Friday, May 14, 2021

कोरोना कर्फ्यू का उल्लंघन करने दूल्हा दुल्हन और बारातियों पर जुर्माना

Must read

आज़म खां की पत्नि ने दिया बड़ा बयान

रामपुर...... शहर विधायक एवम् आज़म खां की पत्नि डॉ तज़ीन फातिमा ने ईद के मौक़े पर कहा कि त्योहार ख़ुशी के लिए मनाये जाते...

पूर्व केन्द्रीय मंत्री राज्यवर्धन राठौड़ ने लगाये गहलोत सरकार पर गंभीर आरोप, जाने क्या

जयपुर. पूर्व केन्द्रीय मंत्री एवं जयपुर ग्रामीण सांसद कर्नल राज्यवर्धन सिंह राठौड़ (Rajyavardhan Rathore) ने अशोक गहलोत सरकार (Gehlot government) पर गंभीर आरोप लगाये हैं....

दिल्ली, कोलकाता में पेट्रोल 92 रुपये के पार

नयी दिल्ली देश के चार बड़े महानगरों में पेट्रोल की कीमत में आज 25 पैसे और डीजल में 27 पैसे प्रति लीटर तक की...

योगी सरकार का बड़ा ऐलान, कोरोना से निधन के बाद कब्रिस्तान में होगा नि:शुल्क अंतिम संस्कार

लखनऊ. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) कोरोना वायरस संक्रमण (Corona Infection) से निपटने के लिए हर संभव मदद कर रहे...

बड़वानी, मध्यप्रदेश के बड़वानी जिले में कोरोना कर्फ्यू की शर्तों का उल्लंघन करने पर तीन दूल्हा-दुल्हन और बारातियों पर जुर्माने लगाए गये हैं।

बड़वानी के एसडीएम घनश्याम धनगर ने आज बताया कि गुरूवार की रात बड़वानी से शादी कर इंदौर लौट रहे दूल्हे और बारातियों की संख्या की अनुमति से अधिक बारातियों को लाने पर 10,000 रूपये का जुर्माना वसूला गया है।

इसी तरह राजपुर के अनुविभागीय अधिकारी राजस्व वीएस चौहान ने आज बताया कि कल अंजड़ में तय सीमा से अधिक बारातियों को लाने पर 15 सौ रुपए की चालानी कार्रवाई की गई है।
उन्होंने बताया कि गुरूवार को भी एक दूल्हा और दुल्हन पर कार में अनुमति से ज्यादा सवारी बैठाए जाने के मामले में 1,000 रूपये की राशि वसूली गई थी।

जिले में कोरोना कर्फ्यू का उल्लंघन करने अब तक 22,630 लोगों पर चालानी कार्रवाई करते हुए 23 लाख 73 हजार 895 की राशि वसूली गई है। वहीं 13 लोगों पर धारा 188 कार्रवाई, 76 दुकानों को सील करने और 658 लोगों को खुली जेल में भेजने की कार्रवाई हुई है।

बड़वानी जिले में पिछले 24 घंटे में 190 और खरगोन जिले में 279 लोग संक्रमित पाये गये हैं।
खरगोन जिले के कोरोना प्रभारी मंत्री हरदीप सिंह डंग ने जिले के विभिन्न कोविड केयर सेंटरों का भ्रमण कर स्थिति का जायजा लिया और आवश्यक निर्देश दिए।

खरगोन जिला कलेक्टर अनुग्रह पी ने कल जिला अस्पताल के औचक निरीक्षण किया, जिसमें पाया गया है कि ऐसे मरीज जिनका सेचुरेशन लेवल 95 से 97 है, उन्हें ऑक्सीजन मास्क लगाया गया है। उन्होंने पाया कि बेहतर स्थिति के बाद भी वह कोविड-19 सेंटर नहीं जाना चाहते।

- Advertisement -

More articles

Latest article

आज़म खां की पत्नि ने दिया बड़ा बयान

रामपुर...... शहर विधायक एवम् आज़म खां की पत्नि डॉ तज़ीन फातिमा ने ईद के मौक़े पर कहा कि त्योहार ख़ुशी के लिए मनाये जाते...

बच्चों में कोविड-19 – क्या होते हैं लक्षण, क्या किया जाए

नई दिल्ली. एक तरफ जहां वयस्क और बुजुर्गों में कोविड-19 वैक्सीन (Covid-19 Vaccine) के लिए होड़ मची हुई है, वहीं फिलहाल एक वर्ग ऐसा भी...

तमिलनाडु और असम में नए मंत्रियों पर कितने हैं आपराधिक केस और कितनी है संपत्ति उनकी, जानें

असम में हुए ताजा चुनावों में 7 फीसद मंत्रियों ने अपने ऊपर आपराधिक मामले घोषित किए हैं। वहीं 14 मंत्रियों की औसतन संपत्ति 4.78...

असम के नगांव में आकाशीय बिजली गिरने से 18 हाथियों की मौत

गुवाहाटी. असम (Assam) के नगांव जिले (Nagaon) में जंगल में आकाशीय बिजली गिरने से 18 हाथियों (Elephants) की मौत हो गई. वन विभाग के एक...

जब असम पहुंचे बंगाल के गवर्नर धनखड़ तो पैरों में गिर पड़ी महिलाएं, जानें वजह

गुवाहाटी-पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने रणपगली में कैंप का दौरा किया और लोगों से मुलाकात की। चुनाव के बाद पश्चिम बंगाल में...