Sunday, January 17, 2021

फिर से हाई अलर्ट पर उत्तराखंड , भारी बारिश अस्तव्यस्त कर सकती है जीवन

Must read

इस तरह आउट होने का मलाल नहींः रोहित शर्मा

ब्रिस्बेन, भारत के स्टार सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा एक बार फिर अच्छी शुरुआत को बड़ी पारी में तबदील करने में नाकाम रहे लेकिन उन्होंने...

CDO ने जर्ज़र पड़े सरकारी भवनों के बारे में दिए ये निर्देश, कोताही बरती तो…

  सहारनपुर: उत्तर प्रदेश में सहारनपुर के मुख्य विकास अधिकारी (cdo) प्रणय सिंह ने कहा है कि अधिकारी अपने अधीनस्थ शासकीय भवनों का स्थलीय निरीक्षण...

दो व्यापारियों के खिलाफ कॉपीराइट एक्ट के तहत मामला दर्ज,जानें क्या है मामला

इंदौर,  मध्यप्रदेश के इंदौर शहर की सेंट्रल कोतवाली पुलिस ने नकली उत्पाद बेचने के आरोप में दो इलेक्ट्रॉनिक्स समान विक्रेताओं के खिलाफ काॅपीराइट एक्ट...

बिडेन का अर्थव्यवस्था के लिए 19 खरब डॉलर के राहत पैकेज का प्रस्ताव

वाशिंगटन,  अमेरिका के मनोनीत राष्ट्रपति जो बिडेन ने गुरुवार को कोरोना वायरस महामारी से बुरी तरह प्रभावित अमेरिकी अर्थव्यवस्था को मजबूत बनाने में मदद...

उत्तराखंड में मानसून के चलते बाढ़ और लगातार बारिश परेशानी का कारण बनती जा रही है। थोड़े दिनों की राहत के बाद एक बार फिर प्रदेश में भारी बारिश की संभावना जताई जा रही है। मौसम विभाग द्वारा शनिवार को प्रदेश के 4 जिलों में भारी बारिश की आशंका के चलते ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया।

मौसम विभाग के निदेशक बिक्रम सिंह ने कहा कि उत्तराखंड की राजधानी देहरादून(Dehradun) और सीमांत जिले पिथौरागढ़ में भारी से बहुत भारी बारिश होने की संभावना है, जिसके तहत सभी संबंधित विभागों और अधिकारियों को सतर्क रहने के लिए कहा गया है। इसके साथ ही गढ़वाल(Garhwal) मंडल में आने वाले जिले जिनमें पौड़ी गढ़वाल, चमोली(Chamoli), हरिद्वार(Haridwar) और कुमाऊं मंडल में आने वाले जिले बागेश्वर(Bageshwar), अल्मोड़ा(Almoda), नैनीताल(Nainital) और उधम सिंह नगर के लिए भारी बारिश की चेतावनी जारी की गई है। उन्होंने बताया कि तेज बारिश के दौरान किसी भी तरह की आवाजाही करना, नदी नालों के करीब जाना किसी भी हाल में सुरक्षित नहीं है। इसका असर धीरे-धीरे तमाम जिलों में नज़र आने लगा है। शनिवार को जहां नैनीताल जिले में बारिश शुरू हुई, तो वहीं देहरादून में भी बादलों की तेज गर्जन के बाद बारिश हुई। कुछ ऐसा ही हाल उधम सिंह नगर(Udham Singh Nagar) जिले का भी है। वहीँ बद्रीनाथ(Badrinath) मार्ग पर भूस्खलन की वजह से काफी दिक्कत हो रही है। लोगों की पैदल आवाजाही भी रोक दी गई है।

ऐसे में हर बार की तरह इस बार भी मौसम विभाग का अलर्ट सही साबित होता दिखाई दे रहा है। गौरतलब है कि इन चारों जिलों में येलो अलर्ट को ऑरेंज अलर्ट में बदल दिया गया है। बता दें कि उत्तराखंड में अब तक हुई बारिश की वजह से 65 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। 100 से ज़्यादा लोग जहाँ घायल हुए तो वहीं कई लोग लापता भी हुए हैं।

- Advertisement -

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest article

राहुल गांधी ने विदेश मंत्री S Jaishankar से पूछा चीन की क्या है रणनीति

देश में शनिवार को विदेश मामलों को लेकर संसदीय कंसलटेटिव कमिटी की एक अहम बैठक हुई जिसमें कांग्रेस नेता राहुल गाँधी समेत विभिन्न पार्टियों...

देश में पहले दिन 1.91 लाख लोगों को लगी कोरोना वैक्सीन, जानें कैसी रही शुरूआत

अभियान की शुरुआत के साथ लाखों जिंदगियां और रोजगार लीलने वाली इस महामारी के खात्मे की उम्मीद जगी है। भारत ने कोविशील्ड और कोवैक्सीन टीके...

जानिए Joe Biden शपथ के बाद 10 दिनों में क्या-2 करेंगे काम

वाशिंगटन : अमेरिका के निर्वाचित राष्ट्रपति जो बिडेन के शपथ समारोह के बाद पहले दस दिनों में कोरोना वायरस संकट, आर्थिक चुनौतियों, नस्लीय भेदभाव...

Britain के कार्नवाल में होगा G-7 सम्मेलन, जलवायु परिवर्तन होगा विशेष मुद्दा

लंदन : ब्रिटेन के कॉर्नवॉल में 11 से 13 जून तक चलने वाले जी 7 शिखर सम्मेलन में विश्व के सात प्रमुख देशों के...

लखनऊ में विभूतिखंड गैंगवार के मददगार के ऊपर 25-25 हजार का ईनाम घोषित

लखनऊ के विभूतिखंड में अजीत सिंह की हत्या में शामिल शूटरों की मदद करने के आरोपी आजमगढ़ के अंकुर व बंधन पर पुलिस ने...