारोबारियों में शुमार अलीबाबा ग्रुप के मालिक जैक मा दुनिया के सामने आ गए हैं। अलीबाबा...