Sunday, November 29, 2020

अब बुलेट वालों पर 40 हज़ार के चालान से होश फाख्ता

Must read

यहां जानिए आखिर क्या है लव जिहाद ?

लव जिहाद का मुद्दा अक्सर ही चर्चा में बना रहता है क्योंकि यह किसी राज्य, क्षेत्र या देश का मामला नहीं है बल्कि यह...

जाने कौन थे अहमद पटेल, जिसके जाने से कांग्रेस हुई दुखी 

नई दिल्ली: कांग्रेस के चाणक्य कहे जाने वाले अहमद पटेल (Ahmed Patel) का आज सुबह निधन हो गया है। पिछले एक महीने से वो...

U.P : केंद्रीय मंत्री साध्वी निरंजन ज्योति हुई कोरोना संक्रमित, AIIMS दिल्ली किया रेफर

कानपुर : केंद्रीय ग्रामीण विकास राज्यमंत्री और फतेहपुर की सांसद साध्वी निरंजन ज्योति कोरोना संक्रमित होने पर उन्हें बेहतर इलाज के लिए कानपुर के...

लखनऊ के सांसद, देश के रक्षा मंत्री का लखनऊ दौरा आज

देश के रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह आज अपने संसदीय क्षेत्र लखनऊ के दौरे पर आ रहे हैं, मिली सूचना के मुताबिक राजनाथ सिंह शाम...

1 सितम्बर से लागू हुए नए मोटर व्हीकल कानून(Motor Vehicle Act) ने सभी की जेबें ढीली करनी शुरू कर दी हैं। ऐसे में कई ऐसे मामले सामने आ रहे हैं जो सुनने में बड़े दिलचस्प लगते हैं। इन्ही कुछ दिलचस्प मामलो में से एक कुछ दिनों पहले आया था जिसमे 15 हज़ार की स्कूटी चालक को 23 हज़ार का चालान भरना पड़ा था। इसके बाद अब एक मामले में दो बुलेट(Bullet) मोटरबाइक चालकों पर लगा 40 हज़ार का चालान चर्चा में हैं।

फरीदाबाद(Faridabad) में चेकिंग के दौरान पुलिस ने बुलेट मोटरबाइक पर पटाखे बजाते जा रहे दो युवकों को रोका और सभी कागज मांगे। जब कागज(Documents) चेक किए गए तो पता चला कि ना तो उन युवकों के पास हेलमेट था और ना ही किसी भी तरह का कोई ड्राइविंग कागज। कागज़ों की कमी और हेलमेट न होने की वजह से उन दोनों युवकों पर ट्रैफिक पुलिस(Traffic Police) ने 40 और 41 हज़ार रूपये का चालान(Challan) बनाया। हालांकि बाद में एक युवक बाइक के बाकी कागज़ दिखा, 21 हज़ार का चालान भर अपनी बाइक लेकर चला गया। लेकिन दूसरा व्यक्ति अभी तक सदमे में है जिसकी बाइक को पुलिस ने इंपाउंड कर लिया है। इससे पहले गुरुग्राम(Gurugram) में दिनेश मादन का 23 हज़ार का चालान काटा गया था। उनका कहना था कि 15 हज़ार की स्कूटी पर 23 हज़ार का चालान कैसे लगाया जा सकता है। उन्होंने चालान भरने से मना कर दिया था जिसके बाद पुलिस ने उनकी स्कूटी जब्त कर ली थी।

गौरतलब है कि देशभर में रोज़ाना ऐसे कई मामले सामने आ रहे हैं। फरीदाबाद मामले में बुलेट सवार दोनों युवको ने पुलिस को देखकर भागने की कोशिश की थी, जिसके बाद पुलिस ने उन्हें रोका और चेकिंग की। चेकिंग के दौरान कागज न दिखने पर पुलिस ने उनपर तमाम धाराओं के तहत उनका चालान कर दिया। बता दें कि ये नया मोटर व्हीकल कानून बंगाल और राजस्थान को छोड़ कर ये कानून पूरे देश में लागू हो चुका है।

- Advertisement -

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest article

राज्यसभा उपचुनाव : सुशील मोदी 2 दिसंबर को करेंगे नामांकन, RJD के उम्मीदवार पर सस्पेंस

बिहार की एक राज्यसभा सीट के लिए हो रहे उपचुनाव में मतदान होगा या नहीं इस पर से सस्पेंस खत्म नहीं हो रहा है।...

CM नीतीश पर अमर्यादित टिप्पणी से नाराज JDU कार्यकर्ताओं ने तेजस्वी का पूतला फूंका

मुज़फ़्फ़रपुर ; विधानसभा में  नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव द्वारा मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के ऊपर अभद्र टिप्पणी करने को लेकर पूरे बिहार में जगह जगह...

मुज़फ़्फ़रपुर में हाईवे पर लूटपाट करने वाले गिरोह का पर्दाफाश, 5 किलो गांजा और हथियार के साथ 5 अपराधी गिरफ्तार

  मुज़फ़्फ़रपुर : जिले के गायघाट पुलिस ने हाइवे लूटपाट गिरोह के पांच सदस्यों को हथियार व लूट के समान के साथ पकड़ा और इस...

उत्तराखंड : मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र ने किया सूर्याधार जलाशय का लोकार्पण

देहरादून : मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने रविवार को स्वर्गीय गजेन्द्र दत्त नैथानी जलाशय सूर्याधार का लोकार्पण किया। इस झील के निर्माण पर 50.25...

Uttarakhand: 389 नए संक्रमित संक्रमित मिले, आठ की मौत, मरीजों की संख्या 74 हजार पार

देहरादून : उत्तराखंड में पिछले 24 घंटे के दौरान 389 नए मामलों की कोरोना जांच रिपोर्ट पॉजिटिव प्राप्त हुई और 278 मरीज स्वस्थ होने...